यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाता सूची पुनरीक्षण तेज, 20 दिसंबर से पहले कराएं निस्तारण

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिया है कि विधान सभा चुनाव के लिए मतदाता सूची के संक्षिप्त पुनरीक्षण के दौरान प्राप्त सभी मतदाता फार्मों को बीएलओ समय से आवंटित कराएं और समयबद्ध ढंग से उनका त्रुटिरहित निस्तारण करा लिया जाए।

Dharmendra MishraPublish:Wed, 08 Dec 2021 11:23 AM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 11:23 AM (IST)
यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाता सूची पुनरीक्षण तेज, 20 दिसंबर से पहले कराएं निस्तारण
यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाता सूची पुनरीक्षण तेज, 20 दिसंबर से पहले कराएं निस्तारण

लखनऊ, राज्य ब्यूरो।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिया है कि विधान सभा चुनाव के लिए मतदाता सूची के संक्षिप्त पुनरीक्षण के दौरान प्राप्त सभी मतदाता फार्मों को बीएलओ समय से आवंटित कराएं और समयबद्ध ढंग से उनका त्रुटिरहित निस्तारण करा लिया जाए। मतदाता सूची पुनरीक्षण के दौरान प्राप्त दावे व आपत्तियों का 20 दिसंबर से पहले फील्ड सत्यापन कराकर उन्हें निस्तारित करने के लिए कहा है।

विधान सभा चुनाव के लिए मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण से सम्बंधित ङ्क्षबदुओं और तैयारियों को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारियों व उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंङ्क्षसग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए कार्ययोजना तैयार कर ली जाए। उन्होंने सभी सभी जिलों में एक से दो दिव्यांग आईकान बनाने के निर्देश दिये, जिससे कि दिव्यांगजनों का मतदान प्रतिशत बढ़ाया जा सके। मतदान मशीनों के रखरखाव पर उन्होंने विशेष ध्यान देने के लिए कहा। सभी मतदान केंद्रों पर मतदान मशीनों के संचालन के प्रशिक्षण पर भी उन्होंने जोर दिया। उन्होंने कहा कि विधान सभा चुनाव के लिए सभी आवश्यक सामग्री की समय से व्यवस्था करने के लिए शीघ्र कार्ययोजना तैयार की जाए।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने विधान सभा चुनाव के लिए कोविड-19 महामारी के दृष्टिकोण से भी गाइडलाइन के अनुरूप व्यवस्थाओं का आंकलन करने व उन्हें समय से पूरा करने के निर्देश दिए। वीडियो कान्फ्रेंङ्क्षसग में अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी डा.ब्रह्मदेव राम तिवारी व प्रमोद उपाध्याय, विशेष कार्याधिकारी निर्वाचन रमेश चंद्र राय आदि मौजूद थे।