यूपी कांग्रेस मुख्यालय पर भूखे तड़प रहे राजस्थान के बेरोजगार, न्याय की आस में लखनऊ आए हैं दर्जनों युवा

दो रातें और दो दिन खुले आसमान के नीचे ठंड में गुजार चुके राजस्थान के युवाओं को पल-पल आस है कि कांग्रेस मुख्यालय के अंदर से कोई नेता आएगा। उनकी बात प्रियंका गांधी वाड्रा या राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कराएगा ताकि उनकी मांगें मान ली जाएं।

Umesh TiwariMon, 29 Nov 2021 08:14 PM (IST)
न्याय की आस में लखनऊ आए राजस्थान के बेरोजगार युवा यूपी कांग्रेस मुख्यालय पर सर्द रातों में भूखे बैठे हैं।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। एक बड़ा सा होर्डिंग है, जिस पर राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की मुस्कुराती हुई फोटो के साथ यूपी चुनाव के लिए कांग्रेस की तमाम घोषणाएं। दायें-बायें वह होर्डिंग भी, जिस पर प्रियंका की फोटो के साथ लिखा है- 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं...।' खुले आसमान में इन्हीं होर्डिंग के साये में ठंड से ठिठुरते, भूख से तड़पते बैठे हैं राजस्थान के बेरोजगार युवा। इन्हीं में आंसू बहाती युवतियां भी नजर आ रही हैं। इनकी आंखों में आंसू हैं, लेकिन उम्मीदें सूख रही हैं, क्योंकि मिलने प्रियंका से आई थीं और वह सैर के लिए खुद राजस्थान के रणथम्भौर पहुंच गई हैं और यहां मौजूद पार्टी नेताओं ने 'ब्लैकमेलर' बताकर मुंह मोड़ लिया है।

दो रातें और दो दिन खुले आसमान के नीचे ठंड में गुजार चुके राजस्थान के युवाओं को पल-पल आस है कि कांग्रेस मुख्यालय के अंदर से कोई नेता आएगा। उनकी बात प्रियंका गांधी वाड्रा या राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कराएगा, ताकि उनकी मांगें मान ली जाएं। मगर, ऐसा नहीं हुआ। सोमवार दोपहर लगभग कुछ नेता कार्यालय से निकले और दूर खड़े हो गए। थोड़ी देर बाद पुलिस पहुंची और प्रदर्शनकारियों से कहा कि पांच-दस मिनट में यहां से चले जाएं। मगर, राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने दो टूक कह दिया कि लाठियां चलें या गिरफ्तार कर लिया जाए, लेकिन वह मांग पूरी हुए बिना नहीं जाएंगे।

यहां मीडिया का भी जमावड़ा था, लिहाजा उन्हें कांग्रेस मुख्यालय के गेट के सामने से हटाकर सामने की ओर बैठने की अनुमति दे दी गई। लग्जरी गाड़ियां अंदर-बाहर होती रहीं, लेकिन किसी नेता ने उतर बात नहीं की। हां, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी का बयान ट्विटर पर बयान जरूर आ गया, जिसमें प्रदर्शनकारियों को ब्लैकमेलर बता दिया गया। इस पर उपेन ने तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस की कलई खोल दी।

महासंघ अध्यक्ष ने मीडिया के साथ वह फोटो साझा किए, जिसमें वह राजस्थान विधान सभा चुनाव के दौरान राजस्थान कांग्रेस कमेटी के मंच पर नजर आ रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के अलावा अशोक गहलोत के साथ कई फोटो हैं। यही नहीं, उनकी मांगों पर विचार संबंधी राजस्थान सरकार का सहमति पत्र भी है।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया कि ट्विटर पर उनके चार लाख 54 हजार फालोअर हैं। उनके चाहे जितने पुराने ट्वीट देखे जा सकते हैं। उनसे कोई मालूम कर सकता है कि उनके सहित सभी प्रदर्शनकारी भाजपा के दलाल हैं या पुराने कांग्रेस समर्थक। उन्होंने कहा कि यदि कोई भी कांग्रेस नेता उन्हें भाजपाई साबित कर दें तो सभी प्रदर्शनकारी तुरंत चले जाएंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.