कोरोना वायरस के ओमीक्रान वैरिएंट को लेकर उत्तर प्रदेश में भी हाई अलर्ट, आगरा में विशेष सतर्कता

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर आगरा में हाई अलर्ट है। यहां पर भले ही अभी विदेशी नागरिकों के आगमन पर रोक नहीं लगी है लेकिन दक्षिण अफ्रीका के साथ ही हांगकांग से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रखने के निर्देश हैं।

Dharmendra PandeySat, 27 Nov 2021 05:57 PM (IST)
कई देश डेल्टा वैरिएंट से भी ज्यादा खतरनाक बताए जाने वाले इस नए वैरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सतर्क हैं

लखनऊ, जेएनएन। दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन के सामने आने के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में बैठक की है। इस बैठक के बाद उत्तर प्रदेश सरकार भी हाई अलर्ट पर है। इसको लेकर सभी महानगरों में विदेश से आने वालों की पड़ताल का निर्देश भी दिया गया है। भारत समेत विश्व के कई देश भीषण तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट से भी ज्यादा खतरनाक बताए जाने वाले इस नए वैरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सतर्क हैं। उत्तर प्रदेश सरकार के अलर्ट जारी करने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने एयरपोर्ट पर सख्ती बढ़ा दी है। एयरपोर्ट पर अब जांच और स्क्रीनिंग का दायरा बढ़ाया जाएगा। विदेश से आने वाले यात्रियों की जांच और स्क्रीनिंग होगी। सभी यात्री 15 दिन स्वास्थ्य विभाग के संपर्क में रहेंगे।

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर आगरा में हाई अलर्ट है। ताजनगरी आगरा को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश भी जारी कर दिया गया है। यहां पर भले ही अभी विदेशी नागरिकों के आगमन पर रोक नहीं लगी है, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के साथ ही हांगकांग से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रखने के निर्देश हैं। इससे साथ ही यहां सभी होटल कारोबारियों को विदेशियों के आने पर सूचना देने के निर्देश दिए गए हैं।

लखनऊ में भी शासन के अधिकारी लगातार इसको लेकर जिलों से सम्पर्क में हैं। जिलों से कोविड की स्थिति के साथ वहां पर टीका की पहली व दूसरी डोज का लाभ लेने वालों की सूची मांगी गई है। पहले व मौजूदा हालात और उसके आगे की योजनाओं के मद्देनजर वरिष्ठ अधिकारियों के प्लान भी मांगा गया है।

दक्षिण अफ्रीका में पहली बार पाए गए कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन के सामने आने के बाद देश की सर्वाधिक जनसंख्या वाले राज्य में भी सरकार काफी सतर्क है। आगरा के साथ ही प्रयागराज, वाराणसी, लखनऊ व कानपुर में बड़ी संख्या में आने वाले विदेशियों पर नजर रखने के निर्देश हैं। शासन से जिलों में विदेशी नागरिकों के आगमन व प्रस्थान की निगरानी करने की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। शासन को केन्द्र सरकार की तरफ से मिलने वाले निर्देशों का भी इंतजार है। केन्द्र सरकार ने ब्रिटेन, चीन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील समेत कई देश को कोरोना के जोखिम वाले देशों की श्रेणी में शामिल किया है। इनके साथ हांगकांग और इजराइल को भी जोड़ा है जहां से यात्रियों को भारत आने पर अतिरिक्त उपायों का पालन करने की आवश्यकता होगी। यहां से इनके भारत आगमन पर अतिरिक्त उपायों का पालन करना होगा। केन्द्र सरकार की इस मामले में बांग्लादेश, बोत्सवाना, ब्राजील, मारीशस, सिंगापुर, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे व सिंगापुर पर भी नजर है।

डब्ल्यूएचओ ने सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के नए वैरिएंट बी.1.1.529 को ओमीक्रोन नाम दिया है और इसे वैरिएंट आफ कंसर्न की श्रेणी में रखा है। इस श्रेणी में अत्यधिक संक्रामक वाले वैरिएंट को रखा जाता है। डेल्टा वैरिएंट को भी इसी श्रेणी में रखा गया था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.