यूपीटीईटी 2021 पेपर लीक प्रकरण की जांच एसटीएफ करेगी, जानें- कब कराई जाएगी रद परीक्षा

UPTET 2021 Cancelled उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 का प्रश्नपत्र रविवार को परीक्षा शुरू होने से पहले ही लीक हो गया। सरकार ने दोनों पालियों की परीक्षा रद कर दी है। इसमें 21 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे अब दोबारा परीक्षा कराई जाएगी।

Umesh TiwariSun, 28 Nov 2021 07:32 PM (IST)
यूपीटीईटी 2021 का प्रश्नपत्र रविवार को परीक्षा शुरू होने से पहले ही लीक हो गया।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 का प्रश्नपत्र रविवार को परीक्षा शुरू होने से पहले ही लीक हो गया। सरकार ने दोनों पालियों की परीक्षा रद कर दी है। इसमें 21 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे, अब एक माह के अंदर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। नई तारीख का ऐलान जल्द होगा। इंटरनेट मीडिया पर पेपर लीक करने वाले 26 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। इस मामले की जांच स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को सौंपी गई है।

प्राथमिक विद्यालयों की शिक्षक भर्ती की अर्हता परीक्षा यूपीटीईटी रविवार को दो पालियों में प्रदेश भर के सभी जिला मुख्यालयों पर शुरू हुई। शनिवार रात से ही कई जिलों में इंटरनेट मीडिया और वाट्सएप आदि पर प्रश्नपत्र व हल पेपर वायरल होना शुरू हो गया थे। गाजियाबाद, मथुरा, बुलंदशहर, प्रयागराज आदि जिलों से पेपर लीक और हल प्रश्नपत्र सामने आने पर कार्रवाई शुरू हुई। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने लोकभवन में पत्रकारों को बताया कि नकल माफिया को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया था। इस मामले में अब तक 26 लोगों को विभिन्न जिलों में गिरफ्तार किया जा चुका है। उनके पास से मोबाइल फोन पर प्रश्नपत्र की फोटोकापी व अन्य संदिग्ध सामान बरामद हुआ है। इसमें बिहार सहित अन्य राज्यों के साल्वर भी पकड़े गए हैं।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गई है। इसमें किसी को बख्शा नहीं जाएगा। हर बिंदु की छानबीन हो रही है। जो भी संगठन, लोग पेपर लीक में लिप्त पाए जाएंगे, उन पर कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि योगी सरकार में सभी परीक्षाएं नकलविहीन हुई हैं। प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा दीपक कुमार ने कहा कि शासन ने परीक्षा की शुचिता व पारदर्शिता बनाए रखने के लिए दोनों पालियों की परीक्षा स्थगित करने का निर्णय लिया है। एक माह के अंदर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। परीक्षार्थियों को दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी और न ही किसी तरह का शुल्क देना होगा। दोबारा परीक्षा का पूरा खर्च सरकार उठाएगी।

पेपर लीक करने वालों पर गैंगस्टर एक्ट से होगी कार्रवाई : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा है कि टीईटी पेपर लीक करने वालों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा और उनकी संपत्ति भी जब्त होगी। त्वरित कार्रवाई की जा रही है, शरारत करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। सरकार अभ्यर्थियों के साथ खड़ी है, एक माह के अंदर परीक्षा होगी। अभ्यर्थियों को दोबारा परीक्षा केंद्रों तक आने-जाने के लिए मुफ्त बस यात्रा की सुविधा दी जाएगी।

परीक्षार्थियों की वापसी के लिए निश्शुल्क बसें : पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने बताया कि परीक्षा रद हुई है, इसलिए सरकार ने परीक्षार्थियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए परिवहन विभाग की बसें लगाई हैं। परीक्षार्थियों को निश्शुल्क वापस भेजने के निर्देश दिए गए हैं। परीक्षार्थी अपना एडमिट कार्ड दिखाकर बिना पैसा दिए बस में यात्रा कर सकते हैं।

परीक्षा एजेंसी की भूमिका व उसे बदलने पर होगा निर्णय : प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने कहा कि एसटीएफ की जांच में परीक्षा एजेंसी की भूमिका सामने आएगी तो उसी के अनुरूप एजेंसी को बदलने सहित अन्य निर्णय लिए जाएंगे। पेपर कहां से लीक हुआ, कौन-कौन लोग इसमें शामिल हैं, इन सवालों के उत्तर तलाशे जा रहे हैं। दोबारा परीक्षा के लिए केंद्र निर्धारण व प्रश्नपत्र बनाए जाएंगे। इसमें समय लगना है, इसीलिए दोबारा परीक्षा एक माह में कराई जाएगी।

