UP: स्मार्ट सिटी परियोजना की धीमी प्रगति वाले शहरों के नगर आयुक्त होंगे तलब

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रोजेक्ट मानीटरिंग ग्रुप की बैठक में स्मार्ट सिटी अमृत योजना नमामि गंगे एवं मेट्रो परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा में बताया गया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत 9609.13 करोड़ रुपये की 476 परियोजनाएं स्वीकृत की गयी हैं

Umesh TiwariWed, 16 Jun 2021 08:32 AM (IST)
प्रोजेक्ट मानीटरिंग ग्रुप की बैठक में स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, नमामि गंगे एवं मेट्रो परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा है कि स्मार्ट सिटी परियोजना में जिन शहरों की प्रगति लक्ष्य से कम है उनके नगर आयुक्तों से स्पष्टीकरण लिया जाए। परियोजनाओं के निर्माण में विलंब होने पर जन सामान्य को उसका लाभ मिलने में देरी होती है। इसलिए आगामी महीनों में कार्यों में गति लाकर समय पर निर्माण कार्य पूरा किया जाए। उन्होंने नगर विकास विभाग के अधिकारियों को इसकी समीक्षा के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रोजेक्ट मानीटरिंग ग्रुप की बैठक में स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, नमामि गंगे एवं मेट्रो परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा में बताया गया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत 9609.13 करोड़ रुपये की 476 परियोजनाएं स्वीकृत की गयी हैं, जिनमें मई, 2021 तक 397 की डीपीआर एवं 343 परियोजनाओं के टेंडर अनुमोदित किए गए हैं। इनमें 299 के वर्क आर्डर भी जारी किए जा चुके हैं। अब तक 92 परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं। लखनऊ में 48 में 45, वाराणसी में 48 में 48, आगरा में 19 में 19, कानपुर में 46 में 32, प्रयागराज में 81 में 74, बरेली में 61 में 56, झांसी में 59 में से 55, अलीगढ़ में 33 में 28, सहारनपुर में 45 में से 21 और मुरादाबाद में 36 में से 21 परियोजनाओं की डीपीआर अनुमोदित हो चुकी हैं।

अमृत योजना की समीक्षा में बताया गया कि 12506.17 करोड़ रुपये लागत की 289 परियोजनाओं की डीपीआर अनुमोदित की गई है। 270 टेंडर स्वीकृत किए जा चुके हैं। 121 परियोजनाएं पूरी कर ली गयी हैं तथा 149 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है। जलापूर्ति की 167 परियोजनाओं में से 87 पूर्ण हैं तथा 80 का कार्य प्रगति पर है। सीवरेज की 103 परियोजनाओं में 34 पूर्ण तथा 69 का कार्य चल रहा है। जलापूर्ति की एक तथा सीवरेज की आठ परियोजनाएं टेंडर प्रक्रिया में हैं।

नमामि गंगे योजना की समीक्षा में बताया गया कि 10493.80 करोड़ रुपये लागत की 46 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं, जिनमें 21 परियोजनाएं पूर्ण तथा 19 परियोजनाओं का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। पांच परियोजनाएं टेंडर प्रक्रिया में है तथा एक नई परियोजना स्वीकृत की गई है। नमामि गंगे योजना में अब तक 3413.06 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं।

मेट्रो परियोजनाओं की समीक्षा में बताया गया कि कानपुर मेट्रो का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। गीता नगर मेट्रो स्टेशन के लिए रेलवे की 174 वर्गमीटर भूमि की आवश्यकता है, जिसकी डिमांड भेज दी गयी है। आगरा मेट्रो का निर्माण भी प्रगति पर है। बैठक में अपर मुख्य सचिव नगर विकास डा. रजनीश दुबे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.