top menutop menutop menu

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, विपक्ष की आवाज दबाने में लगा सरकारी तंत्र, टीम इलेवन पर निशाना

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के साथ स्वास्थ्य सेवाओं की लचर स्थिति के लिए मुख्यमंत्री की टीम इलेवन पर निशाना साधते हुए समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि सरकारी तंत्र विपक्ष की आवाज दबाने में लगा है। उन्होंने कहा कि अपराधियों को संरक्षण, भाजपाइयों को अपराध में आरक्षण और जनता के लिए संघर्षशील समाजवादियों पर झूठे मुकदमे दर्ज कराना ही भाजपा का रामराज्य है। 

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को जारी बयान में आरोप लगाया कि भाजपा शासनकाल में भ्रष्टाचार और संवेदनहीनता आम बात है। ध्वस्त कानून व्यवस्था के मोर्चे पर भाजपा अपनी नाकामी छिपाने के लिए विपक्ष पर आरोप मढ़ देती है। नृशंस अपराधी अपनी गतिविधियां बेखौफ चलाते हैं और सरकारी तंत्र सोता रहता है। अखिलेश यादव ने सवाल किया कि सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि कानपुर का अपराधी किसके संपर्क में रहा। कौन सत्ताधीश उससे मिलने आते थे।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि अपराधियों को संरक्षण, भाजपाइयों को अपराध में आरक्षण और जनता के लिए संघर्षशील समाजवादियों पर झूठे मुकदमे दर्ज कराना ही भाजपा का रामराज्य है। उन्होंने मुरादाबाद में सपा सांसद डॉ. एसटी हसन, चार विधायकों, एक पूर्व विधायक समेत 50 कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दायर करने का औचित्य जानना चाहा।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि मेरठ में 2500 रुपये लेकर कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट देने का गोरखधंधा चल रहा है। सफाई कर्मियों को कोरोना योद्धा घोषित कर उन्हें मालाएं पहनाने वालों को शर्म आनी चाहिए कि उन्नाव में उन्हेंं कई माह से वेतन नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की टीम-इलेवन की तरह नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और प्रशासन के अधिकारी दायित्वों के निर्वहन में टालमटोल करने लगे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.