पेपर लीक होना दुर्भाग्यपूर्ण : नई शिक्षा नीति कमेटी के सदस्य व पूर्व शिक्षा निदेशक कृष्ण मोहन त्रिपाठी ने कहा कि यूपीटीईटी का पेपर लीक होना गंभीर मामला है, इसमें सरकार को इंगित करना उचित नहीं है। प्रशासन व कई वर्षों का अनुभव रखने वाले विशेषज्ञों को यह ध्यान रखना चाहिए कि 21 लाख से अधिक परीक्षार्थियों की ²ष्टि से प्रश्नपत्रों की सुरक्षा सर्वोपरि है, साथ ही परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले ही उन्हें केंद्रों पर दिया जाए। पेपर लीक होना दुर्भाग्यपूर्ण है।

दोषियों को चिन्हित करके होगी कड़ी कार्रवाई : उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने बताया कि यूपीटीईटी का पेपर लीक हुआ है, दोनों पालियों की परीक्षा तत्काल प्रभाव से रद की गई है। एक महीने के भीतर अभ्यर्थियों से बिना कोई शुल्क लिए परीक्षा कराई जाएगी। एफआइआर करके दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं।

परीक्षा एक नजर में

प्रदेश के 2554 परीक्षा केंद्रों पर 21,65,181 परीक्षार्थी थे पंजीकृत। प्राथमिक स्तर की परीक्षा 2554 केंद्रों पर 12,91628 को होना था शामिल। उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा 1747 केंद्रों पर 8,73,553 को होना था शामिल। पहली पाली 10 से 12.30 बजे। दूसरी पाली 2.30 से 5.00 बजे।

एसटीएफ की गिरफ्त में आए आरोपित

1. अनुराग देश पुत्र अरुण देश थाना मऊरानीपुर झांसी 2. फौजदार वर्मा उर्फ विकास वर्मा पुत्र रामउजागिर रामनगर करनी थाना महरूआ आंबेडकर नगर 3. कौशलेंद्र प्रताप पुत्र रामधीरज राय ग्राम कपासी थाना रौहानी अयोध्या 4. चंदू वर्मा पुत्र प्रकाश वर्मा मऊरानीपुर झांसी 5. रोशन सिंह पटेल पुत्र रामनरेश पटेल निवासी शंकर बाजार थाना कर्वी चित्रकूट 6. मनीष उर्फ मोनू पुत्र देवेंद्र मलिक कोतवाली शामली 7. रवि पुत्र विनोद कांदला निवासी नाला थाना कांदला शामली 8. धर्मेंद्र पुत्र कुंवर पाल निवासी बुडरौडी शामली 9. संदीप पुत्र जैसराज वर्मा ममरखा थाना कूरेभार जिला सुलतानपुर 10. रमेश गुप्ता पुत्र सैजुराज गुप्ता निवासी करौंदी थाना जलालपुर जिला आंबेडकर नगर 11. राजेंद्र पटेल पुत्र इंद्रजीत पटेल निवासी ग्राम जयरामपुर रानीगंज जिला प्रतापगढ़ 12. सन्नी सिंह पुत्र महेश सिंह निवासी खटाही पोस्ट बदगाहा जिला बिहार राज्य बिहार 13. टिंकू कुमार पुत्र शिवनाथ प्रसाद निवासी रेकुना फारम बोधिगया जिला गया राज्य बिहार 14. नीरज शुक्ल पुत्र नागेंद्र प्रसाद शुक्ल निवासी ग्राम चौबे पट्टी थाना रानीगंज जिला प्रतापगढ़ 15. शीतल कुमार पुत्र सुनील कुमार वर्मा निवासी खरंटी थाना बोधगया जिला गया राज्य बिहार 16. धनंजय पुत्र सुदामा प्रसाद निवासी धर्मदेव नगर मानपुर थाना मुफस्सिल जिला गया राज्य बिहार 17. कुनैन राजा पुत्र सरफे मोहम्मद निवासी टेकुना थाना बोधगया जिला गया राज्य बिहार 18. शिवदयाल पुत्र बृज किशोर पांडेय निवासी धुरिया थाना बारून जिला औरंगाबाद राज्य बिहार 19. अनुराग पुत्र सुगेनी प्रसाद निवासी नई बस्ती पोस्ट दल्ला थाना चोपन जिला सोनभद्र 20. अभिषेक सिंह पुत्र अश्विनी सिंह निवासी प्यारेलाल कालोनी बलदाऊगंज थाना कर्वी जिला चित्रकूट 21. सत्य प्रकाश सिंह पुत्र रोहनी प्रसाद सिंह निवासी पटेल नगर थाना शंकरगढ़ जिला प्रयागराज 22. चतुर्भुज सिंह पुत्र त्रिलोकीनाथ सिंह निवासी सेमरी बाघराय थाना कोरांव जिला प्रयागजराज 23. संजय पुत्र देवी प्रसाद निवासी सिरावल थाना कोरांव जिला प्रयागजराज 24. अजय कुमार पुत्र धर्मराज सिंह निवासी पचवह थाना कोरांव जिला प्रयागजराज 25. ब्रह्मशंकर सिंह पुत्र मार्कण्डेय प्रसाद सिंह निवासी पियरी महुली थाना कोरांव जिला प्रयागजराज 26. सुनील कुमार सिंह पुत्र जगपति लाल सिंह हरदिहा थाना खीरी जिला प्रयागराज

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.