जंक्शन पर सीआइबी का छापा, आरपीएफ प्रभारी निलंबित

जंक्शन पर सीआइबी का छापा, आरपीएफ प्रभारी निलंबित

जागरण संवाददाता मऊ पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर की क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने बुधवार की

JagranThu, 11 Feb 2021 05:41 PM (IST)

जागरण संवाददाता, मऊ : पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर की क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने बुधवार की सुबह नौ बजे स्थानीय रेलवे जंक्शन पर छापा मारा। इस दौरान 15 वेंडर अवैध तरीके से प्लेटफार्म एवं ट्रेनों में पानी की बोतलें-चाय आदि बेचते पकड़े गए। सीआइबी टीम ने सभी के विरुद्ध कार्रवाई की। टीम की संस्तुति पर आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक डीके राय को निलंबित कर दिया। उनके स्थान पर वाराणसी आरपीएफ मुख्यालय के मुकेश कुमार यादव को भेजा गया है।

डीआरएम वीके पंजीयार को निरीक्षण कार्य के लिए सुबह मऊ जंक्शन से गुजरते हुए भटनी जाना था। इससे पहले की डीआरएम का निरीक्षण यान स्टेशन पहुंचता गोरखपुर से क्राइम इंटेलीजेंस ब्रांच के लोग स्पेशल कार से स्टेशन पहुंच गए। एक तरफ आरपीएफ डीआरएम की सुरक्षा तैयारियों में लगी थी तो दूसरी ओर वेंडर अपने-अपने स्टालों को छोड़कर ट्रेनों के आस-पास पानी की बोतल, बिस्किट व चाय आदि बेचने में लगे थे। साथ ही स्टेशन पर मिली अनियमितताओं के लिए आरपीएफ प्रभारी को दोषी पाते हुए उनके निलंबन की संस्तुति की। सीआइबी की इस कार्रवाई से आरपीएफ, जीआरपी समेत रेलवे के विभिन्न शाखाओं से जुड़े अधिकारियों में खलबली मच गई।

====

ट्रेनों में किसी भी तरह के सामान बेचने की अनुमति किसी को नहीं दी गई है। यदि कोई रेलवे जंक्शन का लाइसेंस प्राप्त वेंडर भी ऐसा करता है तो यह दंडनीय है। स्टाल छोड़कर सामान बेचते पकड़े गए वेंडरों के विरुद्ध मऊ जंक्शन पर सीआइबी ने कार्रवाई की है।

- अशोक कुमार, जनसंपर्क अधिकारी, वाराणसी। जनरेटर बोगी में ईंधन भरने में नहीं हो कोई असुविधा

चौकसी ..

- प्लेटफार्म दो से ही अधिकारियों से बातचीत कर रवाना हुए भटनी

- निर्माण कार्यों का लिया जायजा, मातहतों को दिए दिशा-निर्देश

जागरण संवाददाता, मऊ : डीआरएम वीके पंजियार ने स्थानीय रेलवे जंक्शन पर गुरुवार की सुबह अभियंताओं को डीजल फीलिग प्वाइंटर बनाने के लिए सही स्थान के चयन का निर्देश दिया, ताकि रेक में लगने वाली जनरेटर बोगी में ईंधन भरने के दौरान कोई असुविधा न हो। वाराणसी से सलेमपुर और भटनी जंक्शन के निरीक्षण के लिए जा रहे वाराणसी रेल मंडल के डीआरएम सुबह नौ बजे प्लेटफार्म संख्या दो पर रुक गए थे।

इस दौरान वहीं से एक बार पुन: उन्होंने प्लेटफार्म पर चल रहे निर्माण के कार्यों का निरीक्षण किया और अधिकारियों को दिशा-निर्देश देकर सलेमपुर-भटनी के लिए रवाना हो गए। प्लेटफार्म संख्या दो से ही डीआरएम ने रेलवे के वरिष्ठ अभियंताओं के साथ लगभग आधा घंटे तक डीजल फीलिग प्वाइंट कहां रखे जाएं इस पर मंथन किया। प्लेटफार्म संख्या दो से ही जायजा लेने बाद वह लगभग आधे घंटे तक रुके रहे। इसको लेकर स्थानीय रेलवे के अधिकारी हलकान रहे। हालांकि, दिशा-निर्देश देने के कुछ ही देर बार स्पेशल यान से वे बेल्थरारोड के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर स्टेशन अधीक्षक जीतेंद्र कुमार चौधरी, डीसीआइ सिरनाम सिंह, मुख्य टिकट निरीक्षक राकेश कुमार सहित आरपीएफ के कई एसआइ और कांस्टेबल मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.