अयोध्या पर मेहरबान सरकार, छह पैकेज में बनेगा 84 कोसी परिक्रमा मार्ग, दो की बजाय चार लेन होगा चौड़ा

अयोध्या के समग्र विकास में जुटी सरकार राम वन गमन मार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किये गए 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के निर्माण को शीर्ष प्राथमिकता देगी। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने राम वन गमन मार्ग का निर्माण जल्दी शुरू करने का निर्देश दिया है।

Umesh TiwariTue, 03 Aug 2021 10:51 PM (IST)
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राम वन गमन मार्ग का निर्माण जल्दी शुरू करने का निर्देश दिया है।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। अयोध्या के समग्र विकास में जुटी सरकार राम वन गमन मार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किये गए 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के निर्माण को शीर्ष प्राथमिकता देगी। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने राम वन गमन मार्ग का निर्माण जल्दी शुरू करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि 84 कोसी परिक्रमा परिपथ का निर्माण छह पैकेज (हिस्सों) में किया जाएगा। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के लिए 30 मीटर की बजाय 45 मीटर की चौड़ाई में भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा। यह मार्ग दो लेन की बजाय चार लेन का बनाया जाएगा।

अयोध्या के विकास के साथ 84 कोसी परिक्रमा तथा राम वन गमन मार्ग सहित अन्य बिंदुओं को लेकर मंगलवार को नई दिल्ली में गडकरी की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में गडकरी ने कहा कि सरकार अयोध्या के चहुंमुखी विकास के साथ आसपास के क्षेत्र में सड़कों के विकास को लेकर गंभीर है। उन्होंने अयोध्या-वाराणसी के बीच ग्रीन फील्ड हाईवे के निर्माण की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार कर उसे शीघ्र स्वीकृत कराने के निर्देश एनएचएआइ के अधिकारियों को दिए।

बैठक में मौजूद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि 84 कोसी परिक्रमा मार्ग में पांच जिले आते हैं। इसमें बस्ती, गोंडा, अयोध्या, बाराबंकी और अंबेडकरनगर शामिल हैं। इस मार्ग के बनने से रायबरेली, अयोध्या व सुलतानपुर के लोग भी इससे सीधे जुड़ जाएंगे। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर भगवान राम से जुड़े पौराणिक स्थल पड़ते हैं। अयोध्या से 20 किलोमीटर दूर बस्ती जिले के मखौड़ा धाम से परिक्रमा यात्रा शुरू होती है। यहीं से इस नेशनल हाईवे (84 कोसी परिक्रमा मार्ग) की शुरुआत करने की रूपरेखा बन रही है। इस रास्ते में कई विश्राम स्थल बनाए जाने का भी प्रयास चल रहा है। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के दोनों ओर आम, जामुन, पीपल बरगद आदि के पौधे लगाए जाने की योजना बनाई जा रही है।

राम वन गमन मार्ग के दोनों ओर होंगी झांकियां : उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि राम वन गमन मार्ग के दोनों ओर वृहद पौधारोपण के साथ रामायणकालीन कथाओं को दर्शाने वाली झांकियों का निर्माण भी कराया जाएगा। इस पथ पर ऋषियों से संबंधित झांकियां भी प्रदर्शित की जाएंगी। मार्ग के अलाइनमेंट में आने वाले रेल उपरिगामी सेतु, पुल व शहरी आबादी क्षेत्रों में झांकियों के माध्यम से प्राचीनकाल की घटनाओं का सुंदर चित्रण किया जाएगा।

सात को अयोध्या में होगी बैठक : बैठक में मौजूद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि सात अगस्त को अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग व अन्य विकास कार्यों को लेकर बैठक होगी। इस बैठक में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग में पड़ने वाले जिलों बस्ती, बाराबंकी, गोंडा, अयोध्या और अंबेडकरनगर के सांसद और इस मार्ग में पडऩे वाले सभी विधानसभा क्षेत्रों के विधायक, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण के उच्च अधिकारी तथा संबंधित जिलों के जिलाधिकारी व अन्य अधिकारी शामिल होंगे। बैठक में अयोध्या के विकास व सड़कों के निर्माण के बारे में चर्चा होगी और जन सामान्य व जनप्रतिनिधियों के सुझाव लिए जाएंगे। बैठक की अध्यक्षता उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य करेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.