8997 लोगों को लगा टीका, 1136 की हुई कोरोना जांच

आरटीपीसीआर जांच के लिए 553 लोगों का नमूना भेजा गया है। इसमें केएमसी के 200 छात्रों का नमूना जांच के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया कि आरटीपीसीआर जांच से कोरोना और ओमिक्रोन की दोनों जांच हो जाएगी।

JagranThu, 02 Dec 2021 02:20 AM (IST)
8997 लोगों को लगा टीका, 1136 की हुई कोरोना जांच

महराजगंज: जिले में बुधवार को 8997 युवक, महिलाएं और पुरुषों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया और 1136 लोगों की जांच की गई। नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि 8997 लोगों को टीका लगाया गया है। एंटीजन से 583 लोगों की जांच की गई है। आरटीपीसीआर जांच के लिए 553 लोगों का नमूना भेजा गया है। इसमें केएमसी के 200 छात्रों का नमूना जांच के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया कि आरटीपीसीआर जांच से कोरोना और ओमिक्रोन की दोनों जांच हो जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले में बुधवार को भी कोई कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। कुल संक्रमितों की संख्या यथावत 12441 ही है। इसमें 12300 ठीक हो चुके हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या शून्य है। कोरोना से मृत लोगों के आश्रितों को सहायता देने के निर्देश

महराजगंज: मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने कोरोना से मृत लोगों के आश्रितों को शासन द्वारा निर्धारित सहायता देने के कार्यों की वीडियो कांफ्रेसिग के जरिये समीक्षा की और अतिशीघ्र उन्हें इससे लाभान्वित करने का निर्देश दिया।

एडीएम डा. पंकज वर्मा ने बताया कि जिले में अब तक कोरोना से 140 की मृत्यु क सूचना प्राप्त हुई है। इसमें 84 लोगों के स्वजन ने आवेदन किया है। 18 लोगों की धनराशि भेजने की प्रक्रिया चल रही है। 56 लोगों के स्वजन ने अभी आवेदन नहीं किया है। इसके लिए खंड विकास अधिकारियों और पंचायत सचिवों को निर्देशित किया गया है कि वह उनके स्वजन से संपर्क कर आवेदन प्राप्त कर लें, ताकि उन्हें शासन की इस योजना से लाभान्वित किया जा सके। मशीनों को किया गया स्टाल

महराजगंज: कोरोना की आरटीपीसीआर (रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पालीमर्स चेन रिएक्शन) जांच के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय परिसर में बने लैब लैब में मशीनों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। बुधवार को फार्मासिस्ट सत्येंद्र सिंह, नान मेडिकल साइंटिस्ट रंभा तिवारी और सोनाली चंद्रा ने मशीनों को देखा और स्टाल किया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एके श्रीवास्तव ने बताया कि बहुत जल्द ही महराजगंज में भी आरटीपीसीआर जांच शुरू हो जाएगी। सोनौली बार्डर पर 72 लोगों की हुई जांच

महराजगंज: कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के वैश्विक अलर्ट को देखते हुए भारत-नेपाल की सोनौली सीमा पर बुधवार को भारतीय स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा एक जांच केंद्र में जांच जारी रही। स्वास्थ्य विभाग ने एक अस्थाई कैंप लगा कर लोगों की जांच की। तैनात स्वास्थ्य कर्मी नेपाल से भारत आने वाले अस्वस्थ 72 लोगों की जांच की। जिसमें से 72 लोगों की आरटीसीपीआर व एंटीजन जांच की गई। कोई भी संक्रमित नहीं मिला। बार्डर पर स्वास्थ्य टीम की तैनाती अनवरत व अग्रिम आदेश तक कर दी गई है। स्वास्थ्य टीम के सहयोग में एसएसबी जवान व पुलिसकर्मी भी जांच के सहयोग में जुटे रहे और भारत से नेपाल प्रवेश करने वालों के अस्वस्थ व नेपाल में काफी दिन बिता वापस लौट रहे लोगों के चिन्हीकरण में जुटे रहे। सीएमओ अशोक कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि कोविड के फैल रहे नए वैरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दक्षिण अफ्रीका, नेपाल, भारत समेत कुल 14 देशों में अलर्ट जारी किया गया है। जिसके मद्देनजर भारत-नेपाल सीमा पर स्वास्थ्य जांच टीम लगाई गई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.