Population Control Bill: जनसंख्या नियंत्रण कानून पर विवाद जारी, मौलाना तौकीर बोले- हिंदुओं के ज्यादा बच्चे, कानून उनके खिलाफ

UP Population Control Bill इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल (ईएमसी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने जनसंख्या कानून लागू करने को लेकर विवाद को हवा दे दी । रजा ने कहा कि हिंदुओं के अधिक बच्चे होते हैं इसी कारण योगी आदित्यनाथ सरकार का यह कानून तो हिंदुओं के खिलाफ है।

Dharmendra PandeyTue, 27 Jul 2021 11:55 AM (IST)
इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल (ईएमसी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान राजनीति में अपना दखल रखने वाले इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल (ईएमसी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने उत्तर प्रदेश में जनसंख्या कानून लागू करने को लेकर विवाद को हवा दे दी है। मौलाना ने जनसंख्या नियंत्रण कानून का स्वागत करने के साथ ही इसको हिंदुओं के खिलाफ बताया है। बरेली में 2010 में दंगों के आरोपित मौलाना तौकीर रजा ने कहा कि हिंदुओं के अधिक बच्चे होते हैं, इसी कारण योगी आदित्यनाथ सरकार का यह कानून तो हिंदुओं के खिलाफ है।

बरेली की इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बरेली दंगे के आरोपित मौलाना तौकीर रजा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का स्वागत करने के साथ ही इस कानून को लेकर उन्होंने अटपटी दलीलें भी दीं हैं। उन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून तो हिंदुओं के खिलाफ है, क्योंकि हिंदुओं के ज्यादा बच्चे होते हैं। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्हेंं सरकारी सुविधाओं से वंचित रखने के लिए कानून बनाया है। उन्होंने कहा कि यह भी सच है कि मुसलमानों के दो से ज्यादा बच्चे नहीं होते हैं। इसके बाद भी उत्तर प्रदेश में उनको सरकारी सुविधाओं का लाभ नहीं मिलता है। हिंदू बहुसंख्यक हैं, सरकारी योजनाओं का ज्यादा लाभ लेते हैं। हिंदू-मुस्लिम आबादी के औसत से दो से अधिक बच्चों वाले हिंदू परिवार ज्यादा होंगे। ऐसे में पाबंदी लगेगी तो नुकसान भी उन्हीं का होगा।

मौलाना ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार को काफी सोच-समझकर इस कानून को लागू करना चाहिए। उनको यह तो समझ ही लेना चाहिए कि इस कानून के लागू होने से भाजपा को ही काफी बड़ा नुकसान होगा। भाजपा तो विधानसभा चुनाव की काफी जोरदार ढंग से तैयारी कर रही है, अगर यह कानून लागू हो जाता है तो उनकी सीट काफी कम हो सकती है।

भाजपा व कांग्रेस पर हमला

मौलाना तौकीर रजा ने भाजपा और कांग्रेस पर निशाना भी साधा। उत्तर प्रदेश के विधानसभा किस पार्टी को समर्थन के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह उस पार्टी का साथ देंगे जो दंगा आयोग बनाएगा। मौलाना ने कहा कि 2014 से पहले दंगे होते थे। भाजपा व आरएसएस वाले गली, मोहल्ले, शहरों में बम फोड़ते थे, दंगे करवाते थे और आरोप मुसलमानों पर लगाते थे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने तो हम पर दंगे का आरोप लगाया लेकिन कांग्रेस ने तो हमें आतंकवादी बताया है।

दंगा आयोग बनाने वाले को समर्थन

मौलाना तौकीर रजा ने कहा कि आने वाले चुनाव में उनकी पार्टी उसको ही समर्थन देगी जो दंगा आयोग बनाने का वायदा करेगा। उन्होंने कहा दंगा आयोग इसलिए जरूरी है क्योंकि कल जब यह लोग हुकूमत में नहीं रहेंगे तो यही लोग दंगा करेंगे। दंगा आयोग इसलिए जरूरी है वरना पुलिस जिसे चाहती है दंगाई बना देती है। दंगा आयोग बने और पारदर्शिता से जांच हो और जो असल दंगाई है वो बेनकाब हो सकें। बरेली में 2010 में दंगों का आरोप मौलाना तौकीर रजा पर लगा था। उन्हेंं गिरफ्तार भी किया गया था. तब बरेली में 27 दिनों तक कफ्र्यू लगा था।

ओवैसी पर भी तंज कसा

मौलाना तौकीर रजा ने इसके साथ ही ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि ओवैसी तो मुसलमानों को बांटने में लगे हैं। वह सिर्फ मुसलमानों का वोट लेना चाहते हैं। इसके साथ ही उनकी भाषा भी बेहद खराब है। उनकी भाषा हैदराबाद तक तो ठीक लेकिन पूरे देश के लिए ठीक नहीं है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.