हन्नूखेड़ा तिराहे पर जलभराव, 36 गांवों का आवागमन प्रभावित

बारिश से हन्नूखेड़ा-मरहरी तिराहा पर बिगड़े हालत वाहनों के आवागमन में परेशानी हो रहे हादसे

JagranFri, 23 Jul 2021 06:44 AM (IST)
हन्नूखेड़ा तिराहे पर जलभराव, 36 गांवों का आवागमन प्रभावित

संवाद सूत्र, बिछवां (मैनपुरी): सुल्तानगंज ब्लाक में जरा सी बारिश ने हालात बिगाड़ दिए हैं। हन्नूखेड़ा-मरहरी तिराहा पानी में डूब गया है। पैदल गुजरना तो भूल जाइए, यहां तो वाहनों का आवागमन भी मुश्किल हो रहा है। जलभराव से तीन दर्जन से अधिक गांवों के ग्रामीण हर रोज मुश्किल झेल रहे हैं। उनको हादसों के जोखिम के बीच तिराहा पार करना पड़ रहा है।

सुल्तानगंज ब्लाक में आवागमन करने के लिए हन्नूखेड़ा तिराहा प्रमुख है। काली नदी के किनारे बसे तीन दर्जन से अधिक गांवों के लोगों के लिए यह एकमात्र रास्ता है जो बिछवां कस्बा और आगे मैनपुरी के लिए जाता है। रोजमर्रा के सामान की खरीदारी के लिए उनको इसी रास्ते का उपयोग करना होता है।

बारिश में होते हैं हालात विकराल

इस तिराहे पर मानसून में जलभराव की समस्या लंबे समय से चली रही है। जरा सी बारिश में भी तिराहा जबरदस्त जलभराव हो जाता है। बीते रविवार को हुई बारिश में तिराहा पर पानी फिर भर गया। सोमवार, मंगलवार और बुधवार सुबह तक हुई बारिश से हालात और विकराल हो गए हैं। वाहन फिसले, राहगीर चुटैल

सबसे ज्यादा परेशानी पैदल यात्रियों और दोपहिया वाहन सवारों को हो रही है। हर रोज कई वाहन फिसल जाते हैं और राहगीर चुटैल हो रहे है। तिराहा के आसपास के दुकानदार भी जलभराव की मुश्किल झेल रहे हैं। उनकी बिक्री प्रभावित हो रही है। जनप्रतिनिधियों के कानों नहीं पहुंचती आवाज

स्थानीय लोगों ने बताया कि सड़क के किनारे नाला निर्माण न होने से यह समस्या पैदा हो रही है। पूर्व में कई बार इस संबंध में जनप्रतिनिधियों से मांग उठाई गई, परंतु समस्या अब भी जस की तस है। सड़क के किनारे लोक निर्माण विभाग को नाला बनाना चाहिए था, परंतु यह नहीं किया गया। अब क्षेत्रवासी इसका खामियाजा भुगत रहे हैं। प्रशासन को तत्काल जलनिकासी की व्यवस्था करानी चाहिए।

आशु राठौर, क्षेत्रवासी समस्या के बारे में कई बार जनपद के प्रतिनिधियों को अवगत कराया जा चुका है, परंतु कोई सुनवाई नहीं हुई। यह क्षेत्र की मुख्य सड़क है, जिस पर जलभराव से लोगों को परेशानी होती है।

अतुल कुमार, क्षेत्रवासी इस सड़क से क्षेत्र के लोगों को रोजाना सफर करना होता है। साइकिल, मोटरसाइकिल जैसे दोपहिया वाहनों के पानी में गिरने का खतरा अधिक रहता है। कई लोग साइकिल सवार से गिरकर घायल हो चुके हैं।

योगेश कुमार, क्षेत्रवासी जलभराव से आसपास के लोगों को परेशानी होती है। क्षेत्र के लोगों को भी असुविधा हो रही है। पैदल निकलने वाले लोगों के हर रोज कपड़े खराब हो जाते हैं।

देवेंद्र सिंह, क्षेत्रवासी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.