किसानों ने दी पटेल को सरदार की उपाधि : स्वतंत्र देव

किसानों ने दी पटेल को सरदार की उपाधि : स्वतंत्र देव

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने देश के सपूत पटेल को सरदार की उपाधि नहीं दी बल्कि इस देश के किसानों ने सरदार का सम्मान किया। जिन्होंने देश को एकता के सूत्र में बांधा उनकी कांग्रेस ने उपेक्षा की।

JagranSat, 27 Feb 2021 06:32 PM (IST)

जागरण संवाददाता, मऊ : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने देश के सपूत पटेल को सरदार की उपाधि नहीं दी, बल्कि इस देश के किसानों ने सरदार का सम्मान किया। जिन्होंने देश को एकता के सूत्र में बांधा उनकी कांग्रेस ने उपेक्षा की। प्रदेश अध्यक्ष शनिवार को मधुबन की शहीदी धरती पर रामपुर बेलौली में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का अनावरण कर जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व डा. भीम राव आंबेडकर का सम्मान किया। कहा कि प्रदेश में सपा व बसपा की सरकार ने केवल भ्रष्टाचार व अपराध को बढ़ावा दिया। आज देश में मोदी व प्रदेश में योगी की सरकार है। इनके पास खुद के लिए पक्की छत नहीं है पर दिन-रात गरीबों को पक्की छत देने, जीवन स्तर सुधारने, किसानों की आय दोगुनी करने व महिलाओं के सम्मान के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल ने देश की 564 से अधिक छोटी-बड़ी रियासतों को एक सूत्र में पिरोया। हैदराबाद के निजाम नहीं माने, गरीबों पर अत्याचार करते रहे पर पांच दिन के अंतर में वह भी नतमस्तक हो गए। ऐसे व्यक्ति को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर जाने से कांग्रेस ने रोका। सपा-बसपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि दोनों सरकारों ने प्रदेश को लूटा है।

कतारबद्ध महिलाओं ने की पुष्पवर्षा

मधुबन/रामपुर बेलौली : रामपुर बेलौली में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का जनसभा स्थल तक पैदल जाने के दौरान 500 मीटर कतारबद्ध खड़ी महिलाओं ने पुष्पवर्षा कर स्वागत। किसान जनसभा में प्रदेश अध्यक्ष ने विरोधी दलों पर हमला बोला। कहा कि पूर्व सरकारों के पाले हुए माफिया आज मारे-मारे फिर रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी की ताकत ऐसी है कि एके-47 चलाने वाले को पंजाब में शरण लेनी पड़ रही है। आज गुंडे-माफियाओं के लिए योगी का बुलडोजर तैयार है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि घोसी विधानसभा के उपचुनाव के बाद यह मेरा पहला आगमन है। संत शिरोमणि व सामाजिक चेतना के अग्रदूत संत रैदास ने छुआछूत को समाप्त करने का बीड़ा उठाया था। प्रदेश अध्यक्ष ने स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद को पुण्यतिथि पर नमन करते हुए लेह में शहीद हुए जनपद के लाल चकरा निवासी गणेश यादव को भी याद किया। कार्यक्रम संयोजक भाजपा के भरत भैया ने क्षेत्र के पिछड़ेपन का मामला उठाया। भरत भैया ने जनपद में मेडिकल कालेज और पालीटेक्निक कालेज की मांग की। जनसभा को कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, गोरक्ष प्रांत के क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धर्मेंद्र सिंह, कैबिनेट मंत्री दारासिंह चौहान आदि ने संबोधित किया।

मंच पर प्रदेश महामंत्री अनुप गुप्त, कामेश्वर सिंह, सांसद सकलदीप राजभर, बजरंगी सिंह बज्जू, विधायक श्रीराम सोनकर, जिला महामंत्री राधेश्याम सिंह, मनोज गुप्त आदि उपस्थित थे। इसके पूर्व मंडल अध्यक्ष मनोज गुप्त ने प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत किया। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष प्रवीण गुप्त व संचालन विजय बहादुर सिंह ने किया।

अपने अध्यक्ष को पाकर आह्लादित हुए कार्यकर्ता

मधुबन/दोहरीघाट/रामपुर बेलौली : मधुबन विस क्षेत्र के रामपुर बेलौली में संयोजक भरत भैया के साथ ही जिलाध्यक्ष प्रवीण गुप्त, अरिजीत सिंह अखिलेश तिवारी, नई बाजार में राकेश सोनकर, बबलू गुप्त दोहरीघाट के चौहान चौक पर पूर्व प्रमुख मनोज राय कोरौली में विनोद यादव ने स्वागत किया। दरगाह में समाजसेवी प्रेमशंकर राय उर्फ टुनटुन, भाजपा जिलामंत्री प्रशांत गुप्त की नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता मुख्यमार्ग पर फूल-मालाएं लेकर खड़े रहे। प्रदेश अध्यक्ष ने कठघरा शंकर स्थित शहीद स्मारक पर सन 1942 के अमर शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

दरगाह ग्रामसभा में प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत में गांव के अल्पसंख्यक समुदाय के जैनुल आबेदिन उर्फ दुक्खी भाई, हाफिज सुब्हान, जफर अली, अंसार खान, जैनुद्दीन, सोनू अंसार सहित दर्जनों लोगों ने प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत किया।

चाक-चौबंद रही सुरक्षा व्यवस्था

रामपुर बेलौली में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक व्यवस्था काफी चाक-चौबंद रही। राजस्व विभाग से एसडीएम घोसी, तहसीलदार मधुबन एवं कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए एएसपी त्रिभुवननाथ त्रिपाठी समेत सीओ मुहम्मदाबाद गोहना, घोसी, मधुबन व दोहरीघाट थानाध्यक्ष, घोसी, मधुबन, रानीपुर, रामपुर के अलावा महिला थाना की एसएचओ अनीता सिंह काफी चौकन्ना दिखी। इसके अलावा 05 इंस्पेक्टर, 37 उपनिरीक्षक, 80 हेड कांस्टेबिल, 160 कांस्टेबिल, 40 महिला आरक्षी, ट्रैफिक पुलिस व एक फायर टेंडर मौके पर मौजूद था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.