UP Panchayat Election Polling: पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में भी हिंसा के बीच करीब 73 फीसद मतदान

फाइनल प्रतिशत सभी जगह पर मतदान होने के बाद ही सामने आएगा।

LIVE UP Panchayat Election 2nd Phase Polling गांव की सरकार चुनने के लिए हो रहे पंचायत चुनाव में सोमवार को प्रदेश के 20 जिलों में दूसरे चरण का मतदान शाम को छह बजे सम्पन्न हो गया। शाम छह बजे तक करीब 73 फीसद मतदान हुआ।

Dharmendra PandeyMon, 19 Apr 2021 07:10 AM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार चुनने के लिए हो रहे पंचायत चुनाव में सोमवार को प्रदेश के 20 जिलों में दूसरे चरण का मतदान शाम को छह बजे सम्पन्न हो गया। कई जगह पर छह बजे तक लाइन में लगने वाले लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। शाम छह बजे तक करीब 73 फीसद मतदान हुआ। इसमें भी गौतमबुद्धनगर में सर्वाधिक 70.20 प्रतिशत और गोंडा में सबसे कम यानी 51 प्रतिशत वोट पड़े थे। कई जिलों में देर रात तक मतदान चलने की संभावना है। फाइनल प्रतिशत सभी जगह पर मतदान होने के बाद ही सामने आएगा। 

प्रदेश में दूसरे चरण के मतदान में 20 जिलों के मतदाताओं ने अपने अधिकार का प्रयोग किया। पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव के साथ ही प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के शिवपाल सिंह यादव और उनके पुत्र ने भी इटावा के सैफई में मतदान किया। इस दौरान कई जगह पर हिंसक झड़प के साथ मारपीट और फायरिंग की भी घटना हुई। पूर्वी की अपेक्षा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मतदाताओं ने इस चुनाव में काफी रूचि ली। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मतदान प्रतिशत से भी उनकी रुचि तथा उत्साह दिख रहा है। 

प्रदेश में शाम को पांच बजे तक मुजफ्फरनगर में 66.05, बागपत में 68.50, गौतमबुद्धनगर में 70.20, बिजनौर में 65.70, अमरोहा में 68.74, बदायूं में 65.60, एटा में 65.22, मैनपुरी में 63.13, कन्नौज 62.90, इटावा में 63.00, ललितपुर में 66.20, चित्रकूट में 55.93, प्रतापगढ़ में 52.14, लखनऊ में 65.90, लखीमपुर खीरी में 63.40, सुलतानपुर में 55.86, गोंडा में 51.00, महराजगंज में 63.88, वाराणसी में 56.00 तथा आजमगढ़ में 58.45 प्रतिशत मतदान हुआ। 

एटा में जमकर बवाल: पंचायत चुनाव में एटा जिले में जगह-जगह हिंसा हुई है। कहीं बैलेट पेपर लूटे गए तो कहीं पोलिंग बूथ में उपद्रव हुआ। यहां के रामपुर के कैला में पोलिंग बूथ पर बवाल के बाद उपद्रवियों ने बूथ से मतपेटी लूटी। इन लोगों ने यहां पर सिपाही को बंधक बनाकर मारपीट की। इसके साथ राजा थाने के कैला बूथ पर जमकर बवाल किया। एटा में निधौली गांव में पंचायत चुनाव के दौरान खूनी संघर्ष हो गया। बेखौफ गुंडों यहां पर दो लोगों को गोली मार दी और फिर फरार हो गए। रामनगर गांव की घटना में घायल दोनों लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गोंडा में भी जमकर मारपीट: गोंडा के इटियाथोक के बेंदुली में पोलिंग बूथ के अंदर मारपीट हुई। यहां पर दो गुटों में जमकर लात-घूंसे चले। यहां पर पहले वोट डालने को लेकर मारपीट की घटना इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। बेंदुली पोलिंग बूथ के इस मामले में पुलिस ने सभी बवाल करने वालों को हिरासत में लिया। इसके साथ ही यहां की खुली गुंडई इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। यहां पर पांच लग्जरी गाडिय़ों से आए बदमाशों ने मकान पर पत्थरबाजी के साथ फायरिंग भी की।

