गंगा में मिली नवजात बच्ची की देखभाल करेगी यूपी सरकार, CM योगी आदित्यनाथ ने नाविक को किया धन्यवाद

Newborn Girl Found In Ganga उत्तर प्रदेश के गाजीपुर शहर के ददरीघाट के पास गंगा नदी में लकड़ी के बॉक्स में मिली नवजात बच्ची की देखभाल योगी सरकार करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नाविक गुल्लू मल्लाह ने बालिका को बचाकर मानवता का अनुपम उदाहरण पेश किया है।

Umesh TiwariWed, 16 Jun 2021 03:19 PM (IST)
गाजीपुर के ददरीघाट के पास गंगा नदी में लकड़ी के बॉक्स में मिली नवजात बच्ची की देखभाल योगी सरकार करेगी।

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर शहर के ददरीघाट के पास गंगा नदी में लकड़ी के बॉक्स में मिली नवजात बच्ची की देखभाल योगी सरकार करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नाविक गुल्लू मल्लाह ने बालिका को बचाकर मानवता का अनुपम उदाहरण पेश किया है। इसके लिए प्रदेश सरकार उन्हें धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आवास की सुविधा देगी। इसके अलावा सीएम योगी ने अन्य पात्र योजनाओं से भी उसे तत्काल लाभान्वित कराने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि इस बच्ची का चिल्ड्रेन होम में अच्छे से पालन किया जाएगा।

एक मां ने जाने किस लाचारी में अपनी 21 दिन की नवजात बच्ची को लकड़ी के छोटे से बाक्स में रखकर गंगा में बहा दिया। सोमवार सुबह गाजीपुर के ददरीघाट के पास गुल्लू मल्लाह ने गंगा में तैरता बाक्स निकाला तो उसमें चुनरी में लिपटी एक बच्ची मिली। गुल्लू ने बच्ची को सीने से लगाया और अपने घर ले गए। हालांकि सूचना मिलने पर पुलिस ने बच्ची को अपने संरक्षण में ले लिया। फिलहाल चाइल्ड लाइन ने बच्ची को जिला महिला चिकित्सालय स्थित एसएनसीयू में भर्ती कराया है।

गंगा में कूद पड़े गुल्लू और निकाल लगाए बॉक्स : गाजीपुर के ददरीघाट निवासी गुल्लू मल्लाह नौका संचालित करने के साथ ही वह गंगा की पूजा करने आई महिलाओं का सहयोग भी करते हैे। रोज की तरह सोमवार सुबह दस बजे वह घाट पर ही थे। तभी कुछ लोगों ने बताया कि गंगा में एक बाक्स बहता हुआ जा रहा है और उसमें से बच्चे के रोने की आवाज आ रही है। यह सुनकर गुल्लू गंगा में कूद पड़े और बाक्स को खींचकर बाहर ले आए। मौके पर तब तक काफी भीड़ जुट चुकी थी।

लकड़ी के बॉक्स में रो रही थी बच्ची : गुल्लू मल्लाह ने बाक्स खोला तो सभी हैरान रह गए। एक नवजात बच्ची जोर-जोर से रो रही थी। उसे चुनरी में लपेटा गया था। बाक्स में मां दुर्गा के चित्र के साथ एक पत्र भी था, जिस पर लिखा था-'मां गंगा, आपको कन्यादान कर रही हूं।' पत्र में ऊपर 'ओम' और 'जय मां दुर्गा' लिखा था। नीचे बच्ची का जन्मदिन 25 मई, 2021 दर्ज है। साथ ही उसकी राशि, नक्षत्र, राशि का नाम व मन्नत का जिक्र है। गुल्लू बच्ची को अपने घर ले आए। उनके छोटे भाई की पत्नी ने अपना दूध पिलाया तो बच्ची चुप हो गई।

गुल्लू मल्लाह ने प्रशासन को लिखा पत्र : एक बेटी और दो बेटों के पिता गुल्लू इस बच्ची को बेटी की तरह अपनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि गंगा की सेवा करते पूरा जीवन कट गया। मां गंगा ने मुझे इस बच्ची के रूप में अपना आशीर्वाद दिया है, लेकिन पुलिस इसके लिए तैयार नहीं है। इतना कहकर वह फफक पड़ते हैं। उन्होंने इस संबंध में प्रशासन को पत्र लिखा है और जिलाधिकारी मंगला प्रसाद से भी मुलाकात की है।

भेजा जाएगा शिशु गृह प्रयागराज : बाल कल्याण समिति की संरक्षक गीता श्रीवास्तव ने बताया कि बच्ची को पुलिस ने चाइल्ड लाइन को सौंप दिया है। फिलहाल बच्ची को जिला महिला अस्पताल के एसएनसीयू में भर्ती कराया गया है। वह पूरी तरह ठीक है। चाइल्ड लाइन उसे बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत करेगी। बाल कल्याण समिति उसे शिशु गृह प्रयागराज भेजेगा। बच्ची जिसकी है, वह बाल कल्याण समिति के सामने सुबूत पेश कर उसे ले जा सकता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.