जिला अस्पताल में दु‌र्व्यवस्था, तड़प रहे मरीज

महराजगंज जिला अस्पताल में दु‌र्व्यवस्था का आलम हावी है। शासन-प्रशासन के निर्देशों के बाद भी मर

JagranFri, 30 Jul 2021 12:29 AM (IST)
जिला अस्पताल में दु‌र्व्यवस्था, तड़प रहे मरीज

महराजगंज: जिला अस्पताल में दु‌र्व्यवस्था का आलम हावी है। शासन-प्रशासन के निर्देशों के बाद भी मरीजों को समुचित चिकित्सकीय सुविधा नहीं मिल पा रही है। ओपीडी तो चालू कर दी गई है। लेकिन गुरुवार को अधिकतर चिकित्सकों के कक्ष खाली रहें। जबकि मरीजों की भीड़ उमड़ी रही। मरीज चिकित्सक के इंतजार में तड़पते रहें, पर जब डाक्टर नहीं मिले तो निराश होकर उन्होंने प्राइवेट चिकित्सकों का सहारा लिया।

सुबह के 10:50 बजे थे। ओपीडी में मरीज और तीमारदारों की भीड़ थी। तीन चिकित्सक व एक फार्मासिस्ट मात्र अपने कक्ष में बैठे मिले, शेष सात कक्ष में कहीं दरवाजा बंद मिला तो कहीं कुर्सी खाली मिली। महिला चिकित्सक के न रहने से कई महिला मरीज उनका इंतजार करती मिलीं। खचरली गांव की सोनकेशा ने बताया कि आज दूसरी बार आई हूं, सोमवार को भी काफी इंतजार के बाद मुझे वापस लौटना पड़ा था। हरखपुरा की गुलइचा देवी ने बताया कि ओपीडी चालू होने के तीन घंटे बाद भी चिकित्सक नहीं आए है। मरीज सुमन अपना एक्स-रे कराने के लिए एक्सरे कक्ष पहुंची जहां एक्सरे - प्लेट न होने की बात बताई गई। पैर में प्लास्टर लगे एक मासूम को उचित स्थान नहीं मिला तो तीमारदार उसे फर्श पर ही लिटा दिए। चौक थाना क्षेत्र के महेशपुर कबेलवा के ओमप्रकाश और मुरारी प्रसाद अपने पिता रामअधारे को स्ट्रेचर पर लेकर इमरजेंसी से ओपीडी की तरफ भटक रहे थे, उन्होंने बताया कि चिकित्सक ने स्ट्रेचर देकर इधर आने को कहा है।

मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. एके राय ने बताया कि ओपीडी चालू कर दी गई है, जो चिकित्सक ओपीडी में नहीं होगा, उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर जवाब-तलब की जाएगी।

-------------------

20 बेड पर मिले 41 बच्चे

: जिला में अव्यवस्था का अंदाजा मात्र इतने से ही लगाया जा सकता है, कि एसएनसीयू वार्ड में स्थित 20 बेड पर 41 बच्चों का पाया गया। उनकी देखरेख के लिए सात स्टाफ नर्सों की ड्यूटी लगाई गई थी।

------------------

कैमरे के बाद भी लापरवाही

: जिला अस्पताल में चिकित्सकों की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। उसकी निगरानी स्वयं सीएमएस करते हैं। सीएमएस कार्यालय में सभी कैमरों का फुटेज लाइव कैद होता है, लेकिन इसके बावजूद चिकित्सकों का गायब रहना, चिकित्सको की मनमानी कों बयां करने के लिए काफी है।

----------------

आवासों पर लगी रही मरीजों की भीड़

महराजगंज: ओपीडी के समय में जिला अस्पताल के पिछले हिस्से में बने चिकित्सकों के आवासों पर अधिकांश मरीजों की भीड़ देखने को मिली। स्थानीय लोगों के अनुसार ओपीडी में बैठने की बजाय चिकित्सक प्राइवेट में मरीजों को देखकर कमाई कर रहे हैं। नटवा के रमेश, परतावल के अवधेश ने बताया कि चिकित्सकों का यह रोज का धंधा बना हुआ है।

--------------------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.