सुलतानपुर में जिपंस अर्चना सिंह का फायरिंग करते वीडियो वायरल, पूर्व विधायक की बहन पर मुकदमा दर्ज

सुलतानपुर पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू की बहन हर्ष फायरिंग करने वाला असलहा भी जब्त कर लिया गया। पुलिस ने पूर्व विधायक की बहन का लाइसेंस मांगा है। प्रकरण को लेकर पूर्व विधायक इसे राजनीतिक साजिश बता रहे हैं।

Anurag GuptaWed, 16 Jun 2021 02:40 PM (IST)
अर्चना जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी के लिए भी चुनाव मैदान में उतारने को तैयार हैं।

सुलतानपुर, जेएनएन। इंटरनेट मीडिया पर हर्ष फायरिंग का वीडियो वायरल होने के मामले को पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू की बहन जिपं सदस्य पर मुकदमा दर्ज किया गया है। अवैध शस्त्र रखने व हर्ष फायरिंग के मामले में एफआइआर दर्ज किए जाने के साथ ही असहले का लाइसेंस निरस्तीकरण की भी प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। वार्ड नंबर 24 जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीती निर्दल प्रत्याशी अर्चना सिंह का बंदूक से फायरिंग करने का दो वीडियो इंटरनेट मीडिया पर चल रहा था, जो कि क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गया।

धनपतगंज पुलिस द्वारा स्वत: संज्ञान लेकर मुकदमा दर्जकर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। अर्चना सिंह पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह व धनपतगंज पूर्व ब्लाक प्रमुख बाहुबली यशभद्र सिंह मोनू की बहन हैं। वह जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए भी चुनाव मैदान में उतारने को तैयार हैं। पिछले माह आठ मई को इनके भाई यशभद्र सिंह मोनू के खिलाफ मुकदमा दर्जकर असलह जब्त किया गया था। एसपी डॉ. विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि असलहे का लाइसेंस अर्चना सिंह के नाम नहीं है ताे उनके द्वारा दूसरे के असलहे से फायरिंग करना गैर कानूनी है।

मेरी हत्या हुई तो एसपी होंगे जिम्मेदार: मुकदमा दर्ज होने के बाद एक प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व ब्लाक प्रमुख यशभद्र सिंह ने कहा कि उनकी बढ़ती लोकप्रियता के चलते उन्हें परेशान किया जा रहा है। 

कई जिला पंचायत सदस्य उनकी बहन के साथ हैं और अर्चना का जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीतना लगभग तय हैं। इसलिए भी उनके व उनके परिवारजन पर फर्जी मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। कभी उनकी तलाशी ली जाती है तो कभी उनका पीछा कर परेशान किया जाता है। पुलिस प्रशासन सत्ता पक्ष के इशारे पर काम कर रहा है। ऐसे में यदि उनकी हत्या होती है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी एसपी की होगी और उनके खिलाफ नामजद तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

नारी को अपनी आत्मरक्षा का अधिकार : अर्चना सिंह ने कहा कि हर महिला को अपनी आत्मरक्षा का अधिकार है। घर में असलहा है तो उसे चलाना आना चाहिए। जिस वीडियो को मुकदमे का आधार बनाया गया है वह 2018 का है। इस पर अब होने वाली कार्रवाई से प्रशासन की मंशा का आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.