UP: साइबर फ्राड के मामले में ATS की छापेमारी, जासूसी रैकेट से जुड़े अपराधियों के तार

बड़े गिरोह के बारे में अहम जानकारियां हाथ लगी। संभल, अमरोहा व मुरादाबाद में चल रही छानबीन।

बड़े गिरोह के बारे में अहम जानकारियां हाथ लगी। संभल अमरोहा व मुरादाबाद में चल रही छानबीन। खासकर कुछ सिम कार्ड डीलरों के यहां छानबीन की जा रही है। आर्थिक अपराध के बड़े मामले की शिकायत पर एटीएस ने अपनी छानबीन के कदम बढ़ाए हैं।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 01:34 AM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) को साइबर फ्राड की घटनाएं करने वाले बड़े गिरोह के बारे में अहम जानकारियां हाथ लगी हैं। एटीएस ने इस गिरोह के सदस्यों तक पहुंचने के लिए शुक्रवार को संभल, अमरोहा व मुरादाबाद में कई स्थानों पर छापेमारी की है। खासकर कुछ सिम कार्ड डीलरों के यहां छानबीन की जा रही है। आर्थिक अपराध के बड़े मामले की शिकायत पर एटीएस ने अपनी छानबीन के कदम बढ़ाए हैं। 

साइबर अपराधियों के तार जासूसी रैकेट से भी जुड़े बताए जा रहे हैं। साइबर अपराधियों का यह नेटवर्क कई देशों से जुड़ा है। सूत्रों का कहना है कि चंदौसी व हसनपुर में सिम बेचने वाले कुछ कारोबारियों से लंबी पूछताछ भी की गई है। संदेह के घेरे में आए करीब छह युवकों से भी अलग-अलग पूछताछ की जा रही है। 

उल्लेखनीय है कि एटीएस ने बीते दिनों पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के आरोप में हापुड़ से पूर्व सैनिक सौरभ शर्मा व उसे जासूसी के बदले रकम उपलब्ध कराने वाले अनस गितैली को गुजरात से पकड़ा था। दोनों से पूछताछ चल रही है। आइजी एटीएस जीके गोस्वामी का कहना है कि साइबर फ्राड से जुड़े बड़े मामले में छापेमारी की गई है। अभी छानबीन चल रही है। जल्द पूरे मामले का राजफाश किया जाएगा। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.