नदियों में शवों को बहाने का मामला: UP पुलिस ने संभाला मोर्चा, उतराते मिले 39 शवों का कराया अंतिम संस्कार

वाराणसी में सात, गाजीपुर में 16, चंदौली में आठ व बलिया में आठ उतराते मिले शवों का अंतिम संस्कार।

पुलिस लगातार कर रही नदियों की पेट्रोलिंग। डीजीपी मुख्यालय स्तर से हो रही मानीटरिंग। अब तक वाराणसी में सात गाजीपुर में 16 चंदौली में आठ व बलिया में आठ शव नदियों में उतराते मिले थे जिनका उचित रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार कराया गया।

Divyansh RastogiTue, 18 May 2021 09:03 AM (IST)

लखनऊ[राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश की नदियों में शवों के उतराते मिलने के बाद पुलिस ने अपनी सक्रियता बढ़ाई है। राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ), पीएसी व पुलिस 24 घंटे नदियों की सघन पेट्रोलिंग कर रही हैं। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि जिलों से मिली रिपोर्ट के अनुसार, अब तक वाराणसी में सात, गाजीपुर में 16, चंदौली में आठ व बलिया में आठ शव नदियों में उतराते मिले थे, जिनका उचित रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार कराया गया है।

गांवों व नदी किनारे प्रचार-प्रसार कर लोगों को नदी में शव न बहाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए शव के अंतिम संस्कार के लिए शासन की ओर से पांच हजार रुपये प्रदान किए जाने की योजना के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

एडीजी ने बताया कि उन्नाव में बक्सर घाट पर लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है। घाट से 100 मीटर की दूरी पर पुलिस चौकी बक्सर व थाना बारासगवर में कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है, जहां से नदी के किनारों की निगरानी की जा रही है। बलिया में गाजीपुर व बिहार की सीमा पर स्थित थाना क्षेत्र नरही के जरिए कड़ी निगरानी की जा रही है ताकि यहां कोई शव का विसर्जन गंगा में न कर सके। वहीं, वाराणसी में जल पुलिस की तीन टीमें लगातार घाटों पर पेट्रोलिंग कर रही हैं। कानपुर में भी पीएसी व एसडीआरएफ की टीमें गंगा नदीं पर लगातार पेट्रोलिंग कर रही हैं। फतेहपुर व चंदौली में भी गंगा के किनारों पर पेट्रोलिंग की जा रही है। गाजीपुर में 18 श्मशान घाटों पर पुलिस व राजस्व की स्टैटिक टीमों की ड्यूटी शिफ्ट में लगाई गई है। थाना सैदपुर से गहमर तक गंगा नदी के तटीय क्षेत्र में 34 टीमें 24 घंटे गश्त कर रही हैं। उत्तर प्रदेश व बिहार की अंतर्राज्यीय सीमा पर थाना गहमर के बारा व देवल, थाना दिलदारनगर के ताजपुर कुर्रा व थाना जमनियां के कर्महरि व देवगढ़ी बार्डर पर भी पुलिस टीमें शिफ्टवार ड्यूटी कर रही हैं।

यूपी के सभी थानों में बनी कोविड हेल्प डेस्क: पुलिस लाइनों व भवनों में कोविड केयर सेंटर की स्थापना के बाद सूबे के सभी 1789 थानों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना की गई है। एडीजी कानून-व्यवस्था के अनुसार इन सभी हेल्प डेस्क पर 24 घंटे प्रशिक्षित पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जा रही है जो हर दिन थाने के स्टाफ के अलावा हर आने जाने वाले के कोरोना लक्षणों की जांच करेगी। इसके लिए सभी थानों में पल्स आक्सीमीटर व 2013 डिजिटल थर्मामीटर भी उपलब्ध कराए गए हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.