रजिस्ट्रेशन दस हजार, 8448 किसानों से हुई खरीद

जनपद में पहली बार गेहूं खरीद में लघु व सीमांत किसानों का डंका बजा

JagranFri, 18 Jun 2021 03:36 PM (IST)
रजिस्ट्रेशन दस हजार, 8448 किसानों से हुई खरीद

जागरण संवाददाता, मऊ : जनपद में पहली बार गेहूं खरीद में लघु व सीमांत किसानों का डंका बजा है। इससे पूर्व अब तक बड़े किसान ही क्रय केंद्र तक पहुंच पाते थे। छोटे किसानों के गेहूं को बिचौलिए औने-पौने दाम पर खरीद कर चूना लगा देते थे। इस बार की खरीद में बिचौलियों की मंशा धरी की धरी रह गई। यही वजह रही कि 10000 किसानों का रजिस्ट्रेशन किया गया था। इसमें कुल 8448 किसानों से गेहूं की खरीद की गई है। इसमें 45 क्विंटल के करीब 60 फीसद किसान शामिल हैं। कुल 9784 किसानों को जनपद के चारों तहसीलों के एसडीएम ने सत्यापित किया था। सबसे मजेदार बात यह है कि जनपद के 49 क्रय केंद्रों में सबसे अधिक खरीदारी रतनपुरा क्रय केंद्र पर 1937.60 क्विंटल हुई है। यहीं से गेहूं खरीद की शुरुआत भी हुई थी।

जनपद में 15 अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू हुई थी। इसके लिए कुल 49 क्रय केंद्र बनाए गए थे। खरीद शुरू होने के तीसरे दिन 18 अप्रैल को को रतनपुरा क्रय केंद्र पर पंजीकरण सत्यापन के उपरांत मुस्तफाबाद निवासी किसान रामकेवल सिंह ट्रैक्टर ट्राली से अपना गेहूं लेकर पहुंचे थे। उन्हें आनलाइन टोकन जारी किया गया था। उनका 75 क्विटल गेहूं खरीद कर इसकी शुरुआत की गई थी। इसके बाद जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने सभी क्रय केंद्रों को एक्टिवेट कर दिया। हालात यह हुई कि क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद को लेकर मारामारी की स्थिति व्याप्त हो गई। 15 जून कुल 8442 किसानों ने अपना गेहूं बेचा। यह पिछले वर्ष की अपेक्षा करीब 3462 अधिक किसान हैं। विपणन शाखा के मऊ क्रय केंद्र पर 320, रतनपुरा पर 431, कोपागंज पर 308, घोसी पर 247, अमिला पर 256, दोहरीघाट पर 224, मधुबन पर 213, चिरैयाकोट पर 415, मुहम्मदाबाद गोहना पर 284, दादनपुर पर 364, बनगांवा पर 100, पिउवाताल पर 105, डुमरांव पर 185 किसानों ने अपना गेहूं बेचा। यानी 3452 किसान शामिल थे। इसी प्रकार पीसीएफ के 34 क्रय केंद्रों पर 4585 किसानों ने अपना गेहूं बेचा। भारतीय खाद्य निगम पर 307 और मंडी गोठा पर 98 किसानों ने अपना गेहूं बेचा। डिप्टी आरएमओ की मानें तो शासन की तरफ से मध्यम वर्ग के किसानों को प्राथमिकता पर गेहूं खरीद का निर्देश दिया गया था। इसी आधार पर आनलाइन टोकन लगाया गया और खरीद की गई।

------------------

गेहूं खरीद में छोटे किसानों को तवज्जो दी गई। इसके लिए बकायदा शासन के निर्देशों से अवगत करा दिया गया था। यही वजह रही कि कुल पंजीकृत किसानों से 87 फीसद गेहूं की खरीद कर रिकार्ड बनाया गया।

-केहरी सिंह, नोडल अधिकारी गेहूं खरीद।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.