UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा फार्म भरने की तारीख फिर बढ़ी, अब 15 दिसंबर तक मुफ्त करें आवेदन

UP Board Exam 2022 यूपी बोर्ड की परीक्षा के लिए फार्म भरने की तारीख एक बार फिर बढ़ा दी गई है। वर्ष 2021 की अंक सुधार परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले परीक्षार्थियों को छोड़कर इसी वर्ष के प्रोन्नत सभी पंजीकृत परीक्षार्थी 15 दिसंबर तक फार्म भर सकेंगे।

Umesh TiwariPublish:Fri, 26 Nov 2021 10:19 PM (IST) Updated:Fri, 26 Nov 2021 10:19 PM (IST)
UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा फार्म भरने की तारीख फिर बढ़ी, अब 15 दिसंबर तक मुफ्त करें आवेदन
UP Board Exam 2022: यूपी बोर्ड परीक्षा फार्म भरने की तारीख फिर बढ़ी, अब 15 दिसंबर तक मुफ्त करें आवेदन

प्रयागराज [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की बोर्ड परीक्षा के लिए फार्म भरने की तारीख एक बार फिर बढ़ा दी गई है। वर्ष 2021 की अंक सुधार परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले परीक्षार्थियों को छोड़कर इसी वर्ष के प्रोन्नत सभी पंजीकृत परीक्षार्थी 15 दिसंबर तक फार्म भर सकेंगे। ये सभी परीक्षार्थी 2022 की बोर्ड परीक्षा में निश्शुल्क शामिल हो सकेंगे। उत्तीर्ण होने का प्रमाणपत्र-सह अंकपत्र 2021 का ही दिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पाण्डेय ने निर्देश जारी कर प्रदेश भर के माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों को कहा है कि नवीन संशोधित तिथि के अनुरूप कक्षा-10 और कक्षा-12 के परीक्षा फार्म आनलाइन भराया जाना सुनिश्चित कराएं। अभी यह तिथि 20 नवंबर थी। फार्म भरे जाते समय कोविड गाइडलाइन का पालन कराने के निर्देश भी दिए हैं।

विनय कुमार पाण्डेय ने ने स्पष्ट किया है कि वर्ष 2021 की कक्षा 10 व कक्षा 12 की मुख्य परीक्षा में पंजीकृत हुए छात्र और छात्राओं के आवेदन निश्शुल्क लिए जाएंगे। इन दोनों कक्षाओं की अंक सुधार परीक्षा के अनुत्तीर्ण परीक्षार्थियों से भी कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। अंक सुधार परीक्षा के उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को वर्ष 2022 की परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अवसर नहीं दिया जाएगा।

कक्षा नौ और 11 में पंजीकरण 15 दिसंबर तक : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने बोर्ड परीक्षा फार्म भरने की तारीख बढ़ाने के साथ कक्षा नौ और कक्षा 11 में प्रवेश के लिए छात्र-छात्राओं के अग्रिम पंजीकरण की तारीख भी बढ़ाकर 15 दिसंबर कर दी है। यह तिथि अभी 20 नवंबर थी। बढ़ी तिथि के मुताबिक छात्र-छात्राओं के प्रवेश सुनिश्चित करने के निर्देश प्रदेश भर के माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों को दिए गए हैैं।