इलाज के दौरान महिला की मौत, लापरवाही का आरोप

शुक्रवार को शहर के एक निजी नर्सिंग में बुखार पीड़ित महिला की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। स्वजन ने इलाज में लापरवाही से मौत होने के आरोप लगाए। मौत के बाद चिकित्सक के पुत्र और स्टाफ द्वारा अभद्रता करने की भी बात कही। पुलिस ने हंगामा शांत कराया। मृतका के पुत्र ने कोतवाली में अस्पताल संचालक के खिलाफ तहरीर दी है।

JagranSat, 16 Oct 2021 05:30 AM (IST)
इलाज के दौरान महिला की मौत, लापरवाही का आरोप

जासं, मैनपुरी : शुक्रवार को शहर के एक निजी नर्सिंग में बुखार पीड़ित महिला की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। स्वजन ने इलाज में लापरवाही से मौत होने के आरोप लगाए। मौत के बाद चिकित्सक के पुत्र और स्टाफ द्वारा अभद्रता करने की भी बात कही। पुलिस ने हंगामा शांत कराया। मृतका के पुत्र ने कोतवाली में अस्पताल संचालक के खिलाफ तहरीर दी है।

बेवर थाना क्षेत्र के गांव कूड़ी निवासी सीमा देवी पत्नी मेवाराम पटेल लंबे समय से बीमार चल रही थीं। स्वजन उनका उपचार आवास विकास कालोनी स्थित पाठक नर्सिंग होम से ही दिला रहे थे। शुक्रवार की दोपहर लगभग 12 बजे तबियत बिगड़ने पर पुत्र जितेंद्र अपनी बहन के साथ सीमा देवी को बाइक पर लेकर नर्सिंग होम पर पहुंचा। स्वजन का आरोप है कि उनकी तबियत बिगड़ने के बावजूद स्टाफ ने उन्हें देखने से इनकार कर दिया। थोड़ी देर बाद खड़े-खड़े ही उनकी मौत हो गई।

महिला की मौत के बाद नर्सिंग होम में खलबली मच गई। स्वजन का आरोप है कि चिकित्सक पुत्र ने दबाव बनाने के लिए उनके साथ पहले तो अभद्रता की। बाद में स्टाफ के सहयोग से शव को परिसर से बाहर निकलवाने का प्रयास भी किया। कुछ देर बाद कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने मृतका के स्वजन का बयान दर्ज किया है। मृतका के पुत्र ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है। मामले में इंस्पेक्टर शहर कोतवाली भानु प्रताप सिंह ने बताया कि मामले में तहरीर मिली है। मौत का कारण जानने के लिए पोस्टमार्टम कराया गया है, उसकी रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी।

दो घंटे चला हंगामा, नहीं पहुंचे अफसर

शहर के बीचोंबीच नर्सिंग होम में इलाज में लापरवाही से महिला की मौत हो गई। हंगामा भी हुआ, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अफसर नहीं पहुंचे। असल में इस अस्पताल में जाने से हमेशा से ही स्वास्थ्य विभाग के अफसर बचते रहे हैं। कोविड प्रोटोकाल को ताक पर रखकर मरीजों को उपचार दिया जा रहा है। सब जानते हुए भी अधिकारी मामले को अनदेखा कर रहे हैं। महिला का उपचार हमारे यहां से ही चल रहा था, लेकिन परिवार वाले उन्हें घर ले जाते थे। शुक्रवार को भी घर से लेकर आए ही थे। बुखार के मरीजों की भीड़ होने की वजह से उन्हें तुरंत नहीं देख सके थे। हमारे स्तर से कोई लापरवाही नहीं हुई है।

डा. पीके पाठक, पाठक नर्सिंग होम। अभी इस मामले में हमें कोई शिकायत नहीं मिली है। इंटरनेट मीडिया के माध्यम से ही जानकारी हो रही है। यदि ऐसा है तो स्वजन से अपील है कि वे शिकायत दें, कार्रवाई कराई जाएगी। एहतियातन एक टीम को भेजकर इस मामले की जांच भी कराएंगे।

डा. पीपी सिंह, सीएमओ।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.