लखनऊ की सौ साल पुरानी कॉलोनी में तीन मंजिला इमारत ग‍िरी, भूतल पर रह रहे युवक की मौत

Building collapses in Lucknow रिवर बैंक कॉलोनी में गिरी तीन मंजिला इमारत। किराए पर रहे 23 वर्षीय युवक गौरव त्रिवेदी की मौत। सुबह छह बजे के करीब हुआ हादसा चाचा ज्ञानी के साथ रहता था गौरव। घटना की सूचना म‍िलते ही प्रशासन ने राहत कार्य शुरू करा द‍िया।

Anurag GuptaWed, 23 Jun 2021 11:52 AM (IST)
Building collapses in Lucknow: लखनऊ में रिवर बैंक कॉलोनी में गिरी तीन मंजिला इमारत।

लखनऊ, जेएनएन। Building collapses in Lucknow:  नगर निगम की रिवर बैंक कॉलोनी में बुधवार को हादसा हो गया। कॉलोनी में सेवा सदन नाम की तीन मंजिला बिल्डिंग गिर जाने से एक युवक की मौत हो गई। यह युवक बिल्डिंग के भूतल पर रहता था। पुरानी व जर्जर बिल्डिंग होने से यह हादसा हुआ है। मृत युवक का नाम गौरव त्रिवेदी है। युवक यहां अपने चाचा ज्ञानी के साथ रहता था। घटना की सूचना म‍िलते ही प्रशासन ने राहत कार्य शुरू करा द‍िया। हादसे की सूचना म‍िलते ही मौके पर मंत्री ब्रजेश पाठक भी पहुंच गए। पुलिस ने रेस्क्यू के लिए SDRF (राज्य आपदा मोचन बल) की टीम को बुलाया। करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद टीम ने मलबे के नीचे से युवक के शव को बाहर निकाला। 

रिवर बैंक कालोनी में बना गोमती सदन काफी जर्जर हालत में था। इस इमारत के अगले हिस्से में प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले गौरव त्रिवेदी अपने चाचा ज्ञानी त्रिवेदी के साथ रहते थे। पुलिस ने बताया कि गौरव बाहर वाले कमरे और ज्ञानी अंदर वाले कमरे में सोते थे। सुबह करीब 7 बजे बाहर वाले कमरे की छत अचानक ढह गई।  SDRF की टीम ने कड़ी मशक्कत कर गौरव को बाहर निकाला, लेकिन तब तक गौरव की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

करीब सौ साल पुरानी इस कॉलोनी के कई भवन जर्जर हो चुके हैं, लेकिन नगर निगम की तरफ से उसकी मरम्मत के प्रयास नहीं किए गए। एक समय पॉश कॉलोनी के रूप में पहचान रखने वाली रिवर बैंक कॉलोनी में अलग-अलग ब्लॉक बने हैं। जिस बिल्डिंग में यह घटना हुई है। वह तीन मंजिला थी, जिसमे से ऊपर के दो मंजिला फ्लैट बंद थे। बंद फ्लैट और पुरानी इमारत होने से बारिश के पानी का जमाव हो रहा था, जो घटना का कारण बना। इस घटना की सूचना पाते ही जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश और नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी मौके पर पहुंच गए। नगर निगम के अधिशासी अभियंता एपी तिवारी का कहना है कि रिवर बैंक कॉलोनी से अलग भाग में तीन मंजिला यह भवन था, जो गोमती सदन के नाम से था। इस भवन के ऊपर के दो मंजिल बंद थे और नीचे परिवार रहता था। ऊपर का भाग गिरने से नीचे परिवार के साथ रह रहे युवक की मौत हो गई।

बिल्डिंग की मरम्मत की मांग की जा रही थी

इस बिल्डिंग में रहने वाले ज्ञानी त्रिवेदी लंबे समय से भवन की मरम्मत की मांग कर रहे थे और कई बार धरना भी दे चुके थे। इस हादसे में मरने वाला युवक ज्ञानी त्रिवेदी का भतीजा था, जो मूल रूप में रायबरेली बछरावा के मुबारकपुर राजा मऊ गांव का निवासी है। मृतक युवक के पिता की तबीयत ठीक नहीं रहती है और परिवार में दो बहनें हैं। वह यहां केकेसी में स्नातक की पढ़ाई कर रहा था। ज्ञानी त्रिवेदी के पिता राम प्यारे त्रिवेदी पूर्व कार्यवाहक प्रधानमंत्री गुलजारी लाल नंदा के निजी सचिव रहे थे। यह परिवार यहां लंबे समय से रह रहा था।

पूरी बिल्डिंग गिराएगा नगर निगम

नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी का कहना है कि रिवर बैंक कॉलोनी से जुड़ा यह भवन था, जिसका ऊपरी भाग गिरा है। उसके बगल के भवन को भी गिराया जाएगा। साथी ही पूरी कॉलोनी में बिल्डिंग का परीक्षण कराया जाएगा कि वह रहने लायक है कि नहीं। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.