अंतर्रराष्ट्रीय महिला दिवस पर रोडवेज करेगा महिलाओं के सशक्तिकरण की पहल, 22 महिला ड्राइवरों को दी जाएगी ट्रेनिंग

लखनऊ में महिलाओं का ट्रेनिंग माडयूल तैयार, कद को देख 22 का हुआ चयन, पांच के लिए अभी मौका।

प्रशिक्षण की ट्रेनिंग अंर्तराष्ट्रीय दिवस के दिन से कानपुर स्थित ट्रेनिंग इंस्टीटयूट में शुरू होगी। ट्रेनिंग में पांच महिलाएं अभी और शामिल हो सकती हैं। कौशल विकास और रोडवेज प्रबंधन के प्रयास से यह मेहनत रंग लाई है। निरंतर महिलाओं की संख्या बढ़ रही है।

Rafiya NazThu, 04 Mar 2021 03:02 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। रोडवेज प्रशासन के लिए यह खबर बेहद उत्साहित करने वाली है। पिंक बसों के लिए लंबे समय से महिला चालकों को ढूंढ रहे परिवहन निगम प्रबंधन को आखिरकार सफलता मिल गई। ड्राइविंग ट्रेनिंग के लिए 22 महिलाओं को चयनित करते उनकी सूची को अंतिम रूप दे दिया गया। प्रशिक्षण की ट्रेनिंग अंर्तराष्ट्रीय दिवस के दिन से कानपुर स्थित ट्रेनिंग इंस्टीटयूट में शुरू होगी। ट्रेनिंग में पांच महिलाएं अभी और शामिल हो सकती हैं। कौशल विकास और रोडवेज प्रबंधन के प्रयास से यह मेहनत रंग लाई है। निरंतर महिलाओं की संख्या बढ़ रही है।

प्रशिक्षण लेकर सशक्त होंगी ये महिलाएं

प्रशिक्षण संस्थान कानपुर के प्रधानाचार्य एसपी सिंह के मुताबिक कानपुर क्षेत्र की सबसे अधिक महिलाएं ड्राइविंग टे्रनिंग में आगे आई हैं।

इनके नाम क्रमश:-

कानपुर क्षेत्र-अनिष्का दोहरे, प्रज्ञा शुक्ला, अंशिका शुक्ला, दिव्या द्विवेदी, नैंसी गुप्ता, सौम्या वाजपेयी, सुमैधा कुशवाहा, आंचल सिंह, आज्ञा रावत, श्वेता वाजपेयी, अंतिमा मिश्रा, यशी अवस्थी, अमिता कमल, गीता सिंह। आगरा क्षेत्र-सोनिया, पूनम शर्मा, संगीता चौहान इटावा क्षेत्र-नाज फातिमा अलीगढ़ क्षेत्र- कुं. मंजू गाजियाबाद क्षेत्र-वेद कुमारी एवं मंजू यादव, विजय लक्ष्मी।

ट्रेनिंग शेडयूल

डेमो क्लास शुरू कौशल विकास मिशन के तहत 200 घंटे की एलएमवी की ड्राइविंग ट्रेनिंग सात महीने की क्लास एलएमवी में पास करने के बाद 400 घंटे की कमर्शियल वाहनों की ड्राइविंग का प्रशिक्षण 17 माह की डिपो में दक्षता का प्रशिक्षण कुल 24 माह का ड्राइविंग शेडयूल डीएल बनवाएगा रोडवेज प्रशासन रोडवेज कार्यशालाओं में उनका हाथ साफ होने के बाद दक्षता परखी जाएगी। डक डयूटी में गाडिय़ों को कार्यशाला में बसों को स्थानांतरित करने का कुछ दिन का काम दिया जाएगा। सह चालक के रूप में बसों पर चलेंगी। संतुष्ट होने के बाद महिलाओं को पिंक बसों की कमान सौंपी जाएगी।

आज आवेदन की अंतिम तिथि

महिला बस चालक की ट्रेनिंग के लिए आवेदन भरे जाने की अंतिम तिथि पांच मार्च है। कक्षा आठ पास पंजीयन के समय 34 वर्ष से कम आयु लंबाई पांच फीट तीन इंच करीब 160 सेमी. प्रशिक्षण अवधि के दौरान सात माह रहना और खाने की सुविधा निश्शुल्क होगी।

जानकारी के लिए मिलाएं ये फोन

9792746532 रामपाल मौर्य एवं एसपी सिंह प्रधानाचार्य मॉडल ड्राइविंग टे्रनिंग एंड रिसर्च इंस्टीटयूट मोबाइल नंबर-9415115316

उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक धीरज साहू ने बताया कि अंतर्रराष्ट्रीय दिवस से महिला टे्रनिंग की शुरुआत होने जा रही है। डेमो क्लासेज चल रहे हैं। महिलाओं की संख्या दिन पर दिन बढ़ रही है। संख्या देख कहा जा सकता है कि जल्द ही दूसरा बैच भी शुरू करना पड़ेगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.