महराजगंज में थानों पर नहीं सुनी जा रही जनता की फरियाद, पीड़ित परेशान

शासन व जिला प्रशासन के आदेशों का असर जिले की पुलिस पर नहीं हो रहा है। इस बात का सख्त आदेश है कि थानों में फरियादियों को न्याय मिलना चाहिए। इसके बावजूद इंसाफ देना तो दूर थानों में सुनवाई तक नहीं हो रही है।

Sat, 23 Oct 2021 06:10 AM (IST)
थानों में इन दिनों जनता की फरियाद नहीं सुनी जा रही है

महराजगंज: जिले के विभिन्न थानों में इन दिनों जनता की फरियाद नहीं सुनी जा रही है। थाने में आने वाले फरियादियों की पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं है। यही वजह है कि फरियारियों की भीड़ एसपी कार्यालय की ओर बढ़ी है। इसका आंकलन एसपी कार्यालय पहुंच रही शिकायतों के आंकड़ों को देखकर लगाया जा सकता है। अक्टूबर के 22 दिनों में जहां कुल 353 फरियादियों ने अपनी शिकायतें दर्ज कराई हैं, वहीं 2021 के 10 माह का आंकड़ा करीब 5008 तक पहुंच चुका है। यह शिकायतें ऐसी हैं, जिसमें फरियादी स्वयं पुलिस कार्यालय उपस्थित होकर न्याय के लिए गुहार लगाता है। इसके अलावा सैकड़ों मामलों में आनलाइन शिकायतें होती रहती हैं। शुक्रवार को भी कुल 15 फरियादियों ने अपनी शिकायत दर्ज कराई। इसमें प्राथमिकी न दर्ज करने, मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपितों को संरक्षण देने आदि मामले सम्मिलित हैं। शासन व जिला प्रशासन के आदेशों का असर जिले की पुलिस पर नहीं हो रहा है। इस बात का सख्त आदेश है कि थानों में फरियादियों को न्याय मिलना चाहिए। इसके बावजूद इंसाफ देना तो दूर, थानों में सुनवाई तक नहीं हो रही है। ऐसी परिस्थिति में आला अफसरों के यहां फरियादियों की भीड़ बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को एसपी कार्यालय में शिकायत करने आए फरियादियों का जिक्र करें तो ठूठीबारी के जमुई कला गांव के दिलीप कुमार मद्धेशिया ने दिए शिकायती पत्र में बताया कि पिछले दिनों उसके साथ हुए विवाद के बाद कोतवाली में पांच लोगों के खिलाफ बलवा आदि की धारा में मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई अब आरोपित पुलिस से मिलकर सुलह समझौता कराने को लेकर धमकी दे रहे हैं। इस मामले में ठूठीबारी पुलिस को भी सूचना दी गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। भिटौली निवासी रामदुलारे गुप्ता ने बताया कि चार माह पहले उनके देसी शराब की दुकान पर तैनात सेल्समैन ने 210 पेटी शराब गायब कर फरार हो गया था। जिस मामले में कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की गई थी। लेकिन चार माह में पुलिस ने प्राथमिकी तक दर्ज नहीं किया। अबतक मैं पांच बार पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र दे चुका हूं जिसका प्रमाण स्वरूप शिकायत पर्ची भी उपलब्ध है। कोल्हुई थाना क्षेत्र के जंगल गुलरिहा गांव निवासी प्रेमशीला पांडेय ने शिकायत करते हुए आरोप लगाया है कि पूर्व में मारपीट मामले में मुकदमा दर्ज कराने के बाद भी आरोपितों पर कार्रवाई नहीं हुई और अब वे मुकदमा वापस लेने को दबाव बना रहे हैं। मुकदमों पर भारी है शिकायतों की संख्या पुलिस विभाग के एफआइआर पोर्टल यूपीकाप के मुताबिक जिले की 19 थानों पर इस वर्ष अभी तक कुल 3630 मुकदमें दर्ज किए गए हैं। इनमें सोहगीबरवा में जहां सबसे कम 11 तो सदर कोतवाली में सर्वाधिक 489 मुकदमें दर्ज हैं। लेकिन शिकायतों की संख्या देखी जाए तो सिर्फ पुलिस आफिस में ही 5008 लोगों ने शिकायतें दर्ज कराई हैं। ''थानों पर ही शिकायतों के बेहतर निस्तारण को लेकर निर्देश दिए गए हैं। व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए बीट पुलिस अफसरों की भी तैनाती की गई है। फिर भी जिन थाना क्षेत्रों से सर्वाधिक शिकायतें आती हैं, वहां पर जांच के बाद कार्रवाई की जाती है। प्रदीप गुप्ता, पुलिस अधीक्षक, महराजगंज

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.