रायबरेली में समाजवादी पार्टी ने भाजपा पर लगाया आरोप, गुंडे जबरिया कर रहे गरीबों की भूमि पर कब्जे

चकबंदी के विरोध को लेकर रायबरेली के गुनावर कमंगलपुर गांव में पुलिस पिटाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस के बाद बुधवार को समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल गांव पहुंचा। पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा के गुंडों द्वारा गरीबों की भूमि पर कब्जा किया जा रहा है।

Vikas MishraWed, 23 Jun 2021 04:28 PM (IST)
रायबरेली में समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधि मंडल ने भाजपा पर गरीबों की जमीन कब्जा करने के आरोप लगाए।

रायबरेली, जेएनएन। चकबंदी के विरोध को लेकर गुनावर कमंगलपुर गांव में पुलिस पिटाई का मामला धीरे-धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। मंगलवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू के दौरे के बाद बुधवार को समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल गांव पहुंचा। एक-एक कर ग्रामीणों से अलग-अलग उनकी पीड़ा सुनी और आश्वस्त किया कि समाजवादी पार्टी उनके साथ है। पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा के गुंडों द्वारा गरीबों की भूमि पर जबरिया कब्जा किया जा रहा है। 

प्रतिनिधिमंडल में शामिल विधायक एवं पूर्व मंत्री डॉ मनोज पांडे ने कहा कि लोहिया जी ने भूमिहीनों को जमीन दिलाने का कार्य किया, लेकिन भाजपा सरकार में गरीबों की जमीन छीनी जा रही है। ग्रामीणों के साथ जिन पुलिसवालों ने मारपीट की है उनके खिलाफ जनता की ओर से एफ आइआर दर्ज होनी चाहिए। उन्होंने कहा सरकारें आती जाती रहती हैं, लेकिन लोकतंत्र बचा रहना चाहिए। भारत का संविधान एवं कानून भी बचा रहना चाहिए। जानकारी में आया है कि चकबंदी के नाम पर ग्रामीणों का शोषण किया जा रहा है। जिनके ऊपर सुरक्षा की जिम्मेदारी थी, उन्होंने ही लोगों के साथ खिलवाड़ किया है। दो दो-चार बिस्वा जमीन वालों के ऊपर कार्यवाही करके उनको भूमिहीन बनाने का कार्य किया जा रहा है।

एमएलसी सुनील यादव साजन ने कहां की भारतीय जनता पार्टी के गुंडों द्वारा पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक समाज के लोगों की जमीन पर जबरन कब्जा किया जा रहा है। गरीब लोग पीड़ित हैं। यहां के अलावा ऐसा पूरे प्रदेश में हो रहा है। गांव में सन्नाटा है। लोगों में भय व्याप्त है। इस आतंक के बावजूद लोग अपनी लड़ाई लड़ रहे हैं।समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने हम लोगों को भेजा है। उन्होंने कहा कि ऐसा तो आजादी के पहले की राजशाही में होता था की किसी की जमीन पर कब्जा कर लो। बगैर किसी का नाम लिए उन्होंने कहा कि गुंडों की सूची बना रहे हैं। ऐसे लोगों की मदद करने वाले अधिकारियों की भी सूची की बनाई गई जा। सपा नेताओं ने मामले की उच्च स्तरीय जांच और कार्रवाई की मांग की है। साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि ग्रामीणों का उत्पीड़न न रुका तो समाजवादी पार्टी आंदोलनात्मक रुख अपनाएगी। प्रशासन किसी दबाव से मुक्त होकर किसानों, गरीबों की मदद करे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.