पुरानी पेंशन बहाली को गरजे शिक्षक और कर्मचारी

गुरुवार को संयुक्त संघर्ष संचालन समिति एस-चार ने बीएसए कार्यालय परिसर में पुरानी पेंशन बहाली समेत 16 मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया। भारी संख्या में आए शिक्षक और कर्मचारियों ने मांगों के समर्थन में आवाज बुलंद की। एसडीएम सदर वीरेंद्र मित्तल को मुख्यमंत्री के नाम का दिया गया।

JagranFri, 26 Nov 2021 04:31 AM (IST)
पुरानी पेंशन बहाली को गरजे शिक्षक और कर्मचारी

जासं, मैनपुरी: गुरुवार को संयुक्त संघर्ष संचालन समिति एस-चार ने बीएसए कार्यालय परिसर में पुरानी पेंशन बहाली समेत 16 मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया। भारी संख्या में आए शिक्षक और कर्मचारियों ने मांगों के समर्थन में आवाज बुलंद की। एसडीएम सदर वीरेंद्र मित्तल को मुख्यमंत्री के नाम का दिया गया।

धरना-प्रदर्शन को संबोधित करते हुए एस-चार के जिलाध्यक्ष राजीव यादव ने कहा कि आंदोलन का शंखनाद हो चुका है, पुरानी पेंशन शिक्षक और कर्मचारियों का अधिकार है, सरकार को इसे देना ही होगा। एस-चार के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेंद्र तनेजा ने कहा कि कर्मचारियों और शिक्षकों ने एकजुट होकर आर-पार की लड़ाई का मन बना लिया है, पुरानी पेंशन समाप्त कर सरकार ने कर्मचारी और शिक्षकों को दिहाड़ी मजदूर बना दिया है। एस-चार के संयोजक सुजीत चौहान ने कहा कि सरकार को निजीकरण और आउटसोर्सिंग से नियुक्ति पर तत्काल रोक लगानी चाहिए। उन्होंने छठे वेतनमान की विसंगतियों को दूर कर बकाया एरियर दिया जाना चाहिए।

एस-चार के कोषाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि पंचायती राज विभाग के सफाईकर्मियों को पदोन्नति के अवसर प्रदान किए जाए, मृतक आश्रितों को सीधे लिपिक पद पर नियुक्त किया जाए। संयुक्त संयोजक अलकेश मिश्रा ने कहा कि सरकार महंगाई भत्ते के 18 महीने के अवशेष एरियर पर मौन साधे हुए है। उन्होंने रद्द किए गए समस्त भत्तों को फिर से बहाल किए जाने की मांग की है। एस-चार के महासचिव महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि राज्य कर्मचारियों की तरह शिक्षकों को भी कैशलेस चिकित्सा का लाभ दिया जाए।

यह रहे मौजूद

धरना- प्रदर्शन में एमपी सिंह, सत्यवीर सिंह, केपी सिंह, कौशल गुप्ता, डा. कमलेश यादव, अमित दुबे, अर्जेश मिश्रा, अखलेश राजपूत, दलवीर कठेरिया, योगेश यादव, हेम सिंह, डा. आलोक शाक्य, प्रतिभा यादव, किरन शाक्य, ज्योतना राजपूत, मृदुला, स्नेहा दीक्षित, रामबरन, कप्तान सिंह, डा. मनोज यादव, सत्य प्रकाश, किरन शाक्य, प्रज्ञा, सुधा, मीना, अर्चना, सुप्रिया, साधना, वंदना, सरिता यादव, अंजू कटारा, नीरू गोस्वामी, सुमन पाल, सोनू यादव, अभय चौधरी, कमलकांत, पल्लवी दुबे आदि मौजूद रहे।

कार्यालयों में नारेबाजी

पुरानी पेंशन समेत अन्य मांगों को लेकर एस-फोर के पदाधिकारियों और कर्मचारियों ने विकास भवन आदि कार्यालयों में नारेबाजी की। इस दौरान विनय शर्मा, रजनीश राजपूत, संजय राजपूत, अमित बैस, हरिओम द्रविड़, मेघ सिंह शाक्य, राजीव गुप्ता, राजवीर शाक्य, अशोक पाल, आशीष यादव, सुमित, हृदयेश, पवन दीक्षित आदि मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.