Video Viral: सीतापुर में नीम के पेड़ से फूटी सफेद दूध जैसी जलधारा, ग्रामीणों ने शुरू की पूजा अर्चना

बिसवां रेंजर सीके पांडेय ने बताया कि, यह भूगर्भ प्रक्रिया लग रही है।

वन रक्षक हिमांशू का कहना है कि वह मौके पर गए थे। नीम के पेड़ से सफेद पदार्थ गिर रहा है। पदार्थ क्या है ये नहीं कहा जा सकता। फारेस्टर छत्रपति सिंह ने भी पेड़ से सफेद पदार्थ गिरने की पुष्टि की है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 08:55 AM (IST) Author: Anurag Gupta

सीतापुर, जेएनएन। सुमरावां में उस समय हंगामा हो गया, जब गांव के विमलेश के दरवाजे पर लगे 15 वर्ष पुराने नीम के पेड़ से दूध जैसा पदार्थ गिरता देखा गया। धार बनकर गिर रहे सफेद पदार्थ को देखने के लिए ग्रामीण मौके पर जमा हो गए। बात फैली तो आसपास गांवों के ग्रामीण भी नीम के पेड़ को देखने पहुंचे। पेड़ के पास अच्छी-खासी भीड़ जमा हो गई। दूध गिरने की बातें हुई तो लोगों ने इसे चमत्कार मानकर पेड़ की पूजा अर्चना शुरू कर दी। पेड़ पर चढ़ावा भी चढ़ा। इसकी फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई। सूचना वन विभाग को भी दी गई।

वन रक्षक हिमांशू का कहना है कि, वह मौके पर गए थे। नीम के पेड़ से सफेद पदार्थ गिर रहा है। पदार्थ क्या है, ये नहीं कहा जा सकता। फारेस्टर छत्रपति सिंह ने भी पेड़ से सफेद पदार्थ गिरने की पुष्टि की है। बिसवां रेंजर सीके पांडेय ने बताया कि, यह भूगर्भ प्रक्रिया लग रही है। इलाहाबाद के वनस्पति विज्ञानी अर्जुन तिवारी को पेड़ की फोटो और वीडियो भेजकर जानकारी मांगी गई है।

डरने की जरूरत नहीं, यह सामान्य प्रक्रिया : कृषि वैज्ञानिक

कृषि विज्ञान केंद्र कटिया के वैज्ञानिक फसल सुरक्षा दयाशंकर श्रीवास्तव बताते हैं कि यह सामान्य प्रक्रिया है। इसे भौतिक विकार कह सकते हैं। इससे डरने की कोई जरूरत नहीं है। कई बार नीम के पेड़ पर अन्य वृक्षों की शाखाएं भी लिपट जाती हैं। कई बार इससे डाल में चोट लगती है तो यह पदार्थ निकल सकता है। वैसे, इसे मैं मौके पर जाकर भी देख लूंगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.