Jhansi Strawberry Festival: बुंदेलखंड में घर की छत से शुरू हुआ स्ट्रॉबेरी का उत्पादन, दृढ़ इच्छाशक्ति से सब संभव: मुख्यमंत्री

स्ट्रॉबेरी महोत्सव का शुभारंभ करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ

Jhasni Strawberry Festival मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह तो हमारे बुंदेलखंड के किसानों के परिश्रम का परिणाम है। मैं इसके लिए सभी किसान बंधुओं को हृदय से बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन कार्य घर की छत से प्रारम्भ किया गया था।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 01:28 PM (IST) Author: Dharmendra Pandey

लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने सरकार आवास से आज स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आगाज किया। झांसी में करीब एक महीने तक चलने वाले इस महोत्सव के आयोजकों के साथ ही झांसी के सांसद, विधायक तथा प्रदेश सरकार के मंत्रीगण व अधिकारियों को इस बड़े आयोजन के लिए अपनी शुभकामना भी दी। यह महोत्सव 16 फरवरी तक एक माह चलेगा।  

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से स्ट्रॉबेरी महोत्सव का शुभारंभ करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि झांसी में अगले एक माह तक चलने वाला स्ट्रॉबेरी महोत्सव चमत्कार से कम नहीं है। बुंदेलखंड की धरती पर स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन हो रहा है। बुंदेलखंड के बारे में प्रदेश और देश की जो धारणा थी उसे इस महोत्सव के माध्यम से एक नया संदेश दिया जा रहा है। बुंदेलखंड में एक नई पहचान दिलाने का काम करेगा। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज तो तय हो ही गया कि बुंदेलखंड में सब कुछ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह तो हमारे बुंदेलखंड के किसानों के परिश्रम का परिणाम है। मैं इसके लिए सभी किसान बंधुओं को हृदय से बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन कार्य घर की छत से प्रारम्भ किया गया था। इसके बाद बढ़ाकर इसे वहां के खेतों में रोपित किया गया।

अब यह एक महोत्सव के रूप में पूरे झांसी व बुंदेलखंड में एक नई पहचान दिलाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के नागरिकों में कार्य करने की दृढ़ इच्छाशक्ति है। यहां की उर्वरा भूमि में सोना उगलने की क्षमता है लेकिन इस प्रतिभा को उचित मंच नहीं मिल पा रहा था। आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के नागरिकों में कार्य करने की दृढ़ इच्छाशक्ति है। यहां की उर्वरा भूमि में सोना उगलने की क्षमता है लेकिन इस प्रतिभा को उचित मंच नहीं मिल पा रहा था। आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है। 

बुंदेलखंड की धरती पर स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन हो रहा है। बुंदेलखंड के बारे में प्रदेश और देश की जो धारणा थी उसे इस महोत्सव के माध्यम से एक नया संदेश दिया जा रहा है। मुझे विश्वास है कि स्ट्रॉबेरी महोत्सव पूरे बुंदेलखंड के किसानों के लिए नई प्रेरणा का केंद्र बिंदु बनेगा। यह किसानों की आमदनी को कई गुना बढ़ाने के साथ ही मार्केट की मांग के अनुरूप आपूर्ति करने में सहायक साबित होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखंड व उत्तर प्रदेश में काफी उर्वरा भूमि है। हमारे पास सरफेस वॉटर पर्याप्त मात्रा में है। हम खेती को ड्रिप इरिगेशन प्रणाली से जोड़कर आज की क्षमता से तीन गुना अधिक सिंचाई क्षमता विकसित कर सकते हैं। स्ट्रॉबेरी महोत्सव में झांसी सभी प्रमुख होटल-रेस्टोरेंट व होम-बेकर्स फ्रेश स्ट्रॉबेरी से बनने वाले 100 से भी ज्यादा व्यंजन तैयार करेंगे। इस महोत्सव के जरिए प्रशासन का यह भी उद्देश्य है कि बुंदेलखंड के किसान स्ट्रॉबेरी की खेती में रुचि लें व इससे होने वाले लाभ को जानें और बुंदेलखंड के किसान भी आत्मनिर्भर व सम्पन्न बन सकें।

उत्तर प्रदेश के इतिहास में आज पहली बार स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन हो रहा है। आज उत्तर प्रदेश के अनेक स्थानों पर स्ट्रॉबेरी की खेती हो रही है। स्ट्राबेरी की खेती और मार्केटिंग पर लखनऊ में केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान (सीआईएसएच) भी बेहतरीन काम कर रहा है।  

स्ट्रॉबेरी की फसल देख केंद्रीय कृषि विवि के कुलपति भी गदगद

कुलपति, रानी लक्ष्मीबाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय झांसी, अरविंद कुमार ने बताया कि आज से झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन किया गया।

यहां पर मुझे फसल देखने का मौका भी मिला। बुंदेलखंड में पहली बार इस तरह का प्रयास किया गया है। यहां स्ट्रॉबेरी की बहुत संभावनाएं हैं, फल का अच्छा वजन प्राप्त हुआ है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.