सुलतानपुर के कूरेभार के भटकौली रामापुर में पंचायत चुनाव की वोटिंग में फायरिंग की घटना हुई है। यहां पर फर्जी वोटिंग की शिकायत पर गोली चलने की घटना में दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं। इन दोनों घायलों को लखनऊ रेफर किया गया है। 

अमरोहा में पीठासीन अधिकारियों और कर्मचारियों से मारपीट, मतपत्र की गड्डी लूटी: अमरोहा के हसनपुर के बाईखेड़ा मतदान केंद्र में पोलिंग पार्टी पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया। बूथ संख्या 184 व 185 के पीठासीन अधिकारियों, कर्मचारियों और मतदान अभिकर्ताओं के साथ मारपीट की गई। हमलावर मतपत्र की एक गड्डी लूट कर ले गए। इस दौरान फायरिंग भी हुई। हालांकि, पुलिस फायरिंग की बात से इन्कार कर रही है। घटना की जानकारी पर  सीडीओ चंद्रशेखर शुक्ला, सीओ सतीश चंद्र पांडे समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस आरोपितों की पहचान करने में जुटी है। सीडीओ ने बताया कि 400 में से 185 वोट पड़ चुके थे। मतपत्र सुरक्षित हैं। एक खाली गड्डी को मारपीट करने वाले ले गए हैं। लोकल लोग रहे होंगे, जिन्होंने मतदान अभिकर्ताओं से भी मारपीट की है। मामले की जांच कराई जा रही है। मतदान कुछ देर बाद शुरू करा दिया गया।

शिवपाल सिंह यादव ने भी मतदान किया: इटावा में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने भी मतदान किया। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मतदाता खासा उत्साह दिखा रहे हैं। पहले चरण में 15 अप्रैल को 71 प्रतिशत मतदान होने के बाद आज भी मतदान का ग्राफ बढऩे की ही संभावना है। 

गौतमबुद्धनगर जिला में 48.00 प्रतिशत मतदान: दोपहर में एक बजे तक 37.21 प्रतिशत मतदान: दोपहर में एक बजे तक भी मतदाता पूरे जोश में थे। गौतमबुद्धनगर जिला के वोटरों ने छह घंटे के मतदान में अपने जोश का ग्राफ नीचे नहीं आने दिया। यहां एक मजे तक 48 प्रतिशत मतदान हो गया था। गोंडा में एक बजे तक भी मतदाता उत्साहित नहीं हो सके और सबसे कम 25 प्रतिशत ही वोट पड़े। दोपहर में एक बजे तक मुजफ्फनगर में 40.06, बागपत में 41.07, गौतमबुद्धनगर में 48.00, बिजनौर में 41.02, अमरोहा में 43.20, बदायूं में 36.00, एटा में 36.07, मैनपुरी में 38.05, कन्नौज में 38.02, इटावा में 38.04, ललितपुर में 37.06, चित्रकूट में 30.98, प्रतापगढ़ में 30.37, लखनऊ में 38.00, लखीमपुर खीरी में 39.55, सुलतानपुर में 30.78, गोंडा में 25.00, महराजगंज में 39.05, वाराणसी में 35.00 तथा आजमगढ़ में 39.09 प्रतिशत मतदान हो गया। माना जा रहा है अब दोपहर बाद एक बार फिर लोगों की भीड़ उमड़ेगी। 

