top menutop menutop menu

कुलवंत सिंह के नाम पर होगा आर्मी ऑफिसर्स इंस्‍टीट्यूट, इंडोर गेम के साथ-सा‍थ होंगी ये सुविधाएं Meerut News

मेरठ, [अमित तिवारी]। मेरठ। छावनी में माल रोड स्थित कुलवंत सिंह स्टेडियम में बनाए जा रहे आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट का नाम जनरल कुलवंत सिंह के नाम पर ही रखा जाएगा। सेना मुख्यालय की ओर से इसी महीने इस पर मुहर लगा दी गई है। इसका नाम ‘जनरल कुलवंत सिंह आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट’ रखे जाने संबंधित आदेश भी छावनी को मिल चुके हैं। छावनी में तैनात सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के लिए इसमें तमाम इंडोर खेलों व कांफ्रेंस की सुविधाएं होंगी। लंबे समय से छावनी में चल रही आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट की मांग जल्द ही पूरी होने जा रही है।

डेढ़ साल में निर्माण होगा पूरा

करीब चार करोड़ रुपये की लागत से बन रहे इस आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट का निर्माण बेहद तेजी से पूर्ण होने जा रहा है। सेना के जीपी-वन की ओर से इसका निर्माण कार्य जुलाई 2018 में में शुरू किया गया था। उसी समय करीब डेढ़ साल का लक्ष्य रखा गया था। इंस्टीट्यूट के भवन का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। अब बाहरी साज-सज्जा चल रही है। इसके बाद भवन के बाहरी हिस्सों को सुसज्जित करने का काम होगा। इंस्टीट्यूट दिसंबर के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। जनवरी में सेना के किसी कार्यक्रम के दौरान इसका शुभारंभ किया जा सकता है।

जनरल कुलवंत सिंह को समर्पित

कुलवंत सिंह स्टेडियम का शिलान्यास अप्रैल 1957 में लेफ्टिनेंट जनरल संत सिंह ने किया था। डोगरा रेजिमेंट की रियूनियन के दौरान ही उन्होंने जनरल कुलवंत सिंह के नाम की पट्टिका के साथ स्टेडियम का शुभारंभ किया था। तब से इस स्टेडियम में छावनी स्थित सैन्य यूनिटों के खेल कार्यक्रमों के साथ ही आम लोगों के लिए अपनी सेना को जानो कार्यक्रम आयोजित होते रहे हैं। आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट के लिए जगह चिन्हित होने के बाद नवंबर 2017 में यहां इंस्टीट्यूट बनाए जाने का बोर्ड लगा दिया गया था। इंस्टीट्यूट का नाम भी जनरल कुलवंत सिंह के नाम पर ही रखे जाने को लेकर सब-एरिया की ओर से अनुमति मांगी गई थी जिसे अब मंजूरी मिली। इंस्टीट्यूट का भवन आगे और पीछे से एक जैसा ही दिखाई देगा।

बन रहा है स्पोर्ट्स कांप्लेक्स भी

आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट के पास की सेना के लिए ‘स्पोर्ट्स एंड आउटडोर ट्रेनिंग फेसिलिटी’ तैयार की जा रही है। इसमें इंडोर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स और ट्रेनिंग की सुविधाओं को बनाया जा रहा है। यह प्रोजेक्ट सेना की जीपी-टू कर रही है। करीब चार करोड़ 39 लाख के इस प्रोजेक्ट की शुरुआत अक्टूबर 2014 को हुई जिसे जनवरी 2016 तक ही पूरा किया जाना था। बजट को लेकर प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य कई बार रुका जो अब पूरा होने के करीब है। इंडोर स्टेडियम का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। अब स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के बाहर का निर्माण बाकी रह गया है। इसे भी आर्मी ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट के साथ ही पूरा करने की कोशिश की जा रही है।

यह होंगी सुविधाएं

स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में बन रहे इंडोर स्पोर्ट्स स्टेडियम में बास्केटबाल कोर्ट, जिम हाल, बैडमिंटन कोर्ट, इंस्ट्रक्टर रूम, ऑफिसर्स रूम व पैंट्री सुविधाएं होंगी। इसके बाहर सैनिकों की ट्रेनिंग के लिए एक बॉक्सिंग रिंग और लॉन टेनिस कोर्ट बनाया गया है जहां जवान अभ्यास करते भी हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.