खेल से होता है शारीरिक व बौद्धिक विकास

खेल से होता है शारीरिक व बौद्धिक विकास

रामबचन सिंह राजकीय महिला महाविद्यालय बगली पिजड़ा में वार्षिक क्रीड़ा समारोह का उद्घाटन गुरुवार को हुआ। मुख्य अतिथि जिला सूचना अधिकारी डा. जितेंद्र सिंह ने ध्वजारोहण के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज छात्राएं हर क्षेत्र में सफलता का परचम लहरा रही हैं।

JagranThu, 04 Mar 2021 08:04 PM (IST)

जागरण संवाददाता, मऊ : रामबचन सिंह राजकीय महिला महाविद्यालय बगली पिजड़ा में वार्षिक क्रीड़ा समारोह का उद्घाटन गुरुवार को हुआ। मुख्य अतिथि जिला सूचना अधिकारी डा. जितेंद्र सिंह ने ध्वजारोहण के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज छात्राएं हर क्षेत्र में सफलता का परचम लहरा रही हैं। खेल से न केवल हमारा शरीर स्वस्थ होता है अपितु बौद्धिक क्षमता, एकाग्रता और संगठन की शक्ति भी मजबूत होती है। खेल हर तरह के आपसी भेदभाव को भूलकर एकजुट होकर खेलते हैं। जो एक स्वस्थ समाज और राष्ट्र के निर्माण में सहायक होता है। प्राचार्य डा. मुनीब शर्मा ने खेल के नियमों का पालन करने और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के साथ खेलने को प्रेरित किया। क्रीड़ा प्रभारी दीपक पाराशर ने सभी का स्वागत के साथ ही आपसी सद्भाव बनाए रखने और लक्ष्य प्राप्त करने के लिए एकाग्र होकर खूब परिश्रम करने पर बल दिया। पहले दिन 100 मीटर दौड़, लंबी कूद, कबड्डी, गोला प्रक्षेप और भाला प्रक्षेप प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इस अवसर पर डा. अवनींद कुमार पांडेय, डा. पवन सिंह, डा. छविनाथ प्रसाद, रमेश कुमार, डा. बालमुकुंद यादव, चंद्रदीप यादव आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.