कृषि सुधार बिल के विरोध में विपक्षी दलों ने किया प्रदर्शन

कृषि सुधार बिल के विरोध में विपक्षी दलों ने किया प्रदर्शन
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 11:22 PM (IST) Author: Jagran

महराजगंज: कृषि सुधार बिल के विरोध में विपक्षी दल सपा, कांग्रेस और भाकियू पदाधिकारी व कार्यकर्ता शुक्रवार को सड़क पर उतर आएं। सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर बिल वापस करने की मांग की। साथ ही किसान हित के लिए संघर्ष करने का एलान किया। प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सतर्क रहा। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात रही। ्रकिसान विरोधी है कृषि सुधार बिल: आमिर हुसैन

महराजगंज: कृषि एवं श्रम कानूनों के विरोध में समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष आमिर हुसैन के नेतृत्व में राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन अपर उप जिलाधिकारी को सौंपा गया।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की सरकार किसान विरोधी है। लम्बे समय के संघर्ष के बाद किसानों को जो आजादी मिली थी, वह कांट्रेक्ट खेती से समाप्त हो जाएगी। इस अवसर पर पूर्व विधायक कौशल किशोर उर्फ मुन्ना सिंह, पूर्व विधायक श्रीपति आजाद, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश यादव, वरिष्ठ नेता विजय बहादुर चौधरी, अमीर खान, बिन्द्रेश कनौजिया आदि बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे। किसानों के साथ साजिश रच रही है सरकार: आलोक प्रसाद

महराजगंज: उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग

के चेयरमैन आलोक प्रसाद के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कृषि सुधार बिल के खिलाफ राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अपर उप जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि देश के अन्नदाता किसान तथा खेत मजदूर की मेहनत को चंद पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने की योजना बनाई जा रही है। जिसे हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जिलाध्यक्ष अवनीश पाल ने कहा कि अध्यादेश में न तो खेत मजदूरों के अधिकारों के संरक्षण का कोई प्रावधान है और न ही भूमि जोतने वाले बंटाईदारों के अधिकारों का संरक्षण है। इस दौरान जग्गू प्रसाद, सुभाष पटेल, रेनू गुप्ता आदि उपस्थित रहे। भाकियू कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

महराजगंज: फरेंदा कस्बे में कृषि सुधार बिल को लेकर भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष सुरेशचंद साहनी के नेतृत्व में किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी विष्णु मंदिर तिराहे प्रदर्शन किया। इसके बाद एडीएम कुंजबिहारी अग्रवाल को ज्ञापन सौंपकर तीनों अध्यादेश वापस करने की मांग की। जिलाध्यक्ष ने कहा कि यह बिल किसानों के हित में नहीं है। इस अवसर पर हरिश पांडेय, जगराम चौधरी, राजेंद्र सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.