लोहिया संस्थान के तीन उपद्रवी छात्र न‍िलंब‍ित, हॉस्टल से निकाला गया lucknow news

लखनऊ, जेेेेेेएनएन। लोहिया संस्थान में तीन एमबीबीएस छात्रों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं उन्हें हॉस्टल से भी निकाल दिया गया है। इसके बाद प्रदर्शन कर रहे कर्मचारी शांत हुए। साथ ही गुरुवार को प्रस्तावित हड़ताल को भी टाल दिया गया।

दरअसल, लोहिया संस्थान के एमबीबीएस छात्रों ने मंगलवार सुबह जमकर उत्पात मचाया। पर्चा काउंटर पर तैनात संविदाकर्मी को घसीट कर छात्रों ने पीटा। इसमें कई कर्मी घायल हो गए। चार-पांच बार हो चुकीं वारदातों को लेकर कर्मियों ने संस्थान प्रशासन पर सख्त एक्शन लेने की मांग की। मगर, मंगलवार को जांच होने तक कार्रवाई से इन्कार कर दिया।

इसके बाद बुधवार को कर्मी दो बजे से दोबारा प्रशासनिक भवन पर जुटे। उन्होंने मारपीट, तोडफ़ोड़ करने वाले छात्रों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। साथ ही गुरुवार से हड़ताल पर जाने का एलान किया। इस दौरान स्थाई कर्मी भी संविदा कर्मियों के साथ में खड़े हो गए। इसके बाद संस्थान प्रशासन हरकत में आया। शाम छह बजे कार्रवाई का एलान किया।

वीडियो फुटेज खंगाला, जांच में तय होगी निलंबन की अवधि

मामला बढ़ता देख घटना के दिन का वीडियो फुटेज खंगाला गया। ऐसे में तोडफ़ोड़ व मारपीट करने वाले वर्ष 2018 के एमबीबीएस के तीन छात्रों को चिन्हित किया गया। प्रवक्ता डॉ. विक्रम के मुताबिक, छात्र अवनीश यादव, लोकेश कुमार व जीतू पांडेय को निलंबित कर दिया गया। उनसे हॉस्टल भी खाली करा लिया गया। अब निलंबन की अवधि जांच के बाद तय होगी। वहीं जांच के बाद अन्य छात्रों पर भी गाज गिर सकती है। उधर जांच कमेटी में संविदा कर्मचारी संघ के प्रतिनिधि को भी शामिल करने की मांग की गई।

कक्षा छोड़कर आए थे दर्जनों छात्र

घटना के समय एमबीबीएस छात्रों की कक्षाएं चल रही थीं। इस दौरान सभी क्लास छोड़कर मारपीट की घटना हो अंजाम दिया। डीन ने संबंधित मसले पर नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.