चोरों ने काटे तार, 21 गांव में छाया अंधेरा

चोरों ने काटे तार, 21 गांव में छाया अंधेरा

दन्नाहार क्षेत्र में 48 घंटों में तीसरी वारदात से विद्युत अधिकारी सकते में पुलिस की ली मदद

JagranMon, 22 Mar 2021 06:38 AM (IST)

जासं, मैनपुरी: दन्नाहार थाना क्षेत्र में बिजली तार चोर गिरोह सक्रिय है। यहां सुनसान इलाकों से बिजली के तारों को चोरी किया जा रहा है। शनिवार रात चोरों ने कोसमा रेलवे स्टेशन के पीछे विद्युत तारों को काट दिया। इससे आसपास क्षेत्र के 21 गांव में अंधेरा छा गया। 48 घंटों में लगातार तीसरी वारदात से अब विद्युत अधिकारी भी सकते में आ गए हैं। चोरों को पकड़ने के लिए पुलिस की मदद ली गई है।

शनिवार की रात लगभग 11:20 बजे दन्नाहार फीडर पर तैनात आपरेटर द्वारा अचानक फाल्ट होने की सूचना अधिकारियों को दी। इससे पहले कोई कुछ समझ पाता कि अचानक 11 और 33 केवी फीडर का लोड भी तेजी से घटने लगा। एसडीओ घिरोर मुन्नीलाल ने थाना प्रभारी से संपर्क किया और पुलिस बल को साथ लेकर कांबिग के लिए निकल गए। पेट्रोलिग के लिए कोसमा रेलवे स्टेशन के पीछे खंभे टूटे हुए मिले। तलाश की तो विद्युत तारों के बंडल भी जमीन पर पडे़ थे। आहट पाकर चोर तारों को वहीं छोड़कर फरार हो गए। अधिशासी अभियंता ग्रामीण जीसीएल भटनागर ने भी रात्रि में घटना स्थल का मुआयना किया। इस घटना से क्षेत्र के 21 गांवों की आपूर्ति बाधित हो गई।

इससे पूर्व 19 मार्च की रात चोरों ने विद्युत उपकेंद्र कोसमा में 33केवी लाइन के तीन पोल तोड़कर 700 मीटर तार चोरी कर लिए थे। इससे क्षेत्र के लगभग 80 गांवों की आपूर्ति बाधित हुई थी। इसी रात उपकेंद्र कुचेला में भी 14 खंभों के तार चोरी हुए थे। प्रभारी अवर अभियंता अनुज कुमार दुबे द्वारा थाने में तहरीर दी गई है। अब लोगों से मदद की अपील

अधीक्षण अभियंता अतुल अग्रवाल ने स्थानीय लोगों से अपील करते हुए कहा है कि यदि कहीं भी लाइन ट्रिपिग की समस्या सामने आती है तो वे तत्काल बिजली विभाग के कंट्रोल रूम या फिर संबंधित अवर अभियंता और अधिशासी अभियंता को सूचना दें। ताकि समय रहते चोरी को रोकने की पहल की जा सके।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.