लाभार्थियों में 1.40 करोड़ का ऋण व 200 टूलकिट वितरित

जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार ने कहा कि इस योजना का उद्देश्य है कि विभिन्न पारंपरिक विधाओं में पारंगत शिल्पियों व कारीगरों को अच्छी ट्रेनिग प्रदान कर उन्हें आवश्यक टूलकिट प्रदान उपलब्ध करा उन्हें इस काबिल बनाना है। जिससे कि वे स्वरोजगार आरंभ कर सकें। यहां मौजूद सभी लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त कर आत्मनिर्भर बने।

JagranSat, 18 Sep 2021 01:29 AM (IST)
लाभार्थियों में 1.40 करोड़ का ऋण व 200 टूलकिट वितरित

महराजगंज: विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश भर में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत प्रशिक्षित लाभार्थियों को टूलकिट और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण का वितरण किया। इसी क्रम में नगर के अतिथि भवन में आयोजित कार्यक्रम में जनपद में प्रशिक्षित 200 लाभार्थियों को टूल किट और अन्य लाभार्थियों को विभिन्न योजना के तहत करीब 1.40 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया। इस दौरान लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री के संबोधन को भी सुना।

जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार ने कहा कि इस योजना का उद्देश्य है कि विभिन्न पारंपरिक विधाओं में पारंगत शिल्पियों व कारीगरों को अच्छी ट्रेनिग प्रदान कर उन्हें आवश्यक टूलकिट प्रदान उपलब्ध करा, उन्हें इस काबिल बनाना है। जिससे कि वे स्वरोजगार आरंभ कर सकें। यहां मौजूद सभी लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त कर आत्मनिर्भर बने।

नगर पालिका परिषद अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल ने कहा कि सरकार लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए विभिन्न योजनाएं चला रही है। उपायुक्त जिला उद्योग अभिषेक प्रियदर्शी ने कहा कि विश्वकर्मा श्रम योजना के चयनित व प्रशिक्षित ट्रेड दर्जी में 25, नाई 50, लोहार 25, बढ़ई 50 तथा राजमिस्त्री में 25 लाभार्थियों को टूल किट दिया गया है। इसी तरह मुद्रा योजना में विभिन्न बैंकों द्वारा 4.50 लाख रुपये ऋण दिया गया। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 50 लाख, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के अंतर्गत 45 लाख तथा ओडीओपी वित्त पोषण सहायता योजना अंतर्गत 40 लाख रुपये की ऋण वितरित की गई है। इस दौरान लीड बैंक मैनेजर सुशील कुमार सहित अन्य अधिकारी व लाभार्थी उपस्थित रहे।

ई-श्रम पंजीकरण में जिले को मिला प्रथम स्थान

महराजगंज: असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले सभी श्रमिकों का राष्ट्रीय स्तर पर डाटा बेस तैयार करने तथा उन्हें ई-श्रम पोर्टल द्वारा यूनिक आइडी कार्ड जारी करने के मामले में महराजगंज जिले ने प्रदेश में बेहतर कार्य किया है। प्रदेश में सर्वाधित 83251 श्रमिकों का पंजीकरण करने पर महराजगंज को प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। उस उपलब्धि पर श्रम प्रवर्तन अधिकारी को मुख्य विकास अधिकारी ने बधाई देते हुए बेहतर पंजीकरण का अभियान जारी रखने का निर्देश भी दिया है।

श्रम प्रवर्तन अधिकारी जितेंद्र कुमार ने बताया कि श्रमिक को यूनिक आइडी कार्ड के माध्यम से भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा असंगठित श्रमिकों के लिए चलाई जा रही व भविष्य में शुरू होने वाली सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा। इससे असंगठित श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा व अन्य कल्याणकारी योजनाओं को बनाने में सुविधा होगी।

आपदा के समय इन असंगठित श्रमिकों की पहचान तथा उन्हें मूलभूत आवश्यक सुविधाएं पहुंचाने में भी डाटा बेस बहुत ही सहयोगी व लाभकारी सिद्ध होगा। जिले के कुल 83251 श्रमिकों ने अबतक पंजीकरण कराया है। इसमें से जहां 72118 श्रमिकों ने ग्राहक सेवा केंद्र से वहीं 11133 लोगों ने स्वयं पंजीकरण किया है। इसके तहत जिले के कुल 83251 श्रमिकों ने पंजीकरण कर प्रदेश में रिकार्ड कायम किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.