यूपी में सबसे पहले सुलतानपुर में शुरू हुआ विधायक निधि से आक्सीजन प्लांट, सीएचसी के दस बेड़ों पर होगी सीधी आपूर्ति

आला अधिकारियों की मौजूदगी शुभारंभ, चालू हुआ उत्पादन।

विधायक ने कहा कि कोरोना से डरना नहीं है लड़ना है और इस वैश्विक महामारी के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में पूरा संगठन और सरकार संक्रमण से लड़ने के लिए तैयार है। डीएम ने बताया कि यह विधायक निधि से लगने वाला प्रदेश का पहला आक्सीजन प्लांट है।

Anurag GuptaWed, 12 May 2021 05:09 PM (IST)

सुलतानपुर, जेएनएन। प्रदेश में सबसे पहले कादीपुर का आक्सीजन प्लांट से उत्पादन शुरू हो गया। बुधवार को आला अफसरों की मौजूदगी में स्थानीय विधायक ने इसका उद्घाटन किया। यह प्लांट विधायक निधि से स्थापित किया गया है। शुरुआत में सीएचसी के दस बेड पर सीधे आपूर्ति की जाएगी फिर सिलिंडर में भी आक्सीजन भरना चालू होगा। डीएम ने बताया कि यह विधायक निधि से लगने वाला प्रदेश का पहला आक्सीजन प्लांट है।

डीएम रवीश गुप्ता व सीडीओ अतुल वत्स की मौजूदगी में विधायक राजेश गौतम ने पूजन अर्चन कर वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच प्लांट का शुभारंभ किया। विधायक ने कहा कि आम जनता की जरूरतों को प्राथमिकता पर रखते हुए 45 लीटर प्रतिमिनट क्षमता वाले आक्सीजन प्लांट से मरीजों को काफी सहुलियत मिलेगी। हमने जिलाधिकारी सहित प्रभारी मंत्री से कादीपुर विधानसभा में जितने सीएचसी और पीएचसी हैं उन सभी पर कंसंट्रेटर लगाने की भी मांग किया है।

विधायक ने कहा कि कोरोना से डरना नहीं है लड़ना है और इस वैश्विक महामारी के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में पूरा संगठन और सरकार संक्रमण से लड़ने के लिए तैयार है। डीएम ने बताया कि यह विधायक निधि से लगने वाला प्रदेश का पहला आक्सीजन प्लांट है। कुल 150 कंसंट्रेटर खरीदने का ऑर्डर कर दिया है, जल्द ही कंसंट्रेटर की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी । उन्होंने कहा कि कादीपुर मुख्यालय केंद्र से दूर है इसलिए करौंदीकला और अखंडनगर सीएचसी पर विशेष ध्यान रहेगा। इस मौके पर सीएमओ डॉ.डीके त्रिपाठी, उप जिला अधिकारी महेंद्र सिंह, परियोजना निदेशक सहित दर्जनों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।

लगातार डटे रहे विधायक : प्लांट को मंजूरी मिलने के बाद से ही विधायक द्वारा प्रतिदिन इसकी निगरानी की जा रही थी। यही नहीं विधायक इंटरनेट मीडियापर प्रतिदिन की रिपोर्ट लोगों से साझा करते रहे। मंगलवार रात 11:30 बजे तक वे अस्पताल में ही डटे रहे। यही वजह है कि देर रात तक आगरा से आए तकनीकी विशेषज्ञों ने इसे उत्पादन के लिए जल्दी तैयार कर दिया। बुधवार को चार बेड पर सीधे आक्सीजन की आपूर्ति शुरू की गई है। गुरुवार को रेग्युलेटर आने के बाद सभी दस बेड पर सीधे आक्सीजन मिलने लगेगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.