प्रधानी तो मिल गई, जमानत न बचा पाए

रिकार्ड मतदान में भी तमाम एक दर्जन प्रधानों को निर्धारित फीसद वोट नहीं मिले। प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा रहने से वोटों का बंटवारा हो गया।

JagranPublish:Mon, 17 May 2021 06:15 AM (IST) Updated:Mon, 17 May 2021 06:15 AM (IST)
प्रधानी तो मिल गई, जमानत न बचा पाए
प्रधानी तो मिल गई, जमानत न बचा पाए

श्रवण शर्मा, मैनपुरी: ग्राम प्रधानी के चुनाव का एक रोचक पहलू ये भी है कि तमाम प्रत्याशियों को प्रधानी तो मिल गई मगर, उनकी जमानत जब्त हो गई। कारण, कुल मतदान का न्यूनतम फीसद वोट भी उनके पक्ष में नहीं पड़ा। जिले में ऐसे प्रधानों की संख्या दर्जन भर है।

चुनाव में नामांकन के साथ ही दावेदार पद के हिसाब से जमानत राशि जमा करते हैं। यह राशि जाति-वर्ग के हिसाब से आयोग द्वारा निर्धारित की जाती है। कुल पड़े मतदान के 20 फीसद वोट न मिलने पर जमानत राशि जब्त हो जाती है। बोलचाल में इसे जमानत जब्त होना कहा जाता है। जिले में 12 नवनिर्वाचित प्रधान ऐसे हैं जिनको निर्धारित 20 फीसद वोट भी नहीं मिले। वो भी तब, जब इनकी ग्राम पंचायत में रिकार्ड मतदान हुआ।

जिले में ओवरआल 74.29 फीसद मतदान हुआ। हर ग्राम पंचायत में मतदान का फीसद औसत 75-85 प्रतिशत तक रहा। कई ग्राम पंचायतों में कांटे की टक्कर हुई। जीत-हार का अंतर मामूली रहा। अधिकांश ग्राम पंचायतो में पांच से अधिक उम्मीदवार मैदान में थे। इस वजह से मतों का व्यापक बंटवारा हुआ।

जमानत जब्त कराकर यह बने प्रधान

ग्राम पंचायत जवापुर

-65.22 फीसद कुल मतदान

-प्रधान बनीं सुधा देवी को 17.65 फीसद वोट ग्राम पंचायत हरचंदपुर

- 78.12 फीसद कुल मतदान

- प्रधान बने सुरेंद्र सिंह को 18.97 फीसद वोट ग्राम पंचायत भदोई

- 65.03 फीसद कुल मतदान

-प्रधान बनीं मधु बाला को 19.03 फीसद मत ग्राम पंचायत इलाबांस

-59.41 फीसद कुल मतदान

-प्रधान चुनी गर्इं क्रांति देवी को 18.22 फीसद वोट ग्राम पंचायत दिवन्नपुर चौधरी

- 75.26 फीसद कुल मतदान

- निर्वाचित प्रधान रामेश्वर दयाल को 18.39 फीसद मत ग्राम पंचायत मल्लामई

-67.92 फीसद कुल मतदान

-प्रधान बनीं कृष्णा देवी को 18.09 फीसद मत ग्राम पंचायत बनकिया

-71 फीसद से ज्यादा मतदान

-प्रधान बनीं सरोज को 16.24 फीसद वोट ग्राम पंचायत हरजातपुर

-70 फीसद से ज्यादा कुल मतदान

-प्रधान बने संजय को 18.43 फीसद वोट मिले ग्राम पंचायत सोनई

-63 फीसद से ज्यादा कुल मतदान

- प्रधान बने देवेंद्र कुमार को 16.23 फीसद वोट मिले।

ग्राम पंचायत घिरोर देहात

-83.88 फीसद मतदान

-प्रधान बनीं रामवती को 19.78 फीसद वोट मिले ग्राम पंचायत बमरौली

-79 फीसद से ज्यादा मतदान

-प्रधान बने आराम सिंह को 19.05 फीसद वोट मिले

ग्राम पंचायत ओय

- 79 फीसद कुल मतदान

- प्रधान बने शीलेश को 17.22 फीसद वोट मिले ऐसे प्रधानों को तीन माह के भीतर पंचायत चुनाव कार्यालय में प्रार्थना पत्र देना होगा। इसके बाद जमानत लौटेगी, अन्यथा जब्त हो जाएगी।

- सुनील मिश्रा, सहायक निर्वाचन अधिकारी।

यह है नियम-

पंचायत चुनाव में जीतने वाले को कुल मतदान के बीस फीसद वोट मिलना जरूरी है। ऐसा न होने पर जमानत राशि जब्त हो जाती है। यदि विजेता प्रत्याशी को बीस फीसद से कम वोट मिलते हैं तो भी वह जमानत राशि वापस पा सकते हैं। इसके लिए जीते प्रत्याशी को जमानत राशि वापस लेने के लिए पंचायत चुनाव कार्यालय में प्रार्थना पत्र देना होगा।