थ्री व्हीलर ऑटो यूनियन ने लखनऊ में कोविड मरीजों के लिए शुरू की निश्शुल्क ऑटो एम्बुलेंस सेवा, हेल्पलाइन नंबर जारी

लखनऊ में निश्शुल्क ऑटो एम्बुलेंस सेवा कोविड मरीजों के लिए फ्री सेवा की शुरुआत हुई।

लखनऊ ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर संघ अब कोविड मरीजों की मदद को आगे आया है। स्प्रेड स्माइल संस्था के साथ मिलकर संघ ने राजधानी में मंगलवार से पांच निश्शुल्क ऑटो एंबुलेंस सेवा की डालीबाग स्थित कार्यालय से शुरुआत कर दी है।

Rafiya NazTue, 11 May 2021 05:59 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना काल में परेशान मरीजों के लिए लोग मदद का हाथ बढ़ाने लगे हैं। एंबुलेंस संचालकों की मनमानी देख लखनऊ ऑटो रिक्शा थ्री व्हीलर संघ अब मदद को आगे आया है। स्प्रेड स्माइल संस्था के साथ मिलकर संघ ने राजधानी में मंगलवार से पांच निश्शुल्क ऑटो एंबुलेंस सेवा की डालीबाग स्थित कार्यालय से शुरुआत कर दी है। इससे जरूरतमंद कोविड मरीज हाॅस्पिटल तक पहुंच सकेंगे। इस सेवा में कोरोना के मरीजों के लिए ऑक्सीजन सपोर्ट भी होगा। लेकिन मरीज या उसके तीमारदार को इसे स्वयं ही लगाना होगा। यह सेवा घर से अस्पताल तक मरीजों को मुफ्त में उपलब्ध होगी।

संस्था की प्रमुख स्वाति और लाॅर्ट्स के अध्यक्ष पंकज दीक्षित ने संयुक्त रूप से बताया कि यह सुविधा शहरी क्षेत्र के मरीजों के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहेगी। इसमें कोविड मरीज को घर से लेकर ऑक्सीजन सपोर्ट पर ऑटो से अस्पताल तक पहुंचाया जा सकेगा। वहां मरीज को छोड़कर ऑटो एंबुलेंस वापस चली जाएगी।

पीपीई किट पहन चलाएंगे चालक ऑटो एंबुलेंस: इस ऑटो एंबुलेंस में ऑक्सीजन का सपोर्ट रहेगा। चालक माॅस्क, फेस शील्ड, ग्लब्स और सैनेटाइटर का इस्तेमाल करेंगे। मरीज को ले जाते वक्त चालक पीपीई किट पहन कर एंबुलेंस का संचालन करेंगे।ऑनलाइन डॉक्टर कंसल्टेशन की भी सुविधा इसमें देने का दावा किया गया है।

हेल्पलाइन नंबर: राजधानी में इस सुविधा के लिए जरुरतमंद लोग इन हेल्पलाइन नंबर का प्रयोग करें।

9956899866, 7307574739 और 9415756308 मोबाइल नंबरों पर संपर्क कर ऑटो बुक होगी।की जाएगी। फिर वह मरीज के बताए पते पर पहुंचेगी, वहां से मरीज को लेने के बाद अस्पताल छोड़कर वापस हो जाएगी।

एक ऑटो एंबुलेंस पर 25 हजार रुपये का आएगा खर्च: एक ऑटो एंबुलेंस तैयार करने में तकरीबन 25 हजार रुपये का खर्चा आ रहा है। इसमें गैस सिलेंडर, रेगुलेटर, ईंधन, चालक समेत अन्य खर्च। ऑटो महासंघ के अध्यक्ष पंकज दीक्षित बताते है कि अन्य लोगों से भी सहयोग मांगा जा रहा है। अगर मदद को हाथ आगे बढ़े तो और ऑटो एंबुलेंस चलाई जाएंगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.