एक्सप्रेस वे पर सिपाही की बेटी के अपहरण से सनसनी

अपहरण की सूचना पर एसपी समेत कई थाने का फोर्स दौड़ा कराई सघन चेकिंग गलत निकली सूचना मिली बालिका

JagranFri, 03 Dec 2021 06:46 AM (IST)
एक्सप्रेस वे पर सिपाही की बेटी के अपहरण से सनसनी

संवाद सूत्र, करहल: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बालिका के अपहरण की सूचना से सनसनी फैल गई। एसपी समेत जिले के कई थानों का फोर्स दौड़ने लगा। जगह-जगह कांबिंग कराई गई। बाद में पता चला कि अपहरण का आरोप गलत है, सिपाही ने केवल शक के आधार पर सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने राहत महसूस की।

इटावा जिले के थाना चौबिया के गांव गोपालपुर निवासी सुधीर कुमार मथुरा जिले के थाना राया में हेड कांस्टेबल है। गुरुवार को वह अपनी पत्नी प्रियंका, पुत्र आदित्य, आठ वर्षीय बेटी अन्नया और छोटी बेटी प्रिसी को बाइक पर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से मथुरा जा रहे थे। थाना कुर्रा के गांव हविलिया के पास ज्यादा सवारी होने से बाइक चलाने में मुश्किल हुई तो वह सड़क किनारे खड़ा हो गए। इसी बीच वहां से गुजर रहे बाइक सवार अनुराग निवासी शाहपुर निवासी हरदोई अपने साले उज्जवल कुमार निवासी शाहपुर थाना मल्लावां जिला हरदोई के साथ गुजरे। अनुराग गुरुग्राम के मानेसर स्पोर्ट लाइन कंपनी जा रहे थे। सुधीर को परिवार सहित सड़क पर खड़ा देखकर अनुराग ने बाइक को रोक लिया और परेशानी पूछी। इस पर सुधीर ने बताया कि हम पांच लोग हैं, बाइक चलाने में दिक्कत हो रही है। इस पर अनुराग ने बच्ची को मथुरा तक ले चलने की बात कह दी। इस पर सुधीर ने बच्ची को उनकी बाइक पर बैठा दिया। दोनों बाइक चलीं तो अनुराग की मोटरसाइकिल तेजी से आगे निकल गई। काफी दूर तक जब सुधीर कुमार को उनकी बाइक नहीं दिखी तो उसे बेटी के अपहरण की आशंका हुई। इस पर उसने 112 नंबर पर फोन कर बेटी के अपहरण की सूचना दे दी। दिनदहाड़े बालिका की अपहरण की सूचना से पुलिस महकमे में सनसनी मच गई। एसपी अशोक कुमार खुद लखनऊ एक्सप्रेसवे पहुंच गए। 112 की छह गाड़ियां और करहल थाना पुलिस को बालिका की तलाश में दौड़ा दिया। फिरोजाबाद में भी चेकिग शुरू कराई गई।

उधर, जब बहुत आगे निकलने पर अनुराग और उसके साथी को सुधीर कुमार की बाइक नजर नहीं आई तो उन्होंने बटेश्वर कट पर बाइक रोक ली। अनन्या से सुधीर कुमार का नंबर पूछकर फोन किया और खुद के बटेश्वर कट पर होने की जानकारी दी। उस समय करहल थाना प्रभारी, सुधीर कुमार को लेकर बच्ची की तलाश कर रहे थे। फोन आने के बाद एसपी और थाना पुलिस पहुंच गई और बच्ची को लेकर थाने आ गए। बाइक सवारों को थोड़ी देर पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया। हेड कांस्टेबल सुधीर कुमार ने बताया कि अनुराग एवं उज्वल की कोई गलती नहीं है, गलतफहमी में मेरे द्वारा सूचना दी गई थी।

मामले में एसपी अशोक कुमार राय ने बताया कि अपहरण की सूचना झूठी निकली। सिपाही सुधीर कुमार ने लापरवाही की है, इस संबंध में रिपोर्ट भेजी जाएगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.