महराजगंज में कारगिल के वीर सपूतों को किया नमन

चेयरमैन ने कहा आज का दिन हर वर्ष कारगिल विजय की याद दिलाता है जहां कारगिल जैसे दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में हमारे देश के रणबाकुरों ने पूरे जोश व जुनून के साथ दुश्मनों के दांत खट्टे कर उस भूभाग को आजाद कराया था जिस पर दुश्मन कब्जा जमाए बैठे थे लड़ते-लड़ते जान गंवाने वाले ऐसे मां भारती के वीर सपूतों को शत-शत नमन है।

JagranTue, 27 Jul 2021 01:48 AM (IST)
महराजगंज में कारगिल के वीर सपूतों को किया नमन

महराजगंज : कारगिल विजय दिवस पर सोमवार नौतनवा में कारगिल शहीद पूरन बहादुर थापा व प्रदीप कुमार थापा के शहीद स्मारक पर विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान चेयरमैन गुड्डू खान ने पहुंचकर अमर ज्योति को प्रज्ज्वलित कर प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उनके साथ पूर्व सैनिकों ने भी शहीद सपूतों के स्मारक पर पुष्प अर्पित कर उन्हें सलामी दी और भारत माता के जयजयकार के बुलंद नारे लगाए गए।

चेयरमैन ने कहा आज का दिन हर वर्ष कारगिल विजय की याद दिलाता है, जहां कारगिल जैसे दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में हमारे देश के रणबाकुरों ने पूरे जोश व जुनून के साथ दुश्मनों के दांत खट्टे कर उस भूभाग को आजाद कराया था, जिस पर दुश्मन कब्जा जमाए बैठे थे, लड़ते-लड़ते जान गंवाने वाले ऐसे मां भारती के वीर सपूतों को शत-शत नमन है। पूर्व सैनिक उत्तम थापा, हरि बहादुर गुरुंग, डंबर बहादुर गुरुंग, नर बहादुर राना, रामकुमार थापा, सभासद शाहनवाज खान, विजय कुमार थापा, तूल बहादुर थापा, राजेश ब्वाएड, श्याम किशोर थापा, प्रमोद पाठक, राजकुमार गौड़, मोहन थापा, हिम बहादुर गुरुंग, संत बहादुर, गणेश थापा, मिट्ठू थापा, अनुज राय, प्रदीप थापा, चुन्ने गुरुंग, राम बहादुर राई, सुनील क्षेत्री, कृष्ण कुमार राना, वीरेंद्र थापा, लील बहादुर राना आदि उपस्थित रहे।

निचलौल संवाददाता के अनुसार कारगिल विजय दिवस पर सोमवार को बैदौली स्थित शहीद कैप्टन मनोज पाण्डेय विद्या मन्दिर के प्रांगण में शहीदों के सम्मान में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। जहां वीरगति को प्राप्त अमर शहीदों को नमन किया गया। इस दौरान कारगिल युद्ध के नायक परमवीर चक्र विजेता शहीद कैप्टन मनोज पाण्डेय के जीवन दर्शन के बारे में बताया गया। इसके साथ युद्ध के दौरान अपने मित्र को लिखे गए उनके आखिरी पत्र को भी पढ कर बच्चों को सुनाया गया। बच्चों में देश-प्रेम व उसके प्रति समर्पण की भावना को अंकुरित करने हेतु उनकी वीरता और साहस को रेखांकित किया गया। इस अवसर पर विद्यालय के संचालक प्रवीण कुमार मिश्र, प्रधानाचार्य डीके वर्मा, शिक्षकगण व अभिभावकगण उपस्थित रहे।

सैनिकों की शहादत को भुलाया नहीं जा सकता

महराजगंज: गोरक्षपीठाधीश्वर महंत अवेद्यनाथ महाविद्यालय, चौक बाजार, कारगिल शहीद दिवस पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान राजनीतिशास्त्र के प्रवक्ता शैलेंद्र कुमार भारती ने कहा कि सैनिक अपनी जान की बाजी लगाकर हमारे देश की सुरक्षा करते हैं। इन्हीं की बदौलत हम और हमारा देश सुरक्षित है। सैनिकों की शहादत को भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि कारगिल की जंग में भारत को मिली सफलता को 22 साल हो गए हैं। भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम का प्रतीक कारगिल विजय दिवस हर साल 26 जुलाई को मनाया जाता है। साल 1999 में कारगिल युद्ध में देश के वीर-जवानों ने पाकिस्तान को धूल चटा दी थी। कारगिल युद्ध में भारतीय सैनिकों ने अपने अदम्य शौर्य और वीरता का परिचय देते हुए पाकिस्तान के करीब तीन हजार सैनिकों को मार गिराया था।

अध्यक्षीय उद्बोधन में महाविद्यालय के प्रचार्य डा. बसंत नारायण सिंह ने कहा कि यह युद्ध 18 हजार फीट की ऊंचाई पर लड़ा गया जो 60 दिनों तक चला और आखिर में पाकिस्तान को मुंह के बल गिरना पड़ा। इसी क्रम में सिद्धार्थ विश्वविद्यालय, कपिलवस्तु, सिद्धार्थनगर द्वारा बी.कॉम. द्वितीय वर्ष का परीक्षाफल घोषित किया गया। जिसमें महाविद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं का परीक्षाफल शतप्रतिशत रहा। कार्यक्रम का संचालन संस्कृत प्रवक्ता डा. मनीषा त्रिपाठी ने किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.