कोरोना मरीजों को फोन कर सेहत का हाल जानेंगे शिक्षक

कोरोना मरीजों को फोन कर सेहत का हाल जानेंगे शिक्षक

जिले में होम क्वारंटाइन हैं 222 कोरोना मरीज

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 06:44 PM (IST) Author: Jagran

महराजगंज: जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या प्रशासन के लिए चिता का विषय बना है। अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों की जहां चिकित्सक देखभाल कर रहे हैं, वहीं होम क्वारंटाइटन पॉजिटिव मरीजों पर अब शिक्षक नजर रखेंगे। इसके लिए 24 शिक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। शिक्षक फोन कर मरीजों की सेहत की जानकारी लेंगे और उसकी रिपोर्टिंग उच्चाधिकारियों को करेंगे। अगर तबीयत में गड़बड़ी मिली तो स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर उन्हें भर्ती कराएंगे। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ला ने बताया कि प्रत्येक ब्लाक में दो-दो शिक्षकों की ड्यूटी लगाते हुए कोविड-19 के अंतर्गत पॉजिटिव पाए गए ऐसे व्यक्ति जो होम क्वारंटाइन हैं। उनके स्वास्थ्य संबंधी सूचना दूरभाष से प्राप्त करके वाट्सएप ग्रुप (कोविड-19 सूचना ग्रुप) के माध्यम से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। सीएमओ डा. एके श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में 222 मरीज होम क्वारंटाइन है, जिसकी निगरानी सीएचसी, पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कर रहे है। इन्हें सौंपी गई जिम्मेदारी

महराजगंज: ऋषिकेश त्रिपाठी, दिव्येंद्र मिश्र नौतनवा, विशाल द्विवेदी रामनरेश पासवान फरेंदा, दिनेश कुमार पांडेय, रविद्र कुमार शर्मा परतावल, कौशलेंद्र गुप्ता, नीरज कुमार लक्ष्मीपुर, हेमंत, राघवेंद्र गुप्त मिठौरा, जयप्रकाश अग्रहरि, सुनील दत्त, धानी, सुनील कुमार पटेल, अंगद कुमार यादव बृजमनगंज, पवन कुमार श्रीवास्तव, राजीव कुमार तिवारी, पनियरा, गोपाल पटेल, कैलाश पटेल सदर,, पवन पटेल, संजय कुमार पांडेय घुघली, विजय शंकर, योगेंद्र कुमार निचलौल तथा जितेंद्र सिंह, अंबोज कुमार मिश्र को सिसवा की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.