दो दिन में 200 करोड़ की राजस्व वसूली बाधित

मेरठ, जेएनएन। दो दिन से भविष्य निधि घोटाले को लेकर बिजली अधिकारियों व कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार से पीवीवीएनएल को करीब 200 करोड़ की राजस्व वसूली नहीं हो सकी। मेरठ समेत डिस्कॉम के सभी जिलों में दो दिन से कैश काउंटर बंद हैं।

मंगलवार को दूसरे दिन भी अधिकारी-कर्मचारी भविष्य निधि घोटाले को लेकर ऊर्जा भवन में प्रबंध निदेशक कार्यालय के बाहर सुबह 10 बजे एकत्र हुए। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले अपनी सात सूत्रीय मागों को उठाया। कार्य बहिष्कार से पीवीवीएनएल के सभी डायरेक्टर कार्यालय, लेखा कार्यालय, मुख्य अभियंता कार्यालय, विधुत भंडार कार्यालय पर दिनभर ताले लटके रहे। सारे कैश काउंटर बंद रहे। इससे दूर-दराज से आने वाले लोग परेशान हुए। कैश काउंटर बंद होने से लोग बिलों का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं। विभागीय राजस्व वसूली के अभियान भी बंद हो गए हैं।

पीवीवीएनएल के अधिकारियों का कहना है कि डिस्कॉम के 14 जिलों से प्रतिदिन लगभग 100 करोड़ की राजस्व वसूली है। कार्य बहिष्कार से इस पर असर पड़ा है। दो दिन में केवल तीन लाख राजस्व वसूली हुई। यह वसूली ग्रामस्तर पर संचालित वीएलई सेंटर से हुई है। धरने के दौरान विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति के नेतृत्व में प्रबंध निदेशक को अधिकारियों व कर्मचारियों ने मांगों का ज्ञापन सौंपा। इस दौरान विराग बंसल, रविंद्र मोतला, मुख्य अभियंता वितरण एसबी यादव, मुख्य अभियंता पश्चिम पारेषण आलोक कुमार अग्रवाल समेत शहर और ग्रामीण के अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता मौजूद रहे।

बिजलीघर खुले, आपूर्ति सुचारू रखने का दावा

उधर, कार्य बहिष्कार के दौरान बिजलीघर खुले रहे। पीवीवीएनएल के अधिकारियों का कहना है कि कार्य बहिष्कार में विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने के लिए संविदा कर्मियों की मौजूदगी और मेंटीनेंस स्टाफ की सक्रियता से विद्युत आपूर्ति सुचारू है। अधिकारियों ने कहा कि कहीं कोई बड़ा फॉल्ट या ब्रेकडाउन नहीं हुआ।

ये कार्य रहे प्रभावित

- कैश काउंटर नहीं खुले, इससे राजस्व वसूली नहीं हो सकी।

- आइजीआरएस समेत सभी पोर्टल पर शिकायतों का निराकरण नहीं हुआ।

- विद्युत सप्लाई रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड नहीं हो सकी।

- स्टोर और वर्कशॉप बंद होने से काटी गई इनवोइश का ब्यौरा नहीं चढ़ सका।

- डिस्कनेक्शन और मॉर्निग रेड अभियान नहीं चल सके।

- आसान किश्त योजना में पंजीकरण नहीं किए गए।

- झटपट योजना में ऑनलाइन कनेक्शन नहीं निर्गत हुए।

आज सिर्फ अवर अभियंता रहेंगे कार्य बहिष्कार पर

उधर, राज्य विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति मेरठ के संयोजक एके सिंह ने बताया कि बुधवार को जूनियर इंजीनियर संघ ने कार्य बहिष्कार पर रहने की घोषणा की है। इसक ा समिति समर्थन करेगी। अवर अभियंता से जुड़े कार्यो को नहीं किया जाएगा। वहीं, विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति से जुड़े संगठन व उनके अधिकारी-कर्मचारी बुधवार को काम पर रहेंगे। कैश काउंटर समेत कार्यालय खुलेंगे।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.