20 जिलों में पहले चार घंटे में करीब 22 प्रतिशत मतदान: सोमवार को दूसरे चरण के मतदान के पहले चार घंटे यानी 11 बजे तक करीब 22 प्रतिशत मतदान हो गया है। कई जगह पर छिटपुट झड़प के बीच में भी मतदान बाधित नहीं हो रहा है। 11 बजे तक के मतदान की कुछ जिलों से संपूर्ण जानकारी नहीं मिल पाई है। जिन जिलों की सूचना मिली है। उसमें सर्वाधिक 32.01 प्रतिशत वोट गौतमबुद्धनगर में और सबसे कम 14.40 प्रतिशत मतदान गोंडा में होने की सूचना है। इसके अलावा 11 बजे तक वाराणसी में 23.50 प्रतिशत, महराजगंज में 21.25, अमरोहा में 27.71, मुजफफरनगर में 25.20, आजमगढ़ में 27.00, इटावा में 22.80, बदायूं 22.00, प्रतापगढ़ में 19.91, बिजनौर में 23.09, चित्रकूट में 19.40, बागपत में 27.50 तथा कन्नौज में 11:00 बजे तक 19.70 प्रतिशत मतदान हुआ है। 

कन्नौज में 110 वर्षीया लौंगश्री और इटावा में 100 वर्षीया बैकुंडी देवी ने डाला वोट: प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के मतदान में बुगुर्जों का जोश चरम पर है। सौ वर्ष के पार और इसके नजदीक पहुंच रही महिलाओं ने आज मतदान किया।

कन्नौज के प्राथमिक विद्यालय नगला चौधरी में 110 वर्षीया लौंगश्री ने वोट डाला तो इटावा के जसवन्तनगर के ग्राम राजपुर बूथ पर 100 वर्षीया बैकुंडी देवी और 98 वर्षीया रामश्री ने अपना वोट डाला। कन्नौज में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए 1842 बूथों पर 12,24,763 मतदाताओं की बूथों पर सुबह सात बजे से कतार लगी। मतदान के लिए खासा उत्साह है। महिलाएं भी गांव की सरकार चुनने को खासा उत्साह में हैं। 

सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। बूथ का 200 मीटर क्षेत्र प्रतिबंधित है, जो सुरक्षा कॢमयों के हवाले है। ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य पद के शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे। मतदान कोविड नियमों का पालन कर होना है, लेकिन अधिकांश जगह कोविड नियमों का पालन नहीं हुआ। मतदाता मास्क लगाकर आए, लेकिन शारीरिक दूरी का पालन नहीं हुआ। डीएम राकेश कुमार मिश्रा व एसपी प्रशांत कुमार ने गुगरापुर ब्लाक के चांदापुर व लालपुर बूथ का निरीक्षण किया। किसी तरह की गड़बड़ी नहीं मिली। सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट अपने-अपने बूथों पर तैनात रहे। प्रेक्षक नागेंद्र शर्मा ने भी कई बूथों का निरीक्षण कर हालात परखे।

इटावा के सैफई में यादव परिवार ने किया मतदान, पूर्व सांसद धर्मेंद्र व शिवपाल के बेटे आदित्य ने डाला वोट: उत्तर प्रदेश में लम्बे समय तक राज करने वाले यादव परिवार के लिए इटावा में मतदान नाक का सवाल है। सोमवार को यहां सैफई में बदायूं से पूर्व सांसद धर्मेन्द्र यादव, उनके पिता अभय राम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव के बेटे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव ने भी मतदान किया।

मतदान के बाद धर्मेन्द्र यादव कहा कि इटावा, मैनपुरी, कन्नौज जहां पर भी समाजवादी पार्टी से समर्थित प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं वह सभी जीतेंगे। सैफई में भी सपा समर्थित प्रत्याशी ही विजयी होगा। कोविड के चलते नेताजी मुलायम सिंह यादव व पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव सैफई वोट डालने नहीं आ पाएंगे। 

अखिलेश यादव अब ठीक हैं और वह जल्द ही हम सबके मध्य होंगे। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आदित्य उर्फ अंकुर यादव ने पत्नी राजलक्ष्मी के साथ सैफई में मतदान किया।

