Republic Day 2021: एडीजी राजीव सभरवाल को सिल्वर, तो अंजू गुप्ता को स्वर्ण पदक, ये अफसर भी होंगे सम्‍मानित

मेरठ के एडीजी समेत कई अफसरों को राष्‍ट्रपति का पदक पुरुस्‍कार मिलेगा।

यूपी में पुलिस सेवा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अफसरों को डीजीपी का मेडल देकर गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। जोन के एडीजी राजीव सभरवाल को सिल्वर जबकि पीटीएस में तैनात एडीजी अंजू गुप्ता को स्वर्ण पदक मिला है। आइजी प्रवीण कुमार को प्लेटिनम कोमनेडशेन डिस्क से नवाजा जाएगा।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 12:49 AM (IST) Author: Himanshu Dwivedi

मेरठ, जेएनएन। यूपी में पुलिस सेवा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अफसरों को डीजीपी का मेडल देकर गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। सभी पुलिस अफसरों का पदक के लिए चयन कर लिया गया है। मेरठ जनपद में तैनात कई अफसरों को प्लेटिनम, गोल्ड और सिल्वर पदक मिला है। जोन के एडीजी राजीव सभरवाल को सिल्वर, जबकि पीटीएस में तैनात एडीजी अंजू गुप्ता को स्वर्ण पदक मिला है। आइजी प्रवीण कुमार को प्लेटिनम कोमनेडशेन डिस्क से नवाजा जाएगा। इसके अलावा एएसपी राम सुरेश यादव को स्वर्ण और सीओ एसटीएफ ब्रिजेश सिंह को पुलिस वीरता पदक का सम्मान मिला।

एडीजी को रजत, आइजी को प्लेटिनम

मेरठ जोन के एडीजी राजीव सभरवाल को अच्छे कार्य के लिए सिल्वर पदक का सम्मान मिला है। राजीव सभरवाल के मेरठ जोन में आने के बाद अपराध का ग्राफ काफी कम हुआ है। कोरोना काल में भी पुलिस का रवैया काफी अच्छा रहा है। इसी तरह से आइजी प्रवीण कुमार को भी प्लेटिनम पदक से नवाजा जाएगा। आइजी ने कोरोना काल में दिल्ली बार्डर से मजदूरों को घर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। दिल्ली का दंगा हो या हापुड़ में ढाई लाख के इनामी की गिरफ्तारी में भी आइजी की मुख्य भूमिका रही है। उनके अच्छे कार्यों के लिए यह सम्मान दिया गया है।

पीटीएस एडीजी अंजू गुप्ता को मिला गोल्ड

पीटीएस एडीजी अंजू गुप्ता को उत्कृष्टता के लिए केंद्रीय गृह मंत्री पदक से नवाजा गया है। गणतंत्र दिवस पर उन्हें गोल्ड मेडल मिलेगा। अंजू गुप्ता ने लखनऊ में तैनाती के दौरान सेफ सिटी प्रोजक्ट चलाया था, जिसके चलते अच्छा काम हुआ। साथ ही महिला हेल्प लाइन 1090 पर आने वाली शिकायतों का भी समय से निस्तारण कराया है। एडीजी के अलावा पीटीएस से इंस्पेक्टर सुनील शर्मा, ब्रजेश गुप्ता, हेड कांस्टेबल मामराज सिंह और कांस्टेबल भूप सिंह को भी सम्मानित किया जाएगा।

ईओडब्ल्यू एएसपी को स्वर्ण पदक

ईओडब्ल्यू के एएसपी राम सुरेश यादव को भी स्वर्ण पदक से नवाजा गया है। ईओडब्ल्यू पर 4200 करोड़ के बाइक बोट घोटाले की विवेचना है, जिसमें ईओडब्ल्यू की टीम ने 20 से ज्यादा आरोपितों को पकड़कर जेल भेज दिया है। बाइक बोट घोटाले में कई 'बड़ों' की गर्दन फंसी हुई है, इसकी मानिटरिंग भी शासन स्तर से हो रही थी। इसके अलावा भी एएसपी ने कई अन्य विवेचनाओं में निष्पक्षता के आधार पर काम किया है।

सीओ एसटीएफ को पुलिस वीरता पदक

एसटीएफ सीओ ब्रिजेश सिंह और हेड कांस्टेबल रकम सिंह को पुलिस वीरता पदक से नवाजा गया है। यह सम्मान उन्हें राज्यपाल द्वारा प्रदान किया जाएगा। एसटीएफ ने जून 2018 में कंकरखेड़ा क्षेत्र में दुल्हन की हत्या करने वाले हत्यारोपित धीरज और नरसी उर्फ टाइगर को मुठभेड़ में मार गिराया था। शादी के बाद दुल्हन की हत्या ने पूरे प्रदेश में हलचल मचा दी थी। एसटीएफ के अलावा हत्यारोपितों की गिरफ्तारी में पुलिस की टीम भी लगी हुई थी।

वरिष्ठ जेल अधीक्षक को मिला सर्वोच्च सम्मान

चौधरी चरण सिंह कारागार के वरिष्ठ जेल अधीक्षक बीडी पांडेय को गणतंत्र दिवस के अवसर पर सर्वोच्च सम्मान से नवाजा जाएगा। उन्होंने जेल के अंदर कंपोस्ट खाद का उत्पादन कराया। इसके अलावा गेंहू के बीज का प्रोडक्शन भी कराया। जेल के अंदर खेल का सामान और ढाई लाख मास्क बनवाए गए।

125 मुठभेड़, कोरोना में सराहनीय कार्य...फिर भी पिछड़ी मेरठ पुलिस

जोन में मेरठ पुलिस के किसी भी अफसर और दारोगा या इंस्पेक्टर व कांस्टेबल को गणतंत्र दिवस पर सम्मान नहीं मिला। जबकि मेरठ पुलिस ने इस वर्ष ही 125 पुलिस मुठभेड़ कर सात बदमाशों को मार गिराया है। 100 से ज्यादा बदमाशों के पैर में गोली मारी गई। इससे भी अहम बात है कि कोरोना के समय में भी पुलिस ने अहम भूमिका निभाई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 'मन की बात' में मेरठ पुलिस के एसओ विजय गुप्ता की कार्यशैली का जिक्र किया था। इसके अलावा भी लूट की संगीन वारदातों का पुलिस ने पर्दाफाश किया है।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.