पुलिस लाइन में 31 बेड का कोविड अस्पताल शुरू

कोविड संक्रमित पुलिसकर्मियों को अब इलाज के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। शुक्रवार को पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों और उनके स्वजन के लिए 31 बेड का कोविड अस्पताल शुरू हो गया। इनमें से छह बेड पर आक्सीजन और अन्य प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। एसपी अविनाश पांडेय ने इस अस्पताल का फीता काटकर शुभारंभ किया।

JagranSat, 22 May 2021 05:35 AM (IST)
पुलिस लाइन में 31 बेड का कोविड अस्पताल शुरू

जासं, मैनपुरी: कोविड संक्रमित पुलिसकर्मियों को अब इलाज के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। शुक्रवार को पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों और उनके स्वजन के लिए 31 बेड का कोविड अस्पताल शुरू हो गया। इनमें से छह बेड पर आक्सीजन और अन्य प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। एसपी अविनाश पांडेय ने इस अस्पताल का फीता काटकर शुभारंभ किया।

कोरोना काल में पुलिसकर्मियों को जनता बीच रहकर कार्य करना पड़ रहा है। सामान्य व्यक्ति से लेकर संक्रमितों की तक सहायता करनी पड़ती है। लगातार बाहर रहने के कारण पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने की संभावना अधिक रहती है। अब तक कई पुलिसकर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। संक्रमित पुलिसकर्मियों को इलाज को लेकर काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। इसे देखते हुए एसपी ने पुलिस लाइन में कोविड अस्पताल शुरू करने के निर्देश आरआइ राजीव राय को दिए थे। पिछले कई दिनों से इसको लेकर काम चल रहा था। बेड और आक्सीजन का प्रबंध होने के बाद शुक्रवार को एसपी ने अस्पताल का शुभारंभ किया। इस दौरान एएसपी मधुवन कुमार सिंह मौजूद रहे।

भोगांव के बाद अब घिरोर में भी बना कोविड केयर सेंटर

जासं, मैनपुरी : कोरोना संक्रमण से भले ही फिलहाल राहत मिलती दिख रही हो, लेकिन सरकार ने दोबारा खतरे को लेकर अलर्ट कर दिया है। ऐसे में प्रशासन कोई रिस्क उठाना नहीं चाहता है। खतरे को देखते हुए अब भोगांव के बाद घिरोर सीएचसी को भी कोविड केयर सेंटर में तब्दील कर दिया गया है। यहां बिस्तरों के साथ आक्सीजन कंसन्टेटर के प्रबंध भी कराए गए हैं।

कोरोना की दूसरी लहर ने मैनपुरी में खूब कहर बरपाया है। 25 अप्रैल से लेकर सात मई तक स्थिति बेहद भयावह थीं। आक्सीजन की कमी और उपचार के अभाव में कई मरीजों की मौत हो गई। होम आइसोलेट मरीजों को बेहतर उपचार के लिए प्रशासन द्वारा सीएचसी भोगांव को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करते हुए यहां 50 बिस्तरों की व्यवस्था कराई गई। आक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए 15 आक्सीजन कंसन्टेटर भी रखवाए गए हैं। यहां के सेंटर की कमान डा. अमित भारती के हाथों में सौंपी गई है। लिहाजा, दोबारा रिस्क नहीं लिया जा सकता है। ऐसे में सीएचसी घिरोर को भी कोविड केयर सेंटर में तब्दील कर दिया गया है। डीएम महेंद्र बहादुर सिंह का कहना है कि यहां 30 बिस्तरों के प्रबंध कराने के साथ 10 आक्सीजन कंसन्टेटर भी रखवाए गए हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की पूरी टीम को तैनात किया गया है जो भर्ती मरीजों को उपचार दे रही है। हर स्थिति से निपटने को हम तैयार

सीएमओ डा. एके पांडेय का कहना है कि पुराना महिला चिकित्सालय के भवन को एल-2 बनाया गया है। यहां गंभीर मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है। इसके अलावा होम आइसोलेशन में जिन मरीजों के पास जगह का अभाव है, उन्हें कोविड केयर सेंटर में रखा जा रहा है। सभी मरीजों को बेहतर उपचार के साथ भोजन और जांच की सुविधा भी मुहैया कराई जा रही है। हम हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। पर्याप्त दवाएं भी उपलब्ध हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.