एंबुलेंस स्टाफ ने गाड़ी में कराया सुरक्षित प्रसव

एक बार फिर 102 एंबुलेंस सेवा के स्टाफ ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए ग

JagranWed, 29 Sep 2021 04:52 AM (IST)
एंबुलेंस स्टाफ ने गाड़ी में कराया सुरक्षित प्रसव

जासं, मैनपुरी : एक बार फिर 102 एंबुलेंस सेवा के स्टाफ ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए गर्भवती का सुरक्षित प्रसव करा जच्चा और बच्चा दोनों की जान बचाई है। बेहतर देखरेख के लिए दोनों को सीएचसी पर भर्ती कराया गया है।

बरनाहल थाना क्षेत्र के गांव नगला अतिराम निवासी नीलम देवी (30) पत्नी संजय कुमार गर्भवती थीं। मंगलवार को प्रसव पीड़ा बढ़ने पर स्वजन ने 102 एंबुलेंस सेवा पर फोन कर मदद मांगी। एंबुलेंस में गर्भवती को लेकर स्वास्थ्य टीम सीएचसी के लिए चल पड़ी। जैसे ही गांव से बमुश्किल आठ किमी दूरी पर पहुंचे तभी प्रसव पीड़ा बढ़ने लगी।

एंबुलेंस पर तैनात ईएमटी (इमरजेंसी मेडिकल तकनीशियन) सचिन कुमार और पायलट देवेंद्र कुमार ने रास्ते में ही सुरक्षित प्रसव की प्रक्रिया शुरू की। लगभग आधा घंटा की मशक्कत के बाद सुरक्षित प्रसव करा शिशु को जन्म दिलाया गया। एंबुलेस में ही प्राथमिक उपचार देकर बाद में जच्चा और बच्चा दोनों को सीएचसी बरनाहल पर भर्ती कराया गया है।

एंबुलेंस सेवा के प्रोग्राम मैनेजर सचिन वर्मा का कहना है कि प्रत्येक एंबुलेंस में प्रशिक्षित स्टाफ को तैनात किया गया है। जो इमरजेंसी के दौरान उपचार देने में सक्षम है। एंबुलेंसों में सभी प्रकार के आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध हैं। ताकि मरीजों को समय पर सुरक्षित ढंग से हायर सेंटर पहुंचाया जा सके। फिलहाल जच्चा और बच्चा दोनो पूरी तरह से सुरक्षित हैं। करीमगंज के तालाब की नाव से सफाई: बिछवा विकास खंड मैनपुरी के गांव करीमगंज के तालाब की सफाई का काम जारी है। अब जेसीबी के बाद सफाई का काम नाव की मदद से मजदूर कर रहे हैं।

गांव के इस तालाब की वजह से अब तमाम ग्रामीण मौत के शिकार हो चुके हैं। ग्रामीणों ने भी तालाब के चारों तरफ कूड़ा- करकट डाल कर अवरुद्ध कर दिया था। कई दिन से तालाब को साफ करने का काम हो रहा है। पहले जेसीबी से यह काम हुआ। अब तालाब में पानी गहरा होने से जेसीबी वहां जलमंजरी को नहीं निकाल सकी तो मजदूरों को नाव के सहारे सफाई को भेजा गया। मजदूरों ने नाव में बैठकर तालाब मे गहराई तक जमा जलमंजरी को खींचा। बाद में इसे किनारे लाकर ट्रैक्टरों की मदद से अन्य स्थान पर फिकवाया गया।

प्रधान प्रतिनिधि कैलाश शाक्य ने बताया कि तालाब को पूरी तरह से साफ करने में पांच दिन और लग सकते हैं। सफाई की निगरानी पंचायत सचिव सुखदेव, अवनीश गुप्ता, प्रशांत पांडे लगातार कर रहे हैं ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.