UP Board Exam 2021: अंक सुधार परीक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी, नकल रोकने के लिए तैनात होगी एसटीएफ

UP Board Marks Improvement Exam यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की 18 सितंबर से शुरू हो रही अंक सुधार परीक्षा 2021 के लिए शासन के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। परीक्षा के दौरान नकल पर प्रभावी तरीके रोक लगाने और प्रश्नपत्रों की सुरक्षा के कड़े निर्देश दिए गए हैं।

Umesh TiwariTue, 14 Sep 2021 07:55 PM (IST)
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की अंक सुधार परीक्षा।

लखनऊ, जेएनएन। UP Board Marks Improvement Exam: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की 18 सितंबर से शुरू हो रही अंक सुधार परीक्षा 2021 के लिए शासन के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। परीक्षा के दौरान नकल पर प्रभावी तरीके रोक लगाने और प्रश्नपत्रों की सुरक्षा के कड़े निर्देश दिए गए हैं। जिले में बनाए गए कंट्रोल रूम की मदद से लाइव वेब टेलीकास्टिंग की मदद से परीक्षा केंद्रों की निगरानी होगी। परीक्षा केंद्रों पर कोविड प्रटोकाल का भी सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है। 

यूपी बोर्ड के वर्ष 2021 के घोषित परिणाम से असंतुष्ट परीक्षार्थियों के लिए अंक सुधार परीक्षा हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की एक साथ होगी। परीक्षा की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। मंगलवार को मुख्य सचिव आरके तिवारी ने परीक्षा की तैयारियों की समीक्षा की और किसी भी कीमत पर नकल न होने देने के पुख्ता इंतजाम के निर्देश दिए। वहीं कोरोना प्रोटोकाल का भी सख्ती से पालन कराने को कहा। अति संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर नकल रोकने के लिए एसटीएफ तैनात की जाएगी। नकल पर शिकंजा कसने के लिए जरूरत के अनुसार एलआइयू द्वारा भी निगरानी कराई जाएगी।

अंक सुधार परीक्षा में कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन कराने के लिए परीक्षा केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग होगी। परीक्षा केंद्रों को सैनिटाइज किया जाएगा और दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का सख्ती से पालन कराया जाएगा। सभी परीक्षार्थियों, शिक्षकों व कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाना होगा। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे व वायरस रिकार्डर लगाए जाएंगे। प्रश्नपत्र भी सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में ही रखे जाएंगे।

जिले में बनाए गए कंट्रोल रूम की मदद से लाइव वेब टेलीकास्टिंग की मदद से परीक्षा केंद्रों की निगरानी होगी। अगर किसी परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी कैमरा काम नहीं कर रहा तो तत्काल कंट्रोल रूम की मदद से सचल दस्तों को इसकी जानकारी दी जाएगी और फिर इसकी जांच होगी। परीक्षा केंद्रों के आसपास लाउडस्पीकर का प्रयोग प्रतिबंधित रहेगा। परीक्षा केंद्रों पर 50 प्रतिशत कक्ष निरीक्षक बाहरी होंगे। दूसरे स्कूलों के शिक्षकों को यहां कक्ष निरीक्षक बनाकर भेजा जाएगा। परीक्षा केंद्र पर मोबाइल फोन ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा। कक्ष निरीक्षकों के पहचान पत्र बनाए जाएंगे और उन्हें आधार कार्ड रखना अनिवार्य होगा।

बता दें कि कि यूपी बोर्ड की वर्ष 2021 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं कोरोना के कारण नहीं हो पाईं थी और सभी छात्रों को उत्तीर्ण घोषित कर दिया गया था। अब ऐसे विद्यार्थी जो विभिन्न विषयों में मिले नंबर से संतुष्ट नहीं हैं तो वह अंक सुधार परीक्षा में शामिल होंगे। यह परीक्षा 18 सितंबर से लेकर छह अक्टूबर तक चलेगी। परीक्षा में करीब 70 हजार विद्यार्थी शामिल होंगे। अपर मुख्य सचिव (माध्यमिक शिक्षा) आराधना शुक्ला ने बताया कि परीक्षा में नकल होने की शिकायत टोल फ्री नंबर 18001805310 व 18001805312 और मोबाइल नंबर 9415866899 पर वाट्सएप के माध्यम से की जा सकेगी।

एक किलोमीटर के दायरे में बंद रहेंगी फोटो कापी की दुकानें : अंक सुधार परीक्षा के लिए बनाए गए परीक्षा केंद्रों के आसपास एक किलोमीटर के दायरे में फोटो कापी व फैक्स की दुकानें बंद रहेंगी। परीक्षा के दौरान यह दुकानें नहीं खुलेंगी, ताकि पर्चा लीक होने की संभावना न रहे। पुलिस इसकी निगरानी करेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.