यूपी में इंटरनेशनल स्किल यूनिवर्सिटी बनाने का प्रस्ताव, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मिले कौशल विकास मंत्री

प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा व कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से नई दिल्ली में मिले। दोनों नेताओं के बीच युवाओं का कौशल विकास व रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध कराये जाने पर सहमति भी बनी है।

Rafiya NazSat, 31 Jul 2021 11:08 AM (IST)
कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मिले ।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। यूपी में बनने वाले जेवर एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, इलेक्ट्रानिक सिटी व लाजिस्टिक सिटी में बड़े पैमाने पर रोजगार मिलने की संभावनाओं को देखते हुए इंटरनेशनल स्किल यूनिवर्सिटी बनाने की पहल की गई है। साथ ही इंडियन इंस्टीट्यूट आफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च को स्थापित किये जाने की भी मांग हुई है। प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा व कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से नई दिल्ली में मिले। दोनों नेताओं के बीच युवाओं का कौशल विकास व रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध कराये जाने पर सहमति भी बनी है।

मंत्री अग्रवाल ने यूपी में युवाओं के प्रशिक्षण, कौशल की गुणवत्ता बढ़ाने की कार्ययोजना पर चर्चा करते हुए नई शिक्षा नीति के तहत प्राइमरी स्टेज से ही शिक्षा को रोजगारपरक बनाये जाने का अनुरोध किया, ताकि पीएम के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार किया जा सके। उन्होंने हेल्थ सेक्टर में ट्रेङ्क्षनग लेने के इच्छुक अभ्यर्थियों की अधिक संख्या को देखते हुए लक्ष्य एक लाख को बढ़ाने पर जोर दिया। अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने, उन्हें स्वरोजगार के प्रति प्रेरित करने व उनके कौशल विकास के लिए चलाई जा रही योजनाओं के माध्यम से युवा प्रदेश के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं।

डिफेंस कारिडोर के अलीगढ़ नोड में 1200 करोड़ का निवेश प्रस्तावित: डिफेंस इंडस्ट्रियल कारिडोर के अलीगढ़ नोड में अब तक कुल 22 कंपनियों को भूमि आवंटित की जा चुकी है। इन कंपनियों की ओर से 1200 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश प्रस्तावित है।यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने शुक्रवार को यहां यूपीडा मुख्यालय में यह जानकारी दी। वह डिफेंस कारिडोर के अलीगढ़ नोड में रक्षा और एयरोस्पेस उपकरणों के पुर्जे बनाने की मैन्युफैक्चरिंग व असेंबली इकाई की स्थापना के लिए यूपीडा और मेसर्स इंडियन डाइकास्टिंग इंडस्ट्रीज, अलीगढ़ के बीच हुए समझौते के बाद मीडिया से मुखातिब थे। कंपनी की ओर से पांच करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है और इससे प्रत्यक्ष रुप से 75 लोगों का रोजगार उपलब्ध होगा। मेसर्स इंडियन डाइकास्टिंग इंडस्ट्रीज पहले से ही ईसीआइएल हैदराबाद के लिए पुर्जे और मेसर्स हिंदुस्तान एयरोनाटिकल लिमिटेड के अन्य एंकर आपूॢतकर्ताओं के निर्माता भी हैं। समझौता ज्ञापन पर यूपीडा सीईओ और कंपनी के मैनेजिंग पार्टनर अंशुमान ने हस्ताक्षर किए। यूपीडा के सीईओ ने कंपनी को जल्दी भूमि उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.