इटावा में उत्साह में मतदाता: समाजवादी पार्टी के गढ़ माने जाने वाले इटावा जिले के 1624 मतदान केंद्रों जिला पंचायत सदस्य, प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए सोमवार को सुबह सात बजे से ही मतदान शुरू हो गया। उत्साह के साथ मतदाता बूथों पर पहुंचे और कतार में लगे। यहां पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध सभी जगह पर किए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी श्रुति सिंह व एसएसपी डॉ. बृजेश कुमार सिंह बूथों का निरीक्षण करने के निकले और लोगों को सुरक्षा का अहसास कराया। चुनाव में 9 लाख 48 हजार 225 मतदाता मैदान में हैं। इनमें प्रधान पद के लिए 4076, ग्राम पंचायत सदस्य के लिए 1260 क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए 2156 व जिला पंचायत सदस्य के लिए 226 प्रत्याशी मैदान में हैं। कुल मिलाकर 7718 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। आयोग की प्रेक्षक गरिमा यादव भी केंद्रों पर निरीक्षण करने निकली हैं।

लखनऊ की ग्राम पंचायतों में मतदान: कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच आज राजधानी के 494 ग्राम पंचायतों में मतदान हो रहा है। करीब डेढ़ हजार मतदान केंद्र पर साढ़े दस लाख से अधिक वोटर मतदान करेंगे। मतदान के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो इसके लिय सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त किया है। बीस हजार से अधिक कर्मचारियों को चुनाव कार्य मे लगाया गया है।  जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक चुनाव में किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल लगाया गया है। कोविड प्रोटोकॉल के साथ सभी मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे।  अपर जिलाधिकारी वित्त और राजस्व बिपिन कुमार मिश्रा के मुताबिक संक्रमित वोटर चुनाव के दिन आखिर घंटे में मतदान करेंगे। इस दौरान पीठासीन अधिकारियों को कोविड प्रोटोकॉल के तहत सभी व्यवस्था मुहैय्या करायी जाएगी। 

मैनपुरी में 2085 बूथों पर 12.20 लाख मतदाता: मैनपुरी में जिला, क्षेत्र और ग्राम पंचायत सदस्य के साथ ही ग्राम प्रधान पदों के लिए सोमवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। वोट देने के लिए मतदाताओं में गजब का उत्साह नजर आ रहा है। तय समय से पहले ही अधिकांश बूथों पर मतदाता पहुँच गए। जिले के 2085 बूथों पर शाम छह बजे तक मतदान होगा।  कुल 12.20 लाख वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।  सभी बूथों के बाहर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। लाइन में लगने के बाद ही वोटरों को बूथ के भीतर प्रवेश दिया जा रहा है। डीएम महेंद्र बहादुर सिंह और एसपी अविनाश पांडे और सीडीओ ईशा प्रिया ने विभिन्न बूथों का निरीक्षण किया, जबकि प्रेक्षक अनिल कुमार यादव ने कई बूथों पर व्यवस्थाओं का जायजा लिया, कमियां मिलने पर सुधार को कहा।

अमरोहा में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान: अमरोहा जिले में पंचायत चुनाव कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान चल रहा है। मतदान शांतिपूर्ण और निष्पक्ष कराने के लिए पर्याप्त सशस्त्र पुलिस बल लगाया गया है। पुलिस के जवानों के अतिरिक्त पीएसी, पीआरडी, होमगार्ड के जवान भी तैनात किए हैं। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ, जो शाम छह बजे तक चलेगा। जिले में कुल 597 ग्राम प्रधान और 683 क्षेत्र पंचायत व 27 जिला पंचायत सदस्य पद के लिए चुनाव हो रहा है। पंचायत चुनाव में 10,38,635 मतदाता वोट का प्रयोग करेंगे। प्रशासन ने मतदान के लिए  829 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 1734 बूथ हैं। इनमें 274 मतदान केंद्र सामान्य श्रेणी में रखे गए हैं, जबकि 163 संवेदनशील, 344 अति संवेदनशील और 192 अति संवेदनशील प्लस बूथ बनाए गए हैं। मतदान संपन्न कराने के लिए 7341 कर्मचारी लगाए हैं। मतदान शुरू होने के साथ ही जिला अधिकारी उमेश मिश्र व एसपी सुनीति मतदान केंद्रों के भ्रमण पर निकल गई। कंट्रोल रूम में शिकायतों के निस्तारण के ल‍िए सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट तैनात हैं।

महराजगंज में बिना मास्क मतदान केंद्र में प्रवेश नहीं: महराजगंज में कड़ी सुरक्षा के बीच जिले में सुबह सात बजे से पंचायत निर्वाचन के लिए मतदान शुरू हो गया। संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। बिना मास्क मतदान केंद्र में  किसी को प्रवेश की अनुमति नहीं है। कुल 3028 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। यहां जिला पंचायत सदस्य के 47, ग्राम प्रधान के 882, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 1166 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 11280 पद हैं।

गोंडा में एक बूथ पर आठ बूथ के मतदाता: गोंडा में मतदान केंद्रों पर मतदाताओं का हुजूम उमड़ा है। यहां कोविड गाइडलाइन्स की धज्जियां उड़ रही हैं। यहां के एक बूथ पर आठ बूथों के मतदाता एकत्र हैं। यहां पर पौने 26 लाख मतदाता 4428 मतदान केंद्रों पर वोट डाल रहे हैं। गोंडा में त्रिस्तरीय पंचायतों में विभिन्न पदों पर किस्मत आजमा रहे 21 हजार 936 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला 26 लाख 69 हजार 906 मतदाता तय करेंगे। 16 विकास खंडों के ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान के लिए 1588 मतदान केंद्रों पर 4428 मतदेय केंद्र बनाए गए हैं। जिले की 1214 ग्राम पंचायतों में ही 1588 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, इन्हीं मतदान केंद्रों पर ग्राम प्रधान, सदस्य ग्राम पंचायत, सदस्य क्षेत्र पंचायत और सदस्य जिला पंचायत के लिए मतदान होगा। पंचायत चुनाव में प्रधान पद के लिए 1194 ग्राम पंचायतों में चुनाव होगा। 1194 प्रधान पद के लिए आठ हजार 750 प्रत्याशी, 2084 सदस्य ग्राम पंचायत पद के लिए 5072  प्रत्याशी और 1492 सदस्य क्षेत्र पंचायत पद के लिए सात हजार 292 प्रत्याशी और 65 सदस्य जिला पंचायत पद के लिए 836 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। गोंडा में सात सुपर, 31 जोनल, 231 सेक्टर मजिस्ट्रेट, चार एसडीएम तथा चार एक्स्ट्रा एसडीएम मतदान प्रक्रिया की कमान संभाल रहे हैं। यहां पर डीएम व एसपी भी सभी मतदान केंद्र पर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। 

सुलतानपुर में 1162 मतदान केंद्र: सुलतानपुर में ग्राम प्रधान के 979, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 1136 तथा जिला पंचायत सदस्य के 45 पदों के लिए मतदान हो रहा है। यहां पर 1162 मतदान केंद्र पर 12048 कर्मचारी मतदान करा रहे हैं। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम हैं।  जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत, ग्राम पंचायत सदस्य व ग्राम प्रधान पद के लिए कुल 21053 प्रत्याशी मैदान में हैं। कुल 19 लाख 37 हजार 642 मतदाता इनकी किस्मत का फैसला करेंगे। जिला पंचायत सदस्य के 45 सीटों के लिए 1182 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। प्रधान पद के 8357, क्षेत्र पंचायत सदस्य 6976 व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 4538 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। जिले में मतदान कराने के लिए 1162 पोलिंग स्टेशन व 3012 बूथ बनाए गए हैं। चुनाव की निगरानी के लिए 130 सेक्टर मजिस्ट्रेट व 19 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जिला मजिस्ट्रेट रवीश गुप्ता ने बताया कि मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो गया है, यह शाम को छह बजे तक चलेगा। 

लखीमपुर खीरी में 1165 सीटों के लिए वोटिंग: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में सोमवार को लखीमपुर खीरी जिले में भी मतदान हो रहा है। यहां ग्रह ग्राम पंचायत पद के लिए कुल 1165 सीटों पर चुनाव होगा। जिले के 2776 636 मतदाता अपने ग्राम प्रधान का चुनाव करेंगे।  साथ ही 72 जिला पंचायत सदस्य व 1804 क्षेत्र पंचायत सदस्यों का भी चुनाव सोमवार को ही होगा। खीरी जिले में 1165 ग्राम प्रधानों के पद के सापेक्ष 8000 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं जबकि 72 जिला पंचायत सदस्यों की सीटों के लिए 999 प्रत्याशी ताल ठोक रहे हैं।  इसी तरह 1804 क्षेत्र पंचायत सदस्यों के सापेक्ष 13548 लोग चुनाव लड़ रहे हैं। जिले में 1165 ग्राम पंचायत की सीटों के लिए मतदान के लिए कुल 4495 मतदान स्थल बनाए गए हैं।  इन पर नियंत्रण रखने के लिए 8 स्टार जोनल मजिस्ट्रेट, 15 जोनल मजिस्ट्रेट 163 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात हैं।

सुलतानपुर में 1162 मतदान केंद्र: सुलतानपुर में ग्राम प्रधान के 979, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 1136 तथा जिला पंचायत सदस्य के 45 पदों के लिए मतदान हो रहा है। यहां पर 1162 मतदान केंद्र पर 12048 कर्मचारी मतदान करा रहे हैं। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम हैं। 

बदायूं में 19,38,597 मतदाता : बदायूं में मतदान के 3150 बूथ हैं। जहां पर 19,38,597 मतदाता 1037 प्रधान पदों पर 7095 प्रत्याशी, 51 जिला पंचायत सदस्य सीटों पर 620, क्षेत्र पंचायत सदस्य की 1266 पदों पर 4798 और 12861 ग्राम पंचायत सदस्य सीटों पर 10779 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। 

इन जिलों में मतदान: मुजफ्फरनगर, बिजनौर, बागपत, गौतमबुद्धनगर, एटा, अमरोहा, बदायूं, मैनपुरी, कन्नौज, इटावा, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, गोंडा, सुलतानपुर, महाराजगंज, वाराणसी व आजमगढ़। प्रदेश के 20 जिलों में हो रहे मतदान में चार पदों के लिए कुल 2,33,616 नामांकन हुए थे। जिला पंचायत सदस्य के 787 पदों के लिए 8,024 नामांकन, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19,653 पदों के लिए 56,874 नामांकन हुए थे। वहीं, ग्राम प्रधान के 14,897 पदों के लिए कुल 99,404 लोगों ने दावेदारी की है। इसी तरह ग्राम पंचायत सदस्य के 1,87,781 पदों के लिए महज 69,314 नामांकन ही हुए थे।

पहले चरण में 71 प्रतिशत मतदान : कोरोना संक्रमण काल में भी बीती 15 अप्रैल को पहले चरण में 71 प्रतिशत मतदान हुआ था। सुबह सात बजे शुरू होकर मतदान रात दस बजे तक चला था। प्रदेश में तीसरे चरण का मतदान 25 अप्रैल को और चौथे चरण का 29 अप्रैल को होगा। इसके नतीजे दो मई को आएंगे। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सरकार को 25 मई तक चुनाव की प्रक्रिया को पूर्ण करने का निर्देश दिया है। उसी के अनुपालन में 15 अप्रैल से मतदान कराया जा रहा है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.