लखनऊ में कोरोना कंट्रोल रूम की हकीकत: ग्राहक सेवा केंद्र पर फोन करने के लिए धन्यवाद के साथ के साथ कटा पांच मिनट में फोन...

लखनऊ में निजी अस्पतालों की मनमानी वसूली पर अधिकारी चुप।

प्रशासन की ओर से भले ही एक निजी अस्पताल को अधिकतम 18 हजार रुपये प्रतिदिन इलाज के नाम पर लेने का नियम बनाया हो लेकिन मनमानी रुक नहीं रही है। दैनिक जागरण ने एक बार फिर कंट्रोल रूम को फोन कर पड़ताल की तो हकीकत सामने आ गई।

Rafiya NazSat, 17 Apr 2021 08:42 AM (IST)

लखनऊ [जितेंद्र उपाध्याय]। प्रशासन की ओर से भले ही एक निजी अस्पताल को अधिकतम 18 हजार रुपये प्रतिदिन इलाज के नाम पर लेने का नियम बनाया हो, लेकिन मनमानी रुकने का नाम नहीं ले रही है। शुक्रवार को दैनिक जागरण ने एक बार फिर कंट्रोल रूम को फोन कर पड़ताल की तो हकीकत सामने आ गई। कोरोना संक्रमित मरीजों को शिफ्ट करने का चिकित्सकों का नंबर नहीं उठा तो प्रशासनिक अधिकारी सचिव एलडीए पवन गंगवार मोबाइल नंबर-7081178600 पर शाम 5:23 बजे फोन किया गया, लेकिन घंटी तो गई फोन नहीं उठा। दूसरे प्रशासनिक अधिकारी नजूल अधिकारी आनंद कुमार सिंह के मोबाइल नंबर-9918002678 शाम 5:27 बजे फोन किया। उनका फोन उठ गया, तो बताया गया कि गोमतीनगर के एक निजी अस्पताल में प्रमोद गुप्ता भर्ती है, 18 हजार प्रतिदिन के हिसाब से सरकारी आदेश के बाद 60 हजार रुपये प्रतिदिन की बात कही गई है, तो उन्होंने कहा कि क्या हुआ उनका पैसा तो निकल आएगा। एक दो दिन रुक जाइए, बलरामपुर व केजीएमयू में जब बेड बढ़ेगा तो शिफ्ट करा देंंगे। आज तो कतई नहीं हो सकता। बेसिक शिक्षा अधिकारी के मोबाइल नंबर-9453004033 पर शाम 5:34 बजे फोन किया गया। ओमेक्स में रहने वाले रिश्तेदार को हास्पिटल में कैसे भर्ती कराएं तो उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी के मोबाइल नंबर 9454465461 पर बात करने बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया। शाम 5:42 बजे मुख्य विकास अधिकारी को फोन किया, लेकिन फोन नहीं उठा। गुरुवार को कंट्रोल रूम की सह प्रभारी ऋतु सुहास को शाम 5:55 बजे फोन करके ओमेक्स में रहने वाले रिश्तेदार को भर्ती कराने के लिए कहा गया तो उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर रिपोर्ट भेजिए भर्ती कराते हैं।

फिर हमारे सभी कॉलर अभी व्यस्त हैं, आपके कॉल का जल्द उत्तर दिया

शाम 5:43 बजे , कोविड कंट्रोल रूम का नंबर 0522-4523000 पर फोन किया तो 24 नंबर पर प्रतीक्षा से शुरू होकर दो नंबर तक आया और फिर हमारे सभी कॉलर अभी व्यस्त हैं, आपके कॉल का जल्द उत्तर दिया जाएगा।

हेलाे डाक्टर सेवा में होता रहा स्वागत, नहीं आए डाक्टर

शाम 4:56 बजे हेलो डाक्टर सेवा के नंबर-05223515700 पर फोन करते रहे, लेकिन लखनऊ स्मार्ट सिटी लिमिटेड के हेलो डाक्टर सेवा में स्वागत होता रहा, रेप्रेजेंटेटिव से बात कराने की रिकाॅर्डिंग सुनाने के बाद ग्राहक सेवा केंद्र पर फोन करने के लिए धन्यवाद के साथ पांच मिनट में फोन कट गया। 

कोरोना संक्रमित मरीजों को शिफ्ट करने का चिकित्सकों का नंबर फिर नहीं उठा।

पहली शिफ्ट (सुबह 8 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक)

समय 2:52

99105 12672: डा. श्रुति गौतम को कई बार कॉल की गई, मगर उनका नंबर नहीं लगा। समय 2:53 9044404784 : डा. अनिल कुमार का नंबर स्विच ऑफ था। समय 2:54 9919990212: डा.उमेश सिंह का नंबर स्विच ऑफ था। समय 2:55 9415797572: डा.रश्मि श्रीवास्तव को कई बार कॉल की गई, मगर वो हर बार फोन काट दे रही थी। समय 2:57 9453136256: डा.सीमा सिंह को कई बार कॉल की गई। उनका फोन आधे घंटे तक व्यस्त रहा। मगर कॉल रिसीव नहीं की। 

समय 2:59

8604270858: डा.अनुपमा को भी कई बार कॉल की गई। मगर कॉल रिसीव नहीं की। दूसरी शिफ्ट में (अपरान्ह 3 बजे से रात 11 बजे तक) डा.रवि पांडेय-7007111277-पूरी घंटी गई, लेकिन फो। नहीं उठा, समय शाम 5:05 बजे। डा.नवनीत बंसल-9406776112- नंबर व्यस्त है, प्रतीक्षा करें या थोड़ी देर बाद फोन करें, समय शाम 5:11 बजे डा.झरना रस्तोगी-7007490701- घंटी जाते ही नंबर बिजी बताने लगा,समय शाम 5:13 बजे डा.जयंत-7052267739- नंबर नेटवर्क कवरेज क्षेत्र से बाहर बता रहा,समय शाम 5:14 बजे डा.चंद्रकांता-7608991531-नंबर उपयोग में नहीं है नंबर चेक कर लें,समय शाम 5:16 बजे डा.रेखा यादव-738897959- नंबर में एक अंक कम है,समय दोपहर 3: 15 बजे डा.शगुफ्ता-9198620433- नंबर व्यस्त रहा,समय शाम 5:17 बजे डा.जहरुद्दीन-7876394771-नंबर स्विच ऑफ था,समय शाम 5:18 बजे डा.बृजीत दुबे-9839229048-घंटी जाती रही, लेकिन फोन नही उठा,समय शाम 5:19 बजे डा.शबीना यासमीन-81279045559-नबर उपयोग में नहीं है,समय शाम 5:20 बजे डा.कुतुब जमा-8542193393-क्षमा करे ये सेवा अभी उपलब्ध नहीं है,समय शाम 5:22 बजे

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.