UP Board exam: 15 किमी की दूरी तय कर लड़कियां दे रही हैं परीक्षा

लखनऊ, जेएनएन। बोर्ड परीक्षा सेंटर निर्धारण में जमकर मनमानी की गई। एक तरफ जहां छोटे भाई के स्कूल का सेंटर बड़े भाई के विद्यालय में भेजने का खेल किया गया। वहीं छात्राओं को स्वकेंद्र के बजाए 15 किमी दूर भेज दिया गया।

रामा कॉन्वेंट विद्यालय बीकेटी विकासखंड के हनुमंतपुर गांव में है। यहां 12 विद्यालयों का सेंटर भेजा गया। यह विद्यालय, बीकेटी, इटौंजा, मुसपिपरी, खंसारी, महोना, कुम्हरावां, आमानीगंज समेत तमाम इलाके के हैं। इन विद्यालयों की सेंटर से दूरी पांच से लेकर 15 किमी तक है। छात्राओं को स्वकेंद्र की सुविधा तो मिली ही नहीं। वहीं 15 किमी दूर आंवटित हुए परीक्षा केंद्र से अभिभावकों के लिए भी परेशानी बन गए हैं।

अंधेरे में निकलता बेटी को लेकर

बघहा निवासी महेश्वर की बेटी सरिता कक्षा 10 में है। चंद्रशेखर इंटर कॉलेज में महोना में पढ़ रही बेटी का सेंटर रामा कॉन्वेंट भेज दिया गया। महेश्वर के मुताबिक सुबह आठ बजे का पेपर होता है, तो घर से पांच बजे अंधेरे में ही निकलना पड़ता है। रास्ता ठीक न होना व तबियत ठीक न होने से करीब 15 किमी का सफर में तीन घंटे लगते हैं।

बाराबंकी बॉर्डर से पड़ता है आना

ऐसे ही एमटीएन विद्यालय मुसपिपरी बाराबंकी के बॉर्डर पर है। पीएम पब्लिक स्कूल भी मुसपिपरी का है। यहां के विद्यार्थियों का सेंटर भी रामा कॉन्वेंट भेज दिया गया। इनकी दूरी भी 15 किमी के करीब पड़ती है। रामा में करीब 770 छात्रा परीक्षा के लिए भेजे गए हैं।

अभिभावकों की अफसरों पर नाराजगी

अभिभावक रामकुमार भी बेटी पूजा का पेपर 15 किमी दूर रामा कॉन्वेंट दिलाने आते हैं। ऐसे ही शिवपुरी निवासी देशराज को ज्योति को लेकर रामा कॉन्वेंट आना पड़ता है। बोर्ड की इस व्यवस्था से दोनों काफी नाराज है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.