धरातल पर उतरकर मन से लगे कार्यकर्ता

धरातल पर उतरकर मन से लगे कार्यकर्ता

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव बाजीराव खड़गे का बलिया से मऊ आते समय जनपद की सीमा गुलौरी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। उन्हें फूल-मालाओं से लाद दिया। राष्ट्रीय सचिव ने स्थानीय बाजार में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक ली।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 10:08 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, रतनपुरा (मऊ) : कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव बाजीराव खड़गे का बलिया से मऊ आते समय जनपद की सीमा गुलौरी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। उन्हें फूल-मालाओं से लाद दिया। राष्ट्रीय सचिव ने स्थानीय बाजार में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक ली। कहा कि आने वाला कल कांग्रेस का है। इसलिए हमारे कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। सभी कार्यकर्ता धरातल पर लग जाएं। केंद्र व प्रदेश सरकार ने केवल आमजन को छलने का काम किया है। किसानों के साथ केंद्र सरकार ने धोखा किया हे। इसी के चलते इस प्रचंड ठंड में भी अन्नदाता खेती-किसानी छोड़ सड़कों पर डटा है। स्वागत करने वालों में पूर्व जिलाध्यक्ष अवनीश कुमार सिंह, मानवेंद्र बहादुर सिंह, महेंद्र यादव, प्रधान संघ अध्यक्ष नरसिंह सिंह, प्यारेलाल एवं ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष ओम नारायण शर्मा, दीपचंद राम, रमेश सिंह आदि प्रमुख थे। स्वास्थ्य मेला में 3286 मरीजों को मिला उपचार

जागरण संवाददाता, मऊ : प्रत्येक रविवार को जनपद के सभी पीएचसी पर लगने वाले स्वास्थ्य मेले में कुल 3286 मरीजों का उपचार किया गया। 159 चिकित्सकों ने आने वाले सभी मरीजों का निश्शुल्क जांच, उपचार के साथ परामर्श दिया। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य मेले का आयोजन जनपद के चार नगरों सहित 40 पीएचसी पर हुआ।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा.सतीशचंद्र सिंह ने बताया कि जिले के शहरी व ग्रामीण समेत 40 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर पिछले 10 जनवरी से प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री स्वास्थ्य मेले की शुरुआत की गई थी। यह इस माह का आखिरी रविवार था। इसका आयोजन सुबह 10 बजे से शाम चार शाम तक हुआ। सरकार ने गरीबों की सुविधा को देखते हुए स्वास्थ्य मेले को एक विकल्प के रूप में शुरू किया है। इस दिन स्वास्थ्य विभाग के 159 मेडिकल अफसर 600 पैरामेडिकल कर्मियों को लगाया गया था। नोडल अधिकारी डा.एसपी अग्रवाल ने बताया कि सभी ब्लाकों के नोडल एमओआइसी प्रमुख तौर से मौजूद रहे। 1733 महिलाएं, 1165 पुरुष, 388 बच्चों की ओपीडी हुई। 20 गोल्डेन कार्ड बने 49 मरीजों को रेफर किया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.