मेरठ में यातायात व्यवस्था सुधारने की कवायद, जानें-क्‍या प्‍लान तैयार किया है विभागों ने

मेरठ जल्‍द ही जाम से मुक्‍त होता नजर आएगा। शहर में बेतरतीब खड़ी बसों के सुव्यवस्थित खड़े करने के लिए 25 स्थानों पर माडर्न व स्मार्ट बस सेंटर बनाए जाएंगे। 15 स्थानों की सूची मेरठ सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड ने एमडीए को उपलब्ध करा दी है।

Prem Dutt BhattSun, 25 Jul 2021 07:00 AM (IST)
मेरठ शहर में आइटीएमएस प्रोजेक्ट के साथ कई और योजनाएं भी लेंगी मूर्त रूप।

मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए इंटी ग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस ) स्थापित होगा ही। साथ में कई और योजनाएं भी मूर्त रूप लेंगी। जिससे न केवल यातायात व्यवस्था सुधरेगी बल्कि सुलभ भी होगी। नगर निगम, एमडीए, पुलिस और यातायात विभाग मिलकर इन योजनाओं को मूर्त रूप देंगे। इसका खाका तैयार हो चुका है।

सेफ सिटी स्‍कीम के तहत काम

बेतरतीब खड़ी बसों के सुव्यवस्थित खड़े करने के लिए शहर में 25 स्थानों पर माडर्न व स्मार्ट बस सेंटर बनाए जाएंगे। इनमें से 15 स्थानों की सूची मेरठ सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड ने एमडीए को उपलब्ध करा दी है। अवस्थापना विकास निधि समिति की स्वीकृति के बाद कार्य शुरू होगा। 25 सीसीटीवी कैमरे, दो स्थानों पर ड्रोन कैमरे, स्पीड रडार, रेक्ट्रोरिफलेक्टिव दिशा सूचक बोर्ड लगाए जाएंगे। यह काम सेफ सिटी स्कीम के तहत होगा। नगर निगम मल्टी लेवल पार्किंग बनाएगा। करीब 48 करोड़ का प्रस्ताव तैयार हो चुका है। टाउनहाल परिसर में मल्टीलेवल पार्किंग के लिए जगह का चयन हो गया है। जबकि करीब 38 करोड़ से शहर के नौ चौराहों पर इंटी ग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस ) स्थापित करने के लिए नगर निगम ने कंपनी का चयन कर लिया है। सड़कों से अतिक्रमण हटाया जाएगा। इसका सर्वे भी हो चुका है।

सात स्थानों पर वेंडिंग जोन

सुगम यातायात में बाधक ठेले व खोमचों वालों को वेंडिंग जोन में बसाया जाएगा। सात स्थानों पर वेंडिंग जोन का काम लगभग पूरा हो चुका है। इसमें सूरजकुंड पार्क के पास, तेजगढ़ी चौराहे से लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज तक, मेडिकल कालेज से रोटरी क्लब तक, नंगलाताशी में सरधना रोड पर नाले की साइड पटरी पर, पल्लवपुरम फेस दो में एनएच 58 में उदय सिंह रोड तक, रूड़की रोड पर पीएसी नाला पुल चौक से ट्रांसफर तक और पल्लवपुरम फेस एक से एनएच 58 से पाश्र्वनाथ मंदिर तक वेंडिंग जोन तय किया गया है। करीब 500 स्ट्रीट वेंडर्स को इनमें बसाए जाने की योजना है।

बागपत रोड को रेलवे स्टेशन रोड से जोडऩे का है प्रस्ताव

मास्टर प्लान के अनुसार बागपत रोड को रेलवे स्टेशन रोड से जोडऩे का प्रस्ताव है। इसके लिए 12 मीटर चौड़ाई में सड़क निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध कराने जाने के लिए जिलाधिकारी ने रक्षा मंत्रालय नई दिल्ली से अनुरोध किया है। चूंकि मिलिट्री बिल्‍डिंग लाइन से जैन नगर की ओर की यह भूमि रक्षा विभाग के स्वामित्व की है। अनुमति मिलने पर यह काम शुरू